पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

आफत की आहट:गर्मी में पेयजल संकट का कारण बनेगा मेंढा डैम का निर्माण, बैराज नहीं पहुंचेगा पानी

बैतूल4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • असर...नपा काे खरीदना पड़ेगा 92 लाख रु. का पानी, अभी है बजट की कमी
  • डैम बनने तक पारसडोह डैम से नहीं छोड़ा जाएगा शहर के हिस्से का पानी

इस साल गर्मी में पेयजल सप्लाई के लिए 200 कराेड़ लीटर पानी की कमी का सामना शहरवासियों काे करना पड़ सकता है। दरअसल इसके पीछे कारण है कि पारसडाेह डैम और ताप्ती बैराज के बीच मेंढ़ा बांध का निर्माण अगले महीने से शुरू हाेने वाला है, इसके लिए ताप्ती नदी का बहाव राेका जाएगा। ऐसे में पारसडाेह डैम से 52 किलोमीटर दूर ताप्ती बैराज तक पानी नहीं पहुंच सकेगा, 44 वे किलोमीटर पर ही पानी रुक जाएगा। ऐसे में नपा काे शहर में पानी सप्लाई के लिए 92 लाख रुपए से प्राइवेट टैंकराें से पानी भी खरीदना पड़ सकता है। नगरपालिका काे इस बजट का इंतजाम करने में शहर के अन्य विकास कार्य प्रभावित हाे सकते हैं। नपा की वित्तीय स्थिति पहले ही डगमगाई हुई है, ऐसे में यह खर्च नपा और शहर के डेवलपमेंट पर विपरीत असर डाल सकता है।

अगले महीने से शुरू हाे जाएगा बांध का काम

ताप्ती बैराज से 8 किलोमीटर पहले मेंढ़ा डैम का निर्माण नवंबर में शुरू हाेगा। गर्मियों में पारसडोह डैम से ताप्ती बैराज के लिए छोड़ा गया पानी रास्ते में ही डैम की दीवार और सीमेंट-कांक्रीट का स्ट्रक्चर के कारण रुक जाएगा। ऐसे में गर्मी में शहर की पेयजल सप्लाई प्रभावित हो सकती है। नपा काे 500 रुपए प्रति टैंकर की दर से खरीदना पड़ सकता है।

2017-18 में भी खरीदना पड़ा था पानी

पूर्व में 2017 और 2018 में भी नपा ने हर साल 92-92 लाख रुपए प्रति साल के हिसाब से प्राइवेट टैंकरों का पानी खरीदा था। 491 रुपए प्रति टैंकर के हिसाब से पानी का चार्ज प्राइवेट सप्लायर्स काे किया था।

44 वे किलोमीटर पर रुक जाएगा पानी

पारसडाेह डैम से पानी यदि छोड़ा भी जाए ताे 44 किमी दूर मेंढा में आकर रुक जाएगा। यहां यदि यह पानी नहीं रोका जाता है तो यहां बनने वाले कंस्ट्रक्शन को डूबा देगा। पारसडोह डैम में 200 कराेड़ लीटर पानी ताप्ती बैराज के लिए रिजर्व रहता है। हर साल गर्मी में डैम के गेट खाेलकर यह पानी ताप्ती बैराज के लिए छाेड़ा जाता है।

घोघरी डैम की नींव का काम हाे चुका है

पारसडोह डैम से 30 किलोमीटर दूर घोघरी डैम भी बन रहा है। इस डैम का काफी काम हो चुका है। इसीलिए इसके बगल से सुरक्षित तरीके से पानी निकाला जा सकता है। लेकिन आगे मेंढ़ा में पानी रुक जाएगा।

ढाई साल तक चलेगा निर्माण कार्य

मेंढ़ा डैम 2023 तक बन जाएगा, एग्रीमेंट हो चुका है। नवंबर से काम शुरू होगा जिसे फरवरी 2023 तक पूरा करना होगा। इस तरह अगले ढाई साल तक यह काम चलेगा। इसमें शुरू के एक साल तक नींव लेवल का काम चलेगा। ऐसे में ताप्ती नदी पर पानी रोकना जरूरी हो जाएगा।

डैम बनाने की लिखित सूचना हमें नहीं मिली है

जल संसाधन विभाग से लिखित में सूचना नहीं मिली है। बैराज तक पारसडाेह का पानी लाना मुश्किल हाे सकता है। निर्माण स्थल के बगल से पानी निकालने की व्यवस्था बनवाने का प्रयास करेंगे। यदि संभव नहीं हुआ ताे अन्य जगह से पानी का इंतजाम करना पड़ेगा।
अक्षत बुंदेला, सीएमओ, नपा

काम के चलते ताप्ती का बहाव राेका जाएगा

एक महीने में मेंढा डैम का काम शुरू किया जाएगा। निर्माण कार्य बिना रुकावट करने के लिए ताप्ती नदी पर पानी रोका जाएगा। एक महीने पानी का बहाव जारी रहेगा, इसके बाद पानी दूसरी ओर नहीं निकल पाएगा। फरवरी 2023 इस प्रोजेक्ट टाइम लिमिट है।
-एके डेहरिया, कार्यपालन यंत्री, बैतूल

निर्माण प्रभावित नहीं हो ऐसी व्यवस्था करेंगे

इस बांध से ही नपा को ताप्ती बैराज के लिए पानी लेना पड़ेगा। जहां तक पारसडोह का पानी बैराज के लिए छोड़ने की बात है ताे यह स्थिति को देखकर छोड़ा जाएगा। निर्माण कार्य प्रभावित नहीं हो ऐसी व्यवस्था बनाते हुए पानी छोड़ने की व्यवस्था की जाएगा।
-जीपी सिलावट, ईई,मुलताई डिविजन

विकल्प : सांपना बांध से लाना पड़ सकता है पानीविकल्प : सांपना बांध से लाना पड़ सकता है पानी

बैतूल से 15 किलोमीटर दूर सांपना डैम है। इस डैम से भी नपा को पानी लेना पड़ सकता है। नहर के जरिए पानी लाने की याेजना पूर्व में बनाई थी। लेकिन इस याेजना पर काम पूरा नहीं हुआ। 14 अरब लीटर क्षमता के इस बांध से पानी लाने के लिए नपा काे पहले इसमें पानी रिजर्व करना पड़ेगा।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज ग्रह स्थितियां बेहतरीन बनी हुई है। मानसिक शांति रहेगी। आप अपने आत्मविश्वास और मनोबल के सहारे किसी विशेष लक्ष्य को प्राप्त करने में समर्थ रहेंगे। किसी प्रभावशाली व्यक्ति से मुलाकात भी आपकी ...

और पढ़ें