बैतूल में कोर्ट ने सुनाई सजा:झांसा देकर नाबालिग के साथ किया था दुष्कर्म, दस साल की सजा

बैतूलएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बैतूल कोर्ट - Dainik Bhaskar
बैतूल कोर्ट

साथ में काम करने वाली एक नाबालिग को शादी का झांसा देकर भगाकर ले जाने और फिर दुष्कर्म करने के मामले में बैतूल की विशेष अदालत ने आरोपी युवक को 10 साल के कठोर कारावास और जुर्माने की सजा सुनाई है। मामला 5 साल पुराना बैतूल कोतवाली इलाके का है।

बैतूल की विशेष न्यायालय बैतूल ने नाबालिग किशोरी के साथ दुष्कर्म करने वाले आरोपी बलराम उर्फ कन्हैया पिता अशोक प्रजापति (24) को धारा 376 ( 2 ) के अपराध का दोषी मानते हुए 10 वर्ष का कठोर कारावास और ढाई हजार के जुर्माने से दण्डित किया है। मामले में प्रकरण में जिला अभियोजन अधिकारी / विशेष लोक अभियोजक एस. पी. वर्मा और विशेष लोक अभियोजक शशीकांत नागले ने पैरवी की थी।

खबरें और भी हैं...