यूरिया संकट / मांग 45 हजार मी. टन, 25 हजार बांटा, जुलाई में 10 हजार टन की जरूरत, आज 1150 आएगा

Demand 45 thousand m Ton, 25 thousand divided, 10 thousand tons needed in July, 1150 will come today
X
Demand 45 thousand m Ton, 25 thousand divided, 10 thousand tons needed in July, 1150 will come today

  • फसल काे पाेषण की दरकार -मानसून जल्द आने से किसानों को यूरिया की जरूरत, समितियों और दुकानों में हो गया खत्म
  • बाहर से भी जिले में आने लगा यूरिया

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:00 AM IST

बैतूल. इस बार जल्द आए मानसून से जिले में किसानाें ने खरीफ फसल की बाेवनी जल्द कर दी है। इसके चलते किसानों को अब यूरिया की आवश्यकता पड़ने लगी है। समितियों के साथ प्राइवेट दुकानों में भी यूरिया खत्म होने की कगार पर है। इस कारण किसान यूरिया के लिए परेशान हो रहे हैं। 
कृषि विभाग के अनुसार जिले में जुलाई माह में यूरिया की डिमांड 10 हजार मीट्रिक टन की है। लेकिन फिलहाल किसानों को केवल 1150 मीट्रिक टन यूरिया मिल पाएगा। जिले में बुधवार सुबह 1150 मीट्रिक टन यूरिया की रैक आएगी। यूरिया के साथ डीएपी भी 1750 मीट्रिक टन उपलब्ध होगा। जिले में खरीफ सीजन में कुल टारगेट 45 हजार 800 मीट्रिक टन है, जबकि अब तक 26 हजार मीट्रिक टन का का भंडारण कर उसमें से करीब 25 हजार मीट्रिक टन का वितरण समितियाें अाैर प्राइवेट दुकानाें से हाे चुका है। इस तरह अब कुल टारगेट में जिले में 19 हजार मीट्रिक टन यूरिया की दरकार है। इसमें सिर्फ जुलाई में ही 10 हजार टन यूरिया की जरूरत पड़ेगी। जानकारी के अनुसार जुलाई में ही अाैर यूरिया मंगाया जाएगा, लेकिन वह कब, कितना आएगा यह अभी तय नहीं है। 
जिले में इस साल एक लाख 80 हजार हेक्टेयर में सोयाबीन तथा 1 लाख 37 हजार हेक्टेयर में मक्का की बुवाई की गई है। इसके अलावा 1680 हेक्टेयर में रामतिल (सफेद तिल्ली) सहित अन्य फसलों की बुवाई की गई है। मानसून के पहले आने के कारण जिले के किसान मृग नक्षत्र में ही अधिकांश इलाकों में बोवनी कर चुके हैं। बोवनी करने के बाद किसानों को जल्द ही यूरिया की आवश्यकता भी पड़ने लगी है। अभी अधिकांश समितियों तथा प्राइवेट दुकानों में यूरिया खत्म हो चुका है। इस कारण किसानों को यूरिया के लिए परेशान होना पड़ रहा है। 
कृषि विभाग द्वारा जुलाई माह तक 10 हजार मीट्रिक टन की डिमांड भेजी है। समय-समय पर यूरिया उपलब्ध हो जाएगा, तो किसानों को परेशानी नहीं होगी, नहीं तो आने वाले समय में यूरिया के लिए हाहाकार भी हो सकता है। 

बोवनी के 10 से 15 दिन बाद पड़ती है जरूरत 
किसानों को बाेवनी के 10 से 15 दिन में यूरिया की जरूरत पड़ती है। इस बार 7 जून से ही जिले में किसानों ने बोवनी करना शुरू कर दिया था। यूरिया की जरूरत होने पर किसान समितियों तथा प्राइवेट दुकानों की ओर दौड़ने लगे हैं। वहीं गन्ना किसान भी गर्मी में पानी की कमी के कारण गन्ने में खाद नहीं डालता है लेकिन बारिश अच्छी होने से गन्ना के लिए भी जरूरत है।

इस बार जिले के बाहर से आने लगा यूरिया 
जिले में यूरिया की कमी के कारण दूसरे क्षेत्रों से किसान सहित अन्य लोग यूरिया लाने लगे हैं। आठनेर के मांडवी में दो दिन पहले किसानों ने 600 बोरी यूरिया सीहोर से मंगवाया। इस कारण जिले में यूरिया की कालाबाजारी की आशंका भी बढ़ रही है। पिछले साल भी कृषि विभाग ने आठनेर क्षेत्र सहित अन्य जगहों पर कार्रवाई की थी। इस बार भी विभाग को सतर्क रहना होगा।

आज आएगी यूरिया की एक रैक 
जिले में बुधवार को 1150 टन यूरिया की रैक आएगी। दक्षिण भारत से यूरिया की रैक आमला स्टेशन पर आ चुकी है। बुधवार सुबह तक यूरिया की रैक बैतूल में लग जाएगी। यूरिया के अलावा इस रैक में 1750 टन डीएपी भी है। जिला विपणन विभाग द्वारा डिमांड के अनुसार यूरिया समितियों तथा प्राइवेट दुकानों में पहुंचाया जाएगा। पांच दिनों बाद इटारसी में पोटाश की रैक लगने वाली है। जहां से सड़क मार्ग से 500 टन पोटाश बैतूल आएगा।

जिले में यूरिया की स्थिति
खरीफ सीजन में खाद की डिमांड - 45 हजार 800 मीट्रिक टन
अब तक आया यूरिया  - 26 हजार 18 मीट्रिक टन
वितरित किया - 25 हजार 964 मीट्रिक टन  
शेष भंडारित यूरिया 1054 मीट्रिक टन
इस वर्ष के टारगेट में शेष - 19, 782 मीट्रिक टन
जुलाई की डिमांड - 10 हजार मीट्रिक टन

आज रैक आएगी
जिले में इस बार खरीफ सीजन में 45 हजार मीट्रिक टन खाद की डिमांड है, जबकि 26 हजार का भंडारण हो चुका है। इसमें 25 हजार 964 मीट्रिक टन का वितरण हो चुका है। जुलाई के लिए 10 हजार मीट्रिक टन यूरिया की डिमांड भेजी है। बुधवार को रैक आने वाली है। 
केपी भगत, उपसंचालक, कृषि विभाग
डिमांड पर देंगे यूरिया
पाराद्वीप से यूरिया और डीएपी की रैक आमला आ चुकी है। बुधवार सुबह रैक बैतूल स्टेशन पर लग जाएगी। डिमांड के अनुसार समितियों और प्राइवेट दुकानों में भेजा जाएगा।
कल्याण सिंह ठाकुर, जिला विपणन अधिकारी, बैतूल

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना