परंपरा:यादव समाज की गोवर्धन पूजा, आदिवासी समाज का एक माह दीपावली उत्सव हुआ शुरू

बैतूलएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • गोबर का गोवर्धन बनाकर बच्चों को निरोगी रखने किया हवाले

जिले में दीपावली के दूसरे दिन गोवर्धन पूजा का पर्व मनाया गया। गोवर्धन पूजा के साथ जहां आदिवासी समाज का एक माह का दीपावली उत्सव शुरू हुआ। वहीं यादव समाज ने गोबर का गोवर्धन बनाकर विधि-विधान से पूजा की, वहीं अपने बच्चों को गोबर का गोवर्धन में लिटाकर निरोगी रखने की कामना की। शहर के यादव बाहुल्य सदर और टिकारी क्षेत्र में इलाके में शुक्रवार सुबह महिलाओं ने गोबर का विशाल गोवर्धन बनाया।

इसके बाद पारंपरिक रूप से महिला और पुरुषों ने गोवर्धन पूजा की। गोवर्धन परिक्रमा करके भोग लगाया गया। फिर उसी भोग का प्रसाद वितरण किया। इस मौके पर समाज के युवाओं द्वारा पटाखे फोड़कर त्योहार मनाया। टिकारी में देशबंधु वार्ड में सामूहिक रूप से यादव समाज के लोगों ने गोवर्धन पूजा की। पूजा करने के बाद अपने छोटे-छोटे बच्चों को गोवर्धन पर लिटाया गया। भगवान श्रीकृष्ण ने इंद्र देवता के प्रकोप से ग्वाल वंश के लोगों को बचाने के लिए अपनी अंगुली पर गोवर्धन पर्वत उठाकर इंद्र का अहंकार तोड़ा था। इसके बाद से ही समाज के लोग यह त्योहार मनाते हैं।

खबरें और भी हैं...