ताला जड़ा:सीईओ ने जंबाड़ा के सचिव का 30 दिन का सिविल जेल वारंट किया जारी

आमला2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सचिव फरार, डंगारिया पंचायत भवन में ताला
  • डंगारिया पंचायत कार्यालय बंद है, तो इसकी जानकारी लेकर उचित कार्रवाई करेंगे

ग्राम पंचायत जंबाड़ा में पदस्थ रहे सचिव रमेश तायवाड़े द्वारा निकाली गई 10 लाख 20 हजार रुपए रिकवरी राशि जमा नहीं करने पर जिला पंचायत सीईओ ने 30 दिन का सिविल जेल वारंट जारी किया। रमेश तायवाड़े का कुछ दिनों पूर्व ही जंबाड़ा से डंगारिया पंचायत में तबादला हुआ है और जेल वारंट की सूचना लगते वह फरार हो गया। वहीं डंगारिया पंचायत भवन में ताले लगे हैं। डंगारिया के ग्रामीणाें राजेश, दिनेश, राजू, पूरन ने बताया सचिव कुछ दिनों पंचायत भवन खोला नहीं जा रहा। ग्रामीणों परेशान हाे रहे रहा हैं। पंचायत में रोजगार सहायक के हाेते हुए भी कार्यालय बंद है।

सरपंच नकुल पाल ने बताया सचिव का जेल वारंट निकलने से वह कार्यालय नहीं आ रहा। रोजगार सहायक को अन्य कार्य रहते हैं। बुधवार को कम्प्यूटर रिपेयरिंग के लिए गया है। डंगारिया पंचायत का कार्यालय बंद है, तो इसकी जानकारी लेंगे: जंबाड़ा में निर्माण कार्यों सहित बाजार वसूली व अन्य मामलों में आर्थिक अनियमितताओं के चलते सरपंच, सचिव को दोषी पाए जाने पर शासन ने सरपंच व सचिव पर 20 लाख 40 हजार रुपए की रिकवरी निकली थी। पूर्व सरपंच गणेश डोंगरे को सरपंच पद से कुछ महीनों पहले अलग कर दिया था। सचिव रमेश तायवाड़े को 10 लाख 20 हजार जमा करने जिला पंचायत और जनपद ने नोटिस जारी किए थे, लेकिन सचिव ने राशि जमा नहीं की। जिला पंचायत सीईओ अभिलाष मिश्रा ने बताया सचिव रमेश तायवाड़े का 30 दिवस का जेल वारंट का आदेश जारी किया है। डंगारिया पंचायत कार्यालय बंद है, तो इसकी जानकारी लेकर उचित कार्रवाई करेंगे।

खबरें और भी हैं...