पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

सावन सोमवार:दूसरे सोमवार पर भजन संध्या: मेरा जीवन तेरे हवाले, प्रभु इसे पल पल तू ही संभाले...

उनाव25 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • नरगढ़ गांव स्थित खाती बाबा मंदिर पर आयोजित हुई भजन संध्या
Advertisement
Advertisement

उनाव के भांडेर रोड पर स्थित प्राचीन नरगढ़ गांव के खाती बाबा मंदिर पर श्रावण मास के दूसरे सोमवार को भजन संध्या का आयोजन किया गया। जिसमें दूरदराज से आए कलाकारों ने अपनी प्रस्तुतियों से कार्यक्रम में शमां बांध दिया। एक से बढ़कर एक हुई भजन की प्रस्तुतियों में देर शाम तक स्राेता संगीत की सुर सरिता में डुबकी लगाते रहे। इस अवसर पर बड़ी संख्या में में संगीत प्रेमीजन भजन सुनने के लिए उपस्थित रहे।  भजन संध्या का शुभारंभ मंदिर के महंत नरेशदास त्यागी द्वारा गायक कलाकारों को फूलमालाएं पहनाकर किया गया। भजन संध्या की शुरुआत रिछार गांव के युवा गायक कलाकार भगवान सिंह कुशवाहा के भजन मेरा जीवन है तेरे हवाले, प्रभु इसे पल पल तू ही संभाले के साथ हुई। तदुपरांत भदेवरा गांव से आए गायक कलाकार रघुराज सिंह यादव के भजन कृष्ण भक्ति के गीत तेरे मोटे मोटे नैन कजरारे, मैं जाऊं तो पर बलिहारी ने भी उपस्थित लोगों को झूमने पर विवश कर दिया। इसी गांव के से आए संगीत कलाकार निहाल सिंह यादव के राम भरत मिलन प्रसंग से जुड़े भक्ति गीत राम भक्त ले चला रे राम की निशानी को भी खूब सराहा गया। एक अन्य गायक कलाकर चंदन यादव के झूला गीत छा गई अजब बहार रे, झूले बांके बिहारी को भी खूब सराहा गया। स्थानीय कलाकार रमेश यादव के सावन ऋतु के गीत झूला तो पढ़ गयो, अमुबा की डार पे जी की प्रस्तुती ने उपस्थित लोगों को मुग्ध कर दिया। पेड पर भगवान सिंह कुशवाहा, ढोलक पर गोबिंद राम मस्ताना, हारमोनियम पर गोपाल यादव, झीका पर गुलाब पाल, मजींरा पर पप्पू यादव ने संगत की। इस मौके पर बड़ी संख्या में स्राेता गण उपस्थित रहे।

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- अगर कोई विवादित भूमि संबंधी परेशानी चल रही है, तो आज किसी की मध्यस्थता द्वारा हल मिलने की पूरी संभावना है। अपने व्यवहार को सकारात्मक व सहयोगात्मक बनाकर रखें। परिवार व समाज में आपकी मान प्रतिष...

और पढ़ें

Advertisement