बोरवेल कर्मचारी की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत:बैतूल में के साथियों ने बताया- खाना खाया और फिर गिर पड़ा, अचानक उसकी मौत से सभी हैरान

बैतूल2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मृतक खानसामा मनिकनन्दन। - Dainik Bhaskar
मृतक खानसामा मनिकनन्दन।

बैतूल में कहते हैं मौत किसको कब, कहां, कैसे आ घेरे, कुछ कहा नहीं जा सकता। ऐसा ही कुछ तमिलनाडु के रहने वाले व्यक्ति के साथ हुआ। साथियों के साथ खाना खाने के तुरंत बाद उसे ऐसा कुछ हुआ कि वह बैठे-बैठे ही चल बसा। वाकया चिचोली थाना इलाके के बोरी गांव का है। यहां बोरवेल के खानसामा मनिकनन्दन उर्फ माणिक (45) की मौत हो गई। पुलिस ने मंगलवार दोपहर पीएम कर शव साथियों को सौंप दिया है।

बताया जा रहा है कि गांव के किसान श्रीराम यादव के खेत पर बोरिंग का काम चल रहा था। यहां देर रात माणिक ने सभी साथियों के लिए खाना बनाया। सभी ने साथ खाना खाया ही था कि वह मौत का शिकार हो गया।

टीआई अजय सोनी के मुताबिक मृतक इरॉटाई वीडी संधू ठेड़ापुर गंगावल्ली तमिलनाडु के रहने वाला 45 साल का मनिकनन्दन था। अस्पताल से मिली तहरीर के बाद उसका पीएम करवाकर शव साथियों को सौंप दिया है। जो उसे लेकर तमिलनाडु रवाना हो गए हैं।

ऐसे गई जान

यह कर्मचारी एकता बोरवेल पर काम करता था। मैनेजर युवराज यादव ने बताया कि रात सबने साथ खाना खाया था। उसने मैनेजर को आवाज लगाई और पेटी पर आकर बैठ गया। दो बार मुंह से आवाज निकाली और गिर पड़ा। उस समय बारिश हो रही थी। किसी तरह अस्पताल लाए, जहां डाॅक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया।

युवराज के मुताबिक इस दौरान उसने न तो सीने में दर्द जैसी कोई शिकायत की, न अन्य कोई समस्या बता सका। वह कुछ भी बोल नहीं सका। इस वजह से सभी हैरान हैं कि आखिर उसकी मौत कैसे हुई।

खबरें और भी हैं...