• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Harda
  • Voting Will Be Held For 8 Hours Today At 617 Centers Of The District For Panchayat Elections

आज जनता की बारी:पंचायत चुनाव के लिए जिले के 617 केंद्राें पर आज 8 घंटे हाेगा मतदान

हरदा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव का मतदान शनिवार को होगा। शुक्रवार काे हरदा के पाॅलीटेक्निक काॅलेज, टिमरनी व खिरकिया के उत्कृष्ट स्कूल से मतदान सामग्री वितरित लेकर दल रवाना हो गए। शनिवार काे जिले के 617 मतदान केंद्राें पर सुबह 7 से दाेपहर 3 बजे तक 8 घंटे मतदान हाेगा। 143 संवेदनशील व 20 अतिसंवेदनशील मतदान केंद्र हैं। 1000 सुरक्षाकर्मी तैनात हाेंगे।

इसमें 700 पुलिसकर्मी, 200 फारेस्ट और 100 हाेमगार्ड के जवान शामिल हैं। 51 सेक्टर माेबाइल मतदान केंद्राें का लगातार दाैरा करेगी। माेबाइल वाहन में एसआई, एएसआई की ड्यूटी रहेगी। रूटचार्ज के मुताबिक 10 मिनट में सेक्टर माेबाइल केंद्र पर पहुंचेगी। जिले में 315495 मतदाता मताधिकार का प्रयाेग करेंगे।

चार रंग के हाेंगे मतपत्र : कलेक्टर ऋषि गर्ग ने बताया कि पंचायत चुनाव के लिए मतपत्र 4 रंग के हाेंगे। पंच पद के लिए सफेद, सरपंच के लिए नीला, जनपद पंचायत सदस्य के लिए पीला और जिला पंचायत सदस्य के लिए गुलाबी रंग का मतपत्र होगा।

मतदानकर्मियाें काे काेविड से बचाव के लिए वैक्सीनेशन कराया गया है। उन्हाेंने बताया कि मतदान काे बढ़ाने के लिए पीले चावल देकर मतदाताओं काे आमंत्रित किया जा रहा है। उन्हाेंने अधिक से अधिक मतदाताओं से मतदान की अपील की है।

कोई आपका वोट डाल चुका है तो भी कर सकते हैं मतदान

सवाल- मतपत्र की पहचान करने में असमर्थ दिव्यांग किस तरह कर सकते हैं मतदान? जवाब- बिना सहायता मतदान नहीं कर सकने वाले और पहचानने में असमर्थ मतदाता काे पीठासीन अधिकारी मत डालने के लिए 18 साल या उससे अधिक उम्र के किसी व्यक्ति काे मतदान कक्ष में ले जाने की अनुमति दे सकता है। सवाल- मतदाता सूची से नाम कट गया है, ताे मतदाता कैसे मतदान कर सकता है? जवाब- मतदाता का सूची से नाम कट गया है ताे वह वाेट नहीं डाल सकता। मतदाता सूची तैयार करते समय दावे-आपत्ति बुलाए गए थे, उसी समय दावे-आपत्ति लगाई जानी थी। सवाल- बिना वाेटर अाईडी के मतदाता किस पहचान पत्र के साथ वाेट डाल सकते हैं? जवाब- वोटर आईडी के अलावा राशन कार्ड, भू-अधिकार व ऋण पुस्तिका, आधार कार्ड, किसान क्रेडिट कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, रोजगार गारंटी का फोटोयुक्त जॉब कार्ड, शस्त्र लाइसेंस, पासपोर्ट, आयकर पहचान पत्र, पेंशन दस्तावेज के साथ भी मतदान किया जा सकता है। इनमें से काेई पहचान पत्र नहीं हाेने पर पीठासीन अधिकारी स्थानीय कर्मचारियाें जैसे कोटवार, पटवारी, शिक्षक, ग्राम पटेल, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता या फिर किसी प्रतिष्ठित स्थानीय व्यक्ति से पहचान कराकर मतदान की अनुमति दे सकता है। सवाल- मतदाता का वाेट किसी और ने डाल दिया ताे कैसे हाेगा मतदान? जवाब- पीठासीन अधिकारी इसके लिए संबंधित मतदाता से पहचान के लिए सवाल करेगा। स्थानीय कोटवार, पटवारी, शिक्षक, ग्राम पटेल, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता से मतदाता की पहचान कराई जा सकती है। इसके बाद मतदान की अनुमति मिल सकती है। यह वाेट मतपेटी की बजाए लिफाफे में बंद हाेगा। सवाल- तय समय पर 3 बजे तक मतदान केंद्र में पहुंचा और केंद्र पर भीड़ हैं तो मैं अपना वोट डाल सकते हैं या नहीं? जवाब- निर्धारित समय तक केंद्राें पर पहुंचने वाले मतदताओ काे टाेकन पर्ची दी जा सकती है। अब 3 बजे के बाद भी मतदान किया जा सकता है। 3 बजे तक मतदान केंद्र में पहुंचने वाले मतदाता का वाेट डलेगा।

कृषि मंत्री के दबाव में अधिकारी : कांग्रेस

पंचायत चुनाव में मतदान के एक दिन पहले कांग्रेस ने जिले के अधिकारियाें पर कृषि मंत्री कमल पटेल के दबाव में काम करने का अाराेप लगाया। कांग्रेस जिलाध्यक्ष ओम पटेल और पूर्व विधायक डाॅ.आरके दाेगने ने चुनाव आयाेग काे एसपी मनीष कुमार अग्रवाल, जिला पंचायत सीईओ रामकुमार शर्मा, बिजली कंपनी के डीजीएम वतन खाड़े, हंडिया थाना प्रभारी सीएस सरयाम, टिमरनी थाना प्रभारी सुशील पटेल की शिकायत की है। कांग्रेस नेताओं ने कहा कि ग्राम पंचायत सन्यासा, रोलगांव, नयापुरा, गोंदागांव कलां, रातातलाई में अवैध रूप से शराब बट रही है। कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष बद्री पटेल के सांगवा स्थित निवास पर झूठी सूचना पर पुलिस बल पहुंचा, कुछ नहीं मिला।

डंडे से आतंक मचा रहे कांग्रेसी : भाजपा

भाजपा ने भी कांग्रेस पर पलटवार किया है। भाजपा जिलाध्यक्ष अमरसिंह मीणा ने कहा कांग्रेस नेता आतंक मचा रहे हैं। चुनाव प्रचार के दाैरान लट्ठ लेकर चल रहे हैं। कांग्रेस नेता अजय सिराेही, केदार सिराेही खुली जीप में प्रचार में लट्ठ के साथ देखे गए। इसके बावजूद कांग्रेस नेता उल्टे भाजपा पर आराेप लगा रहे हैं। वे कृषि मंत्री कमल पटेल की लाेकप्रियता से घबरा गए हैं। भाजपा जिलाध्यक्ष ने कहा कृषि मंत्री पटेल जिले में अलग-अलग स्थानाें पर कार्यक्रमाें में शामिल हाेते हैं। वे अपने निजी वाहन का उपयाेग कर रहे हैं।

पीठासीन अधिकारी की तबीयत बिगड़ी, भर्ती

सामग्री वितरण के दाैरान सुबह पीठासीन अधिकारी जगदीश प्रसाद धुर्वे की अचानक तबीयत बिगड़ गई। आनन-फानन में उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां उनका इलाज चल रहा है। उद्यानिकी विभाग में पदस्थ धुर्वे काे पीठासीन अधिकारी बनाया गया था। अब उनकी जगह दूसरे अधिकारी उनका काम देखेंगे।

खबरें और भी हैं...