पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

टीके की फिक्सिंग के आरोप:350 डोज आए, टोकन 50 को ही देकर रोका वितरण

बैतूल16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बैतूल। कन्या शाला गंज में कर्मचारी से बहस करते हुए। - Dainik Bhaskar
बैतूल। कन्या शाला गंज में कर्मचारी से बहस करते हुए।
  • 5 माह में 18%, महाअभियान में 9%, पिछले 6 दिन में 0.12% आबादी को टीका

वैक्सीनेशन के लिए 21 जून से 1 जुलाई तक 11 दिन चले महाअभियान के बाद 5 दिनों तक पहला डोज नहीं लगे। मंगलवार को पहला डोज लगने पर शहर के 8 केंद्रों पर लोगों की भीड़ लग गई। सेंट्रल स्कूल में 350 डोज लगने थे। यहां कतारें सुबह से लग गई थी। इस दौरान पहले 50 लोगों को टोकन का वितरण किया। इसके बाद रोक दिया। इसके बाद लोगों ने टीके की टोकन में फिक्सिंग के आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा किया। हंगामा के दौरान दरवाजा उखड़ गया। इसके बाद केंद्र पर पुलिस को बुलाना पड़ा। वहीं कन्या शाला गंज में कुछ लोगों को टोकन देने के बाद बांटना बंद करने से नाराज लोगों ने जमकर हंगामा किया। लोगों का गुस्सा देखकर कर्मचारियों ने बाद में टोकन बांटे। जिले में 16 जनवरी से 20 जून तक 5 माह में कुल आबादी के 18% लोगों को, 21 जून से 1 जुलाई तक महाअभियान में 9%, 2 से 7 जुलाई तक छह दिन में केवल एक दिन में 0.12% वैक्सीनेशन हुअा। पांच माह में जितने लोगों ने वैक्सीन लगवाई, उसके आधे लोगों को 11 दिन में लग गई।

फर्स्ट डोज
16 जनवरी से 20 जून तक 2 लाख 21 हजार 727 लोगों ने वैक्सीन लगवाई, जो कुल आबादी का 18.14% है।
21 जून से 1 जुलाई तक महाअभियान के दौरान 1 लाख 9 हजार 491 को वैक्सीन लगी, जो कुल आबादी का 8.95% है।
2 से 7 जुलाई तक छह दिन में केवल आज 15615 लोगों को वैक्सीन लगी, जो कुल आबादी का 0.12% है।

सेकंड डोज
16 जनवरी से 20 जून तक 44 हजार 123 लोगों ने वैक्सीन का सेकंड डोज लगवाया, जो आबादी का 3.6% है।
21 जून से 1 जुलाई तक महाअभियान के दौरान 7547 ने सेकंड डोज लगवाई, जो आबादी का 0.61% है।
16 जनवरी से 1 जुलाई तक 51670 लोगों ने सेकंड डोज लगवाई, जो आबादी का 4.22% है।

कन्या स्कूल में भी विवाद
कन्या शाला गंज में कोविशील्ड का पहला और दूसरा डोज लगना था। अचानक भीड़ बढ़ गई तो टोकन वितरण बंद कर दिया। इससे अव्यवस्था हो गई। एक बुजुर्ग ने कहा यह सिस्टम गलत है। टोकन देना है तो पूरे लोगों को देना चाहिए।

केंद्र पर नजर नहीं आई सोशल डिस्टेंसिंग
स्वास्थ्य विभाग द्वारा बुधवार को शहर के आठ सेंटरों पर 2500 डोज वैक्सीन भिजवाए थे। सेंट्रल स्कूल में 350 डोज लगने थे। यहां कतारें सुबह से लग गई थी। इस दौरान पहले 50 लोगों को टोकन का वितरण किया। इसके बाद रोक दिया। तो लोगों ने हंगामा किया। इसके बाद महिला और पुरुषों ने टोकन देने को लेकर कर्मचारियों से विवाद किया। लोगों का कहना था कि वैक्सीनेशन केंद्र पर पहले से सूचना चस्पा करना चाहिए कि आज इतने डोज लगना है ताकि अन्य लोग केंद्र पर नहीं आए।

इसके बाद एक साथ सभी को टोकन बांटना चाहिए। इस दौरान अंदर घुसने के दौरान स्कूल का गेट तोड़ दिया। वहीं लोग घंटों लाइन में खड़े रहे। कतार में सोशल डिस्टेंसिंग नजर नहीं आई। लोग एक-दूसरे से सटकर खड़े थे। ऐसे में संक्रमण फैलने का खतरा है।

खबरें और भी हैं...