पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

विराेध:205 परिवाराें का नहीं हुआ विस्थापन, मेढ़ा डेम का निर्माण रुकवाने के लिए पहुंचे लोग

बैतूल2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जलसंसाधन विभाग विस्थापन करने तलाश रहा जमीन, एक परिवार को देनी है 2400 वर्ग फीट

हाल ही में मेढ़ा डेम का निर्माण शुरू हुआ है, लेकिन ग्रामीणों ने अब निर्माण रुकवाने और विशेष पैकेज की मांग को लेकर विरोध शुरू कर दिया है। दरअसल मेढ़ा, खापा और डोलिया मऊ गांव के 205 परिवार के 486 लोगों का विस्थापन किया जाना है। इसके लिए विभाग जमीन तलाश रहा है। इधर किसानों ने भी विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया है। दिसंबर 2020 में ताप्ती नदी में पानी का बहाव कम होते ही मेढ़ा डेम का निर्माण शुरू हुआ है। नींव बनाई जा रही है। इस डेम में 3400 करोड़ लीटर पानी स्टोर होगा। निर्माण अगस्त 2023 तक पूरा करना है, लेकिन इसी बीच किसानों ने विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिए हैं। गुरुवार को भी ग्रामीण विरोध जताने और काम रुकवाने की मांग लेकर पहुंच थे। हालांकि केवल नारेबाजी करके ये लोग वापस लौट गए। इधर जलसंसाधन विभाग इसे एक परिवार के लोगों का विरोध बता रहा है।

मेढ़ा, खापा और डोलिया मऊ गांव के 486 लोगों को बसाया जाना है दूसरी जगह

जमीन मिलने पर कराया जाएगा शिफ्ट

मेढ़ा, खापा और डोलिया मऊ गांव के प्रत्येक परिवार को 2400 स्क्वेयर फीट जमीन दी जानी है। इसके लिए जमीन के बड़े टुकड़ों की तलाश जल संसाधन विभाग कर रहा है। जमीन का इंतजाम होते ही इन लोगों को जमीन का आवंटन किया जाएगा और शिफ्ट करवाया जाएगा। इसके बाद ही काम आगे बढ़ेगा।

फायदा : 5800 हेक्टेयर जमीन हाेगी सिंचित
मेढ़ा बांध के बनने से 4600 किसानों की 5800 हेक्टेयर जमीन सिंचित होगी, इससे क्षेत्र में समृद्धि आएगी। खेतों तक पानी पहुंचाने के लिए 12 किमी प्रेशर लाइन नहर बनाई जाएगी।

एसडीओ बाेले - एक परिवार को है परेशानी
एसडीओ पीके गुप्ता ने बताया कि मेढ़ा बांध के निर्माण के लिए किसानों को मुआवजे और उनके विस्थापन की व्यवस्था बनाई जा रही है। केवल एक परिवार को परेशानी है।

कार्य में बाधा डाली ताे हम ग्रामीणों पर केस दर्ज कराएंगे

^प्रभावित क्षेत्र के अशोक संद्रेकर समेत 12 लोग विशेष पैकेज देने की मांग कर रहे हैं। विस्थापन की प्रक्रिया चल रही है। प्रक्रिया में थोड़ा समय लगता है। इस तरह विरोध प्रदर्शन करने से काम में देरी होगी। यदि शासकीय कार्य में बांध डाली गई और निर्माण को प्रभावित किया तो एफआईआर की जाएगी। एके डेहरिया, ईई, जलसंसाधन विभाग

इधर, गढ़ा डेम निर्माण के लिए उठाई मांग

गढ़ा डैम का निर्माण शुरू करने की मांग उठाते हुए गढ़ा क्षेत्र के किसान कलेक्टोरेट पहुंचे। यहां प्रशासनिक अधिकारियों ने उन्हें भूअर्जन की प्रक्रिया में समय लगने की बात कही और भूअर्जन के बाद काम शुरू करने की बात कही। किसान मनोज धोटेे, प्रयागराव वाघमारे, तुलसीराम पारधे, प्रकाश धोटे, रत्नेश देशमुख ने गढ़ा डैम का काम जल्द शुरू किया जाने की मांग उठाते हुए कलेक्टोरेट पहुंचकर मांग उठाई। अपर कलेक्टर जीपी सचान ने किसानों से कहा भूअर्जन की प्रक्रिया चल रही है, भूअर्जन की प्रक्रिया में थोड़ा समय लगता है। थोड़ा समय और इसमें लगेगा इसके बाद काम शुरू कर दिया जाएगा। ईई एके डेहरिया ने भी उन्हें बताया कि गढ़ा बांध के निर्माण के लिए टैंडर और वर्क आर्डर पहले ही हो चुके हैं। लेकिन भूअर्जन की प्रक्रिया चल रही है। इसी कारण थोड़ा समय लग रहा है। भूअर्जन के लिए जल्द ही प्रक्रिया पूरी होते ही काम शुरू कर दिया जाएगा।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- किसी विशिष्ट कार्य को पूरा करने में आपकी मेहनत आज कामयाब होगी। समय में सकारात्मक परिवर्तन आ रहा है। घर और समाज में भी आपके योगदान व काम की सराहना होगी। नेगेटिव- किसी नजदीकी संबंधी की वजह स...

    और पढ़ें