जॉइनिंग के लिए मंत्री के पैरों में महिला टीचर!:बैतूल में शिक्षा मंत्री इंदरसिंह परमार से रोते हुए कहा- वैरिफिकेशन के 3 साल बाद भी नहीं मिली जॉइनिंग

बैतूल2 महीने पहले
शिक्षिका मंत्री के पैरों में गिरकर विनती करने लगी।

बैतूल में पहुंचे शिक्षा मंत्री के सामने महिला शिक्षकों ने हंगामा कर दिया। नियुक्ति की मांग को लेकर एक शिक्षिका तो मंत्री इंदरसिंह परमार के पैरों में गिर पड़ी। इसके बाद रोते हुए जल्द जॉइनिंग कराने की बात कही। शिक्षिकाओं का कहना है कि वैरिफिकेशन के 3 साल बाद भी अब तक ज्वाइनिंग नहीं दी गई है।

शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार शनिवार को यहां आयोजित अन्न उत्सव में शामिल होने पहुंचे थे। इसी दौरान चयनित महिला शिक्षिकाएं इकट्‌ठी हो गईं। उनका कहना है कि 2018 में उनका वैरिफिकेशन हुआ था। इसके 3 साल बाद तक नियुक्ति नहीं दी गई है। आयोजन स्थल पर पहुंचे शिक्षा मंत्री के सामने चयनित शिक्षिकाएं आ गईं। उन्हें देखकर शिक्षामंत्री समस्याएं सुनने आए।

महिलाओं ने मंत्री से 15 अगस्त तक ज्वाइनिंग देने की मांग की। इस बीच चयनित शिक्षिका शारदा जावलकर हाथ जोड़कर रोते हुए मंत्री के पैरों में गिर पड़ी। इससे यहां हड़कंप मच गया। मौके पर मौजूद सुरक्षाकर्मियों और भाजपा जिलाध्यक्ष ने उन्हें उठाया। मंत्री ने महिला को समझाइश भी दी। मंत्री इसे गलत बात कहकर उन्हें समझाते रहे।

तीन साल में नियुक्ति का इंतजार
चयनित शिक्षिका शारदा और कंचन पवार ने बताया कि वे अपने वेरिफिकेशन के बाद पिछले तीन साल से नियुक्ति का इंतजार कर रहे हैं। उम्मीद थी कि 15 अगस्त तक नियुक्ति मिल जाएगी, लेकिन उन्हें सिर्फ आश्वासन मिला है। मंत्री परमार ने कहा कि चयनियत शिक्षकों का वैरिफिकेशन हो गया है। 3 साल में कई कारणों से मामला लंबित होता गया। जल्द ही भर्ती प्रक्रिया प्रारंभ हो जाएगी।

खबरें और भी हैं...