मुलताई में ताप्ती महोत्सव 12 जनवरी से:ताप्ती तालाब के किनारे नृत्य, संगीत, कवि सम्मेलन होगा खास

बैतूल15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
12 से 14 जनवरी तक होगा आयोजन। - Dainik Bhaskar
12 से 14 जनवरी तक होगा आयोजन।

ताप्ती महोत्सव का आयोजन मुलताई में 12 से 14 जनवरी के बीच होगा। संस्कृति विभाग ने बैतूल कलेक्टर को पत्र भेजकर आयोजन में सहयोग के साथ ही अतिथियों की जानकारी भेजने काे कहा है।

मुलताई में होता है आयोजन

सूर्यपुत्री कहलाने वाली ताप्ती तालाब पर हर साल संस्कृति विभाग महोत्सव का आयोजन करता है। इस बार भी यह आयोजन 28 से 30 दिसंबर को होना था, लेकिन इसकी तिथियां घोषित नहीं की गई थी। मुलताई विधायक सुखदेव पांसे ने इसके लिए विधानसभा में ध्यानाकर्षण भी लगाया था, जिसके बाद संस्कृति विभाग ने तारीखों का ऐलान किया है।

यह होगा आयोजन

  • जिला प्रशासन ने विभाग को 12 से 14 जनवरी की तिथियों में महोत्सव आयोजन के लिए सहमति दी थी।
  • 12 जनवरी को नृत्य नाटिका और सुगम संगीत के तहत आजादी का अमृत महोत्सव के तहत नृत्य नाटिका' हमारी संस्कृति हमारी पहचान ' सुगम संगीत पार्श्व गायिका पूर्णिमा श्रेष्ठ एवं ग्रुप।
  • 13 जनवरी को लोकनृत्य एवं लोकगायन होगा, जिसमें समप्रिया पूजा, रायपुर पण्डवानी गायन, डीएल दाहिया, रीवा बघेली लोकगायन, सुबी पूजा श्रीवास्तव, सागर- अखाड़ा लोकनृत्य, रूपसिंह, बालाघाट पंथी लोकनृत्य, गंगा बिशन खंडेलवाल, हरदा काठी लोकनृत्य (बैले नृत्य नाटिका (राम की शक्ति पूजा)
  • 14 जनवरी को भक्ति संगीत और अखिल भारतीय कवि सम्मेलन, जिसमें अरुण जैमिनी, आशीष अनल राव अजातशत्रु, नरेश निर्भीक, कविता किरण, बैठा सिंह शामिल होंगे। सूर्य प्रकाश श्रीवास्तव मुंबई का भजन गायन, लोकनृत्य, लोकगायन होगा।
खबरें और भी हैं...