पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आत्महत्या:मॉर्निंग वॉक पर गए शिक्षक का कुएं में मिला शव, सुसाइड नोट बरामद

बैतूल19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कार्बन काॅपी में तैयार किया साेसाइड नाेट, एक घर में, दूसरा शव के साथ मिला

प्रभातपट्‌टन निवासी शिक्षक का बुधवार दोपहर में गांव में स्थित कुएं में शव मिला। शिक्षक राजेंद्र प्रसाद सातपुते नरखेड़ के प्राथमिक स्कूल में सहायक शिक्षक थे। मरने से पहले शिक्षक ने सुसाइड नोट भी लिखा था। जिसमें बीमारी से परेशान होने का उल्लेख किया है। प्रभातपट्‌टन के बजरंग मंदिर के पास रहने वाले शिक्षक राजेंद्र प्रसाद सातपुते (57) रोजाना की तरह घर से सुबह 5 बजे मॉर्निंग वॉक पर निकले थे। इसके बाद घर नहीं लौटे।

पुत्र सर्वेश पड़ोसियों के साथ खोजबीन करने निकला। तब बस स्टैंड के समीप कुएं के पास चप्पलें दिखाई दीं। कुएं में कागज तैर रहे थे। कुएं में गल डाला ताे शव निकला। पुलिस मौके पर पहुंची। शव को कुएं से निकालकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा। मर्ग कायम किया है।

कुएं के पानी में और कमरे में मिला सुसाइड नोट: राजेंद्र प्रसाद ने जान देने से पहले सुसाइड नोट लिखा था। एक सुसाइड नोट को घर के कमरे में मोबाइल के नीचे रखा था और सुसाइड नोट की कार्बन कापी अपने साथ रखी थी। सुसाइड नोट में उन्होंने अपनी पासपोर्ट साइज फोटो भी चस्पा की थी। सुसाइड नोट की कार्बन काॅपी कुएं के पानी में तैरते हुए मिली। राजेंद्र प्रसाद सातपुते ने थाना प्रभारी मुलताई को संबोधित सुसाइड नोट में बीमारी के कारण शरीर में अत्यधिक कष्ट होने से दुनिया से निकल रहा हूं। ईश्वर मेरे सपरिवार एवं संसार में सभी की रक्षा एवं अच्छा करे, जय भारत, जय हिन्द लिखा है। पुत्र सर्वेश ने बताया पिता को शुगर की बीमारी थी।

खबरें और भी हैं...