• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Harda
  • Patients' Checkup Will Be Done From 9 Am To 2 Pm, Doctors Will Sit For 1 Hour In The Evening, Pathology Will Open From 8 In The Morning

बदलाव:सुबह 9 से दाेपहर 2 तक हाेगा मरीजाें का चेकअप, शाम काे भी 1 घंटे बैठेंगे डाॅक्टर, पैथालॅजी सुबह 8 से बजे खुलेगी

हरदा15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

सरकारी अस्पतालाें के समय में बदलाव किया गया है। सुबह 9 से दाेपहर 2 बजे तक ओपीडी में डाॅक्टर मरीजाें का चेकअप व इलाज करेंगे। शाम काे भी एक घंटे डाॅक्टर बैठेंगे। पैथालाॅजी में जांचें भी सुबह 8 से दाेपहर 3 बजे तक हाेगी। जिला अस्पताल सहित सभी सरकारी अस्पतलाें में नई व्यवस्था लागू हाे गई है। इससे लंच के बहाने डाॅक्टर अस्पताल से गायब नहीं हाे पाएंगे। लाेक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के अायुक्त डाॅ. सुदाम खाड़े ने आदेश जारी किए हैं। इसके तहत अब ओपीडी सुबह के अलावा शाम को भी 1 घंटे तक रहेगी।

अभी तक अस्पताल की ओपीडी का समय सुबह 9 बजे से शाम 4 बजे तक रखा गया था। इस दौरान डॉक्टरों के लंच का समय अलग से था। उन्हें दोपहर 1.30 बजे से 2.15 बजे तक लंच का ब्रेक मिलता था। इसके बाद कई डॉक्टर तो आते ही नहीं थे। कई ऐसे भी थे जो आते तो थे लेकिन थोड़ी देर बाद चले जाते थे। इसी के चलते समय का शेड्यूल बदला गया है।

हालांकि इमरजेंसी सुविधा 24 घंटे मिलेगी। नए शेड्यूल के अनुसार अब अस्पतालों में सुबह 9 से दोपहर 2 बजे तक डॉक्टर मिलेंगे। इसके बाद इन्हें 3 घंटे का ब्रेक दिया जाएगा। शाम 5 से 6 बजे तक इन्हें फिर ओपीडी में बैठना होगा। मेटरनिटी विंग में ड्यूटी करने वाले चिकित्सकों की सामान्य आपातकालीन सेवा के लिए ड्यूटी नहीं लगाई जाएगी। सीएमएचओ एचपी सिंह ने बताया कि समय काे लेकर नया शेड्यूल लागू कर दिया गया है। अस्पताल में समय पर डाॅक्टराें काे ओपीडी में बैठना हाेगा। पैथालाॅजी लैब भी नए समय पर खुल रही है। इससे मरीजाें काे सुविधा हाेगी।

दोपहर 1.45 बजे तक हो सकेगा पंजीयन
रोगियों का पंजीयन दोपहर 1.45 बजे तक किया जाएगा। इससे पूर्व किसी भी परिस्थिति में पंजीयन बंद नहीं किया जाएगा। सभी डॉक्टर अस्पताल में भर्ती मरीजों का सुबह के समय राउंड 9.30 बजे से पहले पूरा करेंगे। जिन डॉक्टरों के जिस दिन मरीज भर्ती नहीं होंगे, उस दिन राउंड नहीं करेंगे। ऐसे सभी डॉक्टर सुबह 9 बजे से अपने निर्धारित ओपीडी में मरीज देखेंगे।

2 दिन की छुट्टी है तो दूसरे दिन 2 घंटे की ओपीडी
सामान्य दिनों के साथ रविवार एवं अन्य अवकाश के दिनों में जिला अस्पताल, सिविल अस्पताल में आपातकालीन सेवा 24 घंटे जारी रहेगी। इस दिन सभी डॉक्टर (विशेषज्ञ व चिकित्सा अधिकारी) सुबह 9 से 11 बजे तक अपने भर्ती मरीजों को देखेंगे। लगातार दो दिन की छुट्टी होने की स्थिति में दूसरे अवकाश के दिन नियमित ओपीडी सुबह 9 से 11 बजे तक खुली रहेगी।

ये भी होंगे बदलाव

  • डॉक्टर आपातकालीन ड्यूटी के बाद चार्ज हैंडओवर करते समय वार्ड में भर्ती मरीजों का संक्षिप्त विवरण भी देंगे। 200 से 400 बिस्तरों की संख्या में डॉक्टरों की संख्या पहली और दूसरी शिफ्ट में 1-1 और तीसरी शिफ्ट में 2 रहेगी। 200 या इससे कम बिस्तरों की संख्या में डॉक्टरों की संख्या सभी शिफ्ट में 1-1 रहेगी।
  • मेटरनिटी विंग में भी डॉक्टरों की राउंड द वॉक डयूटी लगाई जाएगी। इसमें पीजीएमओ (स्त्री रोग) और महिला चिकित्सा अधिकारियों की डयूटी लगाने को कहा गया है। यदि चिकित्सा अधिकारियों की संख्या 3 से कम हो तो स्त्री रोग विशेषज्ञ जो कि कनिष्ठ हो उसकी सेवाएं ली जाएंगी। यदि स्त्री रोग विशेषज्ञ को मिलाकर संख्या 3 हो तो उनकी रात्रिकालीन ड्यूटी रोटेशन में लगेगी । कम संख्या होने पर उनकी कॉल डयूटी रोटेशन में लगाई जाए।
खबरें और भी हैं...