• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Harda
  • While Administering The Oath, The Agriculture Minister Said I Myself Will Run The Council

शपथ ग्रहण समारोह:शपथ दिलाते हुए कृषि मंत्री बोले- मैं खुद करूंगा परिषद का संचालन

खिरकिया2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सभी नप पदाधिकारियाें काे शपथ दिलाते हुए कृषि मंत्री। - Dainik Bhaskar
सभी नप पदाधिकारियाें काे शपथ दिलाते हुए कृषि मंत्री।

नगर परिषद का शनिवार देर शाम शपथ ग्रहण समारोह हुआ। देवताओं व कन्याओं का पूजन कर कृषि मंत्री कमल पटेल ने कार्यक्रम की शुरुआत की। नगर परिषद के अध्यक्ष इंद्रजीत खनूजा के शपथ ग्रहण समारोह में पहुंचे कृषि मंत्री कमल पटेल ने कहा कि 16 अगस्त से नगरीय क्षेत्र में घर घर जाकर जाति प्रमाण पत्र बनाने, गरीबी रेखा में नाम जोड़ने, विधवा पेंशन, विकलांग, दिव्यांग कार्ड बनाने का काम शुरू हाेगा। इसके लिए साधन भेजेंगे, आयुष्मान कार्ड, प्रधानमंत्री आवास के लिए हितग्राहियों को नगर परिषद नहीं जाना पड़ेगा। आने वाले समय में घर-घर पहुंचकर यह काम किया जाएंगे।

शहर में प्रतिमाह जनता दरबार लगाया जाएगा। 31 करोड़ की लागत से सीएम राइज स्कूल, पोखरनी बायपास, बस स्टैंड, स्टेडियम बनाए जाएंगे। कार्यक्रम में सुनील निलोसे, लक्ष्मीकांत हेड़ा, राधामोहन तंवर, विजय खरबाड़िया, हेमचंद्र नागड़ा, रविंद्र दुआ, दिनेश अग्रवाल सहित बड़ी संख्या में नागरिकों एवं महिलाओं ने कृषि मंत्री व नप अध्यक्ष इंद्रजीत खनूजा का तथा नप सीएमओ राजेंद्र कुमार श्रीवास्तव ने सभी पार्षदों का स्वागत किया।

सर्वाेत्तम कार्यकर्ता परिवार से बनाया अध्यक्ष

नप का चुनाव क्या मायने रखता है, इस बात का अंदाजा मंत्री पटेल के उद्बोधन में साफ देखने को मिला। उन्हाेंने नप अध्यक्ष के पति व भाजपा नेता महेंद्र खनूजा को हरफनमौला खिलाड़ी बताया। कहा कि अपने सर्वोत्तम कार्यकर्ता के परिवार से अध्यक्ष बनाया गया है। अध्यक्ष खनूजा ने कहा कि शहर के विकास को बिना किसी भेदभाव के साथ किया जाएगा।

रेलवे ओवरब्रिज का शुरू हाेगा काम
कृषि मंत्री कमल पटेल ने कहा कि विधानसभा चुनाव से पहले रेलवे ओवर ब्रिज का काम शुरू हो यह उनकी प्राथमिकता में है। सरकारी कॉलेज से लेकर हर वे चीज उपलब्ध कराई जाएगी जिसकी शहर में आवश्यकता है। सांसद डीडी उइके, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य सुरेंद्र जैन, भाजपा जिलाध्यक्ष अमर सिंह मीणा, गंगा विशन मुनीम आदि माैजूद थे। उल्लेखनीय है कि नगर परिषद चुनाव के समय स्थानिय मुद्दे भी उठे थे। जिसमें अतिक्रमण, साफसफाई, सहित अन्य काम को लेकर जनता ने सुझाव दिया था कि इन्हें भी हल किया जाएं ।

खबरें और भी हैं...