• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Harda
  • Mokalwadi Jhirmata Has Not Built A Bridge Over The River Since Independence, People Cross On Foot

जल सत्याग्रह:आजादी से अब तक मोकलवाड़ी- झिरमटा में नदी पर नहीं बना पुल, पैदल पार करते हैं लोग

शोभापुर14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
नायब तहसीलदार को नदी के बीच ज्ञापन देते ग्रामीण। - Dainik Bhaskar
नायब तहसीलदार को नदी के बीच ज्ञापन देते ग्रामीण।

ग्राम मोकलवाड़ी- झिरमटा में आजादी के बाद से अब तक वहां की नदी में ग्रामवासियों को निकलने के लिए पुल नहीं है। चूंकि नदी बहुत गहरी है एवं बारिश के मौसम में इसका जल स्तर बढ़ जाता है। जिससे तेज बहाव के कारण ग्रामवासियों को अत्यधिक परेशानियों का सामना करना पड़ता है। पुल निर्माण को लेकर ग्रामवासी पूर्व में कई बार शासन प्रशासन को ज्ञापन आवेदन के माध्यम से सूचित कर चुके हैं। लेकिन हर बार उन्हें निराशा ही हाथ लगी है।

पिछले विधानसभा और लोकसभा चुनावों में प्रत्याशियों ने ग्रामवासियों से वोट पाने के चलते कई वादे किए और जीतने के बाद त्वरित रूप से पुल निर्माण का आश्वासन दिया था। किंतु चुनाव के बाद कोई भी नेता मोकलवाड़ी और झिरमटा के ग्राम नहीं आया। जिसके कारण संपूर्ण ग्राम वासियों ने पिछले दिनों एसडीएम को ज्ञापन दिया। इसके बाद रविवार को पूर्व विधानसभा प्रत्याशी और कांग्रेसी विधानसभा अध्यक्ष सतपाल पलिया सहित दोनों ग्रामों के रहवासियों ने जल सत्याग्रह किया।

नायब तहसीलदार आर के झरबड़े को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन भी दिया। ज्ञापन के माध्यम से बताया कि यदि जल्दी ही पुल का निर्माण कार्य शुरू नहीं होता है तो फिर से अनिश्चितकालीन अनशन किया जाएगा। गौरतलब है कि पुल नहीं होने से इन ग्राम वासियों को बहुत सी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इसमें सबसे ज्यादा परेशानी दोनों गांव के किसान, महिलाएं, विद्यार्थी, व्यापारी, मरीज को होती है। ग्रामवासियों ने बताया कि पूर्व में इस नदी के कारण लोगों की जान भी जा चुकी है। मरीज समय पर अस्पताल नहीं पहुंच पाते हैं। प्रसुताओं को भी बहुत दिक्कतें होती हैं।

छोटे बड़े, सब्जी विक्रेता बमुश्किल से सब्जी लेकर इस नदी से निकल पाते हैं। वर्तमान में मूंग खरीदी चल रही है। लेकिन किसान इस नदी से जैसे-तैसे केंद्रों तक उपज लेजा पा रहे हैं। ग्राम वासियों ने पुल नहीं बनने पर आगामी चुनावों में चुनाव बहिष्कार का एलान भी किया है।

खबरें और भी हैं...