• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Betul
  • Found Driving An Auto In Kolkata, Used To Pretend To Double The Amount In Chit Fund, Police Arrived As A Bengali Doctor

बैतूल में चिटफंड के नाम पर ठगी:चिटफंड कंपनी के ब्रांच मैनेजर को पकड़ने बंगाली डॉक्टर बनकर कोलकाता पहुंची पुलिस, वह ऑटो चलाते मिला

बैतूल6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस ने आरोपी को दबोचा। - Dainik Bhaskar
पुलिस ने आरोपी को दबोचा।

बैतूल में दाेगुना रुपए का झांसा देकर ठगी करने वाले चिटफंड कंपनी के शाखा प्रबंधक को कोलकाता से गिरफ्तार किया है। शाहपुर पुलिस जब बंगाली डॉक्टर बनकर आरोपी को पकड़ने पहुंची तो वह कोलकाता से 200 किमी दूर ऑटो चलाते हुए मिला। आरोप है कि इसने एक कंपनी के नाम पर लोगों को एक करोड़ से ज्यादा की चपत लगाई।

बैतूल के शाहपुर थाने में कोलकाता के पटासपुर निवासी शंकर भूनिया, आशीष भट्टाचार्य, मृत्युंजय शाह के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला 27 अक्टूबर 2021 को दर्ज किया गया था। पुलिस ने खुद को शाखा प्रबंधक बताने वाले शंकर भूनिया को कोलकाता के महेंद्रपुर जिले के पटासपुर से गिरफ्तार किया है।

यह है ठगी का मामला
शाहपुर थाना इलाके के बाचा गांव की 8 से 10 महिलाओं और एक ढाबा संचालक ने शाहपुर शिकायत की थी कि संध्या कृषि मल्टीपरपज को-ऑपरेटिव सोसायटी लिमिटेड 2-5 हजार रुपए तक की राशि हर महीने जमा करवा रही थी। कंपनी ने इस रकम को 3 साल में दोगुना करने को कहा था। साखा प्रबंधक शंकर भुनिया और एजेंट रामा निवासी पाढर ने इसके नाम पर लाखों रुपए की वसूली की।

दर्जनों गांव से वसूली की
मामले में पुलिस ने कंपनी के शाखा प्रबंधक शंकर भूनिया, एमडी आशीष भट्टाचार्य और सीएमडी मृत्युंजय शाह के खिलाफ 420 का मामला दर्ज किया। साथ ही 30 से 35 ग्रामीणों ने बैतूल की अदालत में निजी रूप से इस्तगासा भी पेश किए है।

ऐसे पकड़ाया आरोपी
कोलकाता पहुंचे एएसआई अजय भट्ट ने बताया कि आरोपी शंकर का पहले पुराना नंबर ट्रेस किया गया। साइबर की मदद से नई सिम का पता लगाया गया और फिर जमीन का ग्राहक बनकर उससे बात की गई। इसके लिए एक सिपाही को बंगाली डॉक्टर बनाया गया और उससे लगातार बात करते हुए आरोपी तक कोलकाता पहुंचा गया।

ट्रांजिट रिमांड पर बैतूल लाए
आरोपी शंकर को गिरफ्तार करने के बाद बैतूल पुलिस ने उसे पूर्वी मिदनापुर के एसीजीएम कोर्ट में पेश किया। वहां से उसे ट्रांजिट रिमांड पर बैतूल लाया गया। चार दिन की रिमांड पर लाए गए। यूपी में आरोपियों के खिलाफ ठगी के कई मामले दर्ज है, आरोपी को बैतूल कोर्ट में पेश किया गया है।

यूपी में भी की ठगी
उत्तरप्रदेश में भी आरोपियों ने करीब एक करोड़ रुपए की ठगी की है। आरोपियों ने यूपी समेत एमपी में कई स्थानों पर युवाओं को एजेंट बनाकर ग्रामीणों से रुपए एेंठे हैं। उन्होंने कुछ लोगों को रकम की मैच्योरिटी होने पर भुगतान भी किया। एसडीओपी महेंद्र सिंह मीणा ने बताया कि प्रकरगण में फिलहाल तीन अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी की जाना है। जिसके प्रयास किये जा रहे हैं।

खबरें और भी हैं...