पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

लॉकडाउन का एक महीना:जरूरतमंदों तक भोजन पहुंचाने पीछे नहीं हटे लोग, अब संकट टलने तक मदद के लिए कसी कमर

 आमलाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • नपा की रसोई से सुबह-शाम 567 लोगों के भोजन का हो रहा इंतजाम

वैश्विक महामारी कोरोना और लॉकडाउन के दौरान जरूरतमंद लोगों की मदद के लिए विभिन्न संगठन लगातार काम करते आ रहे हैं। संगठनों के इस सेवाभाव का न केवल जरूरतमंद लोगों को, बल्कि पशु-पक्षियों को भी लाभ मिल रहा है। महीना भर बीतने के बाद भी संगठनों और लोगों ने अपने इस काम को रोका नहीं, बल्कि लोगों का कहना है कि आगे भी जब तक इस तरह की सेवाओं की जरूरत पड़ेगी, वे लगातार अपनी सेवाएं देने के लिए तत्पर रहेंगे।  आरएसएस ने किया एक महीना पूरा : लॉकडाउन के बाद जरूरतमंद लोगों की मदद के लिए सामने आया राष्ट्रीय स्वयंसेवक संगठन अब भी लगातार क्षेत्र में लोगों की मदद में जुटा है। स्वयंसेवक मोहित ठाकुर, दुष्यंत ढोमने आदि के अनुसार संगठन रविवार को सेवा का एक माह पूरा कर चुका है। यह सेवा आगे भी जारी रहेगी। उन्हाेंने बताया कि इस अवधि में नगर और अंचल के 10 हजार से ज्यादा लोगों के भोजन का इंतजाम संगठन कर चुका है। जबकि ग्रामीण अंचल के वनवासी 4 हजार परिवारों के कच्चे अनाज का इंतजाम भी किया है। संगठन ने प्रमुख रूप से अंचल के ठानी, रोझड़ा, खटगड़, नीमझिरी, भांडावाड़ी, तोरनवाड़ा, खापा, बोड़ना, बोरगांव, उमरिया, तिरमहु आदि गावों में सेवाएं दी हैं। इस सेवा कार्य में रोमी बिलगये, गोल्डी भाटिया, शैलेंद्र राठौर, राजेश पंडोले, प्रकाश छतवानी, मनीष गुगनानी, राजा बोड़खे, नीरज झाड़े, अमित झाड़े, आशु सक्सेना ने महत्व पूर्ण भूमिका निभाई।  पशु-पक्षियों का भी रखा ध्यान: लॉकडाउन के बाद से शहरी क्षेत्र में आवारा मवेशियों के भी चारा-पानी की दिक्कत सामने आई। लेकिन संगठनों ने आम लोगों के साथ इनका भी ध्यान रखा। रेलवे कॉलोनी, हनुमान मंदिर समिति के उमेश तायवाड़े सहित टीम ने नगर के आवारा मवेशियों सहित पक्षियों के लिए जहां-तहां इंतजाम किए। वहीं गायत्री परिवार के नीलेश मालवीय, बोड़खी के विमल बेले, भूपेंद्र नागले आदि ने इस अवधि में हसलपुर स्थित पहाड़ी पर विभिन्न संगठनों के माध्यम से लगाए पौधों को पानी देने के लिए भरसक प्रयास किए। मालवीय के अनुसार पौधों की संख्या अधिक होने के कारण इनकी अनदेखी अब भी सामने आ रही है। इसलिए अब व्यक्तिगत रूप से लोगों से संपंर्क कर पानी की मदद मांगी जा रही है।

कोरोना इफेक्ट : आरएसएस ने गांव-गांव तक पहुंचाई मदद

567 लोगों के भोजन का किया इंतजाम 
नगर पालिका की रसोई से रोजाना 567 लोग लॉक डाउन के बाद से भोजन कर रहे हैं। यहां विभिन्न संगठनों और आम नागरिकों की मदद से जरूरतमंद लोगों के लिए रसोई चलाई जा रही है। रविवार को भी रेलवे बंधा साईं मंदिर समिति की तरफ से यहां पर भोजन का इंतजाम करवाया। जबकि आवश्यकता पड़ने पर नगर पालिका की तरफ से भी इन लोगों के लिए भोजन का इंतजाम किया जा रहा है। नपा सीएमओ एचआर खाड़े ने बताया कि नपा के रसोईघर के काउंटर पर रोजाना लोगों की ओर से मदद पहुंच रही है। 
लोगों को बांटे मास्क
सुषमा महिला जन कल्याण समिति और बाल विकास शिक्षण समिति की आराधना मालवीय क्षेत्र में लोगों को लगातार निशुल्क मास्क बांट रहे हैं। रविवार तक भी उनकी समिति इस कार्य में लादी, बिच्छूनखान आदि क्षेत्र में जुटी रही।

खबरें और भी हैं...