पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मोबाइल लैब चिचोली पहुंची:,29 सैंपल लिए, 3 में गड़बड़ी, होटलों में डीओएम- 24 टेस्टर से कढ़ाई के तेल की जांच की, दो जगह खराब मिला तेल, बाहर फिंकवाया गया

बैतूल16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

खाने-पीने के सामान की जांच करके मिलावटखोरी पकड़ने के लिए मोबाइल लैब सोमवार को हरदा से चिचोली पहुंची। लैब के केमिस्टों ने खाद्य सुरक्षा अधिकारी संदीप पाटिल समेत अन्य स्टाफ के साथ चिचोली में दुकानों पर खाद्य पदार्थों की जांच की। डीओएम- 24 टेस्टर से नाश्ता दुकानों पर कढ़ाई में रखा हुआ तेल भी चेक किया। सैंपल लेकर लैब में तुरंत मौके पर जांच की और कार्रवाई भी की। खाद्य सुरक्षा अधिकारी संदीप पाटिल ने बताया कि चिचोली में कुल 29 सैंपल लिए। 8 दुकानों से 29 सैंपल लिए। इस दौरान खाद्य तेल, मिठाई, चीनी, चाय-पत्ती, मैदान, आटा और नमकीन के सैंपल लेकर जांच की। नाश्ते की दुकानों पर समोसे- कचौड़ी तलने की कढ़ाई में डीओएम- 24 टेस्टर डालकर देखे।

दो जगहों पर टेस्टर कढ़ाई में डालने के बाद लाल रंग का लाइट जला यानी यह तेल खाने योग्य नहीं था और काफी पुराना बार-बार उपयोग किया जा रहा था। इस तेल को फिंकवाया। इसके साथ ही एक जगह पर मिठाई में मावे में फैट कम मिला। यहां पर भी इस मिठाई को हटवाया। सैंपल लेकर भोपाल की लैब को भी भेजने के लिए तैयारी की। हालांकि इस मोबाइल लैब में किसी ने भी 10 रुपए देकर अपनी ओर से सैंपल की जांच नहीं करवाई। ज्ञात हाे कि दैनिक भास्कर ने 10 अगस्त काे जांच के लिए 6 माह से नहीं आई मोबाइल लैब, घंटों उबलते तेल में पक रहे समोसे- कचौड़ी शीर्षक से खबर प्रकाशित करके मोबाइल वैन के बैतूल नहीं आने और खाद्य सामग्री की जांच नहीं होने का मामला उठाया था। इसके बाद मोबाइल लैब बैतूल आई और जांच की।

खबरें और भी हैं...