पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

औपचारिक चक्काजाम:चक्काजाम महज 30 लाेगाें ने शुरू किया, बाद में कुछ ही कांग्रेसी जुटे

बैतूल19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • लाेगाें काे फोरलेन से 3 किमी का फेर लगाकर जाना पड़ा

दिल्ली में दो माह से चल रहे किसान आंदोलन के समर्थन में किसान कांग्रेस ने शनिवार को बडोरा ओवरब्रिज पर तीन घंटे बैठकर चक्काजाम किया। पुलिस द्वारा रुट डायवर्ट करने से लोगों को तीन किमी का फेरा लगाकर परेशान होकर जाना पड़ा। शहर में आने वाले लोगों काे खासी परेशानी हुई। पुलिस ने ओवरब्रिज पर पाइंट लगाकर वाहनों को रोककर फोरलेन से जाने के लिए कहा। कई लोग पुलिस से मनुहार करते नजर आए। एक महिला यातायात पुलिसकर्मी से बोली, साहब हमें यहीं पास में जाना है, जाने दो ना। पुलिसकर्मी ने कहा बहनजी किसानों ने रास्ता रोका है, आप फोरलेन से जाइए। काफी देर गुहार लगाने के बाद महिला वापस लौट गई।

दोपहर 12 बजे रमेश गायकवाड़ के नेतृत्व में महज 30 किसानों ने बडोरा ओवरब्रिज पर दरी बिछाकर बैठकर चक्काजाम की शुरुआत की। दोपहर एक बजे के बाद कुछ कांग्रेसी नेता भी प्रदर्शन में शामिल हुए। किसान नेता रमेश गायकवाड़ ने कहा कृषि बिल के तीनों अध्यादेश से किसानों को भारी नुकसान होगा। उपज के सही दाम नहीं मिलेंगे।

पुलिस ने पाइंट बनाकर रुट किया डायवर्ट
पुलिस ने जगह-जगह पाइंट बनाकर रुट डायवर्ट किया। सदर ओवरब्रिज, अंडर ब्रिज, बडोरा ओवरब्रिज सहित अन्य जगहों पर पुलिसकर्मियों को तैनात किया। आठनेर और बैतूलबाजार से शहर की ओर आने चालकों को सीधे रास्ते की बजाए फोरलेन से तीन किमी का फेरा लगाकर आना पड़ा। बैतूल से बडोरा की ओर जाने वाले वाहन भी फोरलेन से निकले।

एंबुलेंस और शव वाहन को दिया रास्ता
सड़क पर बैठे किसानों ने शांतिपूर्वक चक्काजाम किया। प्रदर्शन के दौरान गुजरने वाले शव वाहन और एंबुलेंस को प्रदर्शनकारियों ने रास्ता दिया। किसानों का प्रदर्शन शुरू होने के आधा घंटे बाद जब शव लेकर शव वाहन बडोरा की तरफ जा रहा था, उसे किसानों ने उठकर रास्ता दिया। इसके बाद यहां से दो एंबुलेंस भी गुजरी, जिसे भी जाने दिया।

टीआई और किसान नेता के बीच हुई बहस
बडोरा ब्रिज पर सड़क पर बैठे किसानों ने आमला टीआई सुनील लाटा का वाहन रोक दिया था, उन्हें जाने नहीं दिया। वाहन से उतरकर टीआई नीचे आए और वाहन ले जाने का कहने लगे। इस बीच टीआई और किसान नेता रमेश गायकवाड़ के बीच बहस भी हुई। काफी देर तक बहस करने के बाद टीआई वापस लौट गए।

जाम के हालत नहीं बने, फोरलेन से आवाजाही की व्यवस्था की थी

^किसानों द्वारा शांतिपूर्वक धरना दिया। ओवरब्रिज से आवागमन बंद रहा, लेकिन कहीं जाम के हालात नहीं रहे। प्रदर्शन को देखते हुए हमने पहले ही ब्रिज, बडोरा, अंडरब्रिज पर पाइंट बना दिया था, जहां से आवागमन चालू रहा। फोरलेन से आवाजाही की व्यवस्था बनाई थी। - नीतेश पटेल, एसडीओपी, बैतूल

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज ग्रह गोचर और परिस्थितियां आपके लिए लाभ का मार्ग खोल रही हैं। सिर्फ अत्यधिक मेहनत और एकाग्रता की जरूरत है। आप अपनी योग्यता और काबिलियत के बल पर घर और समाज में संभावित स्थान प्राप्त करेंगे। ...

और पढ़ें