पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

तीन माह से बह रहा पानी:बह गए बैराज का ठेका कंपनी ने नहीं किया सुधार, फरवरी मेंे हो सकता है पेयजल संकट

बैतूल2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • अगस्त में पारसडोह डेम से छाेड़े पानी से ताप्ती बैराज के बगल में हो गया था कटाव

ताप्ती बैराज के सीमेंटेड स्ट्रक्चर के बगल में 30 फीट चौड़ा कटाव हुए लगभग तीन महीने बीत चुके हैं लेकिन कटाव को भरने ठेकेदार ने बैराज का नया ड्राइंग - डिजाइन नहीं बनाया है। इस कारण नपा बैराज के गेट बंद नहीं कर पा रही है। इधर ताप्ती नदी में एक महीने में पानी का फ्लो रुकने की आशंका है। लेटलतीफी की तो शहर में पेयजल सप्लाई के लिए सिर्फ 60 दिन का पानी ही बचेगा। शहर को जनवरी-फरवरी में ही जलसंकट झेलना पड़ सकता है। 7 मीटर ऊंचा बैराज, चार फीट की ऊंचाई पर हैं गेट लेकिन खुले हुए : ताप्ती बैराज की ऊंचाई 7 मीटर है। लेकिन 4 मीटर तक सीमेंटेड स्ट्रक्चर है। इसके ऊपर लोहे के गेट लगने हैं। 18 लोहे के गेट लगने के बाद ही पानी रुक सकेगा, लेकिन गेट बंद नहीं किए जा रहे। दरअसल बैराज के बगल में जो 30 फीट का कटाव है, यदि गेट बंद किए गए तो पानी साइड से बहकर निकलने लगेगा। ऐसे में गेट बंद करने का कोई मतलब नहीं रह जाएगा। इसीलिए पहले कटाव को भरना जरूरी है।

80 कराेड़ लीटर क्षमता का है बैराज
शहर में प्रतिदिन 1 कराेड़ लीटर पानी सप्लाई हाेता है। ताप्ती बैराज के गेट बंद हाेने पर पानी संग्रहण की क्षमता करीब 80 कराेड़ लीटर हाेगी। लेकिन यदि बैराज के कटाव काे नहीं बंद किया और नदी में पानी का बहाव रुका ताे बैराज में सिर्फ 60 कराेड़ लीटर पानी ही बचेगा। ऐसे में सिर्फ दाे माह की पानी वितरित हाे पाएगा। ताप्ती नदी में जिस जगह बैराज है, उस जगह एक महीने पहले पानी का फ्लो 15 हजार लीटर प्रति सेकंड था। बैराज के 18 गेट से 15 हजार लीटर प्रति सेकंड की दर से पानी निकल रहा था। अब पानी का फ्लो बेहद कम हो गया है। पांच हजार लीटर प्रति सेकंड का फ्लो ही रह गया है। यह फ्लो भी कुछ दिन तक ही रहेगा। ऐसे में गेट बंद करना जरूरी है।

ड्राइंग- डिजाइन बने, तब होगा काम शुरू
रायपुर की चंद्रा कंस्ट्रक्शन कंपनी को बैराज के कटाव काे राेकने का डिजाइन बनाना है। कंपनी ने 6 करोड़ का बैराज तो बना दिया, लेकिन इसके बगल में स्ट्रक्चर सही नहीं बनने के कारण अगस्त माह में पारसडोह डेम का पानी छोड़े जाने के कारण बगल की पूरी मिट्टी बह गई थी। 12 किसानों के खेताें में लगी फसल बह गई थी। अब नपा तीन बार रायपुर की इस कंपनी को नोटिस जारी करके काम शुरू करने की हिदायत दे चुकी है, लेकिन कंपनी के अधिकारियाें ने काम करना तो क्या ड्राइंग - डिजाइन बनाने तक की सुध नहीं ली है। हाल ही में प्रदेश स्तर की मॉनीटरिंग संस्था वाप्कोस ने भी रायपुर की चंद्रा निर्माण कंस्ट्रक्शन कंपनी को नोटिस जारी किया था इसके बावजूद ड्राइंग-डिजाइन बनाकर स्वीकृति के लिए नहीं भेजा है।

ताप्ती बैराज केे सभी 18 गेट खुले हुए हैं अब तक
7 मीटर ऊंचे ताप्ती बैराज के 18 गेट खुले हुए हैं। इन खुले हुए गेटों से लगातार पानी निकल रहा है। जब तक बैराज के बगल का कटाव नहीं भर जाता और ड्राइंग-डिजाइन बनाकर काम नहीं कर दिया जाता, तब तक ये गेट खुले ही रहेंगे और पानी लगातार बहता रहेगा। इसी कारण काम जल्द करवाना जरूरी है।
बैराज का काम करवाने के लिए प्रयास शुरू
^हमारी ओर से रायपुर की चंद्रा निर्माण कंपनी के अधिकारियों को लगातार ड्राइंग-डिजाइन जल्द बनाने संबंधी नोटिस जारी किए जा रहे हैं। मॉनीटरिंग एजेंसी वाप्कोस ने भी कंपनी को नोटिस जारी किया है। इसके बावजूद ड्राइंग-डिजाइन नहीं बनाया है। ड्राइंग-डिजाइन बनने के बाद ही इसे मंजूरी के लिए भेजा जा सकेगा। इसके बाद ही हम कटाव भरने और बैराज का काम करवाने के लिए प्रयास शुरू करेंगे।
- अक्षत बुंदेला, सीएमओ, नपा

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- जिस काम के लिए आप पिछले कुछ समय से प्रयासरत थे, उस कार्य के लिए कोई उचित संपर्क मिल जाएगा। बातचीत के माध्यम से आप कई मसलों का हल व समाधान खोज लेंगे। किसी जरूरतमंद मित्र की सहायता करने से आपको...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser