पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कचरा निपटान बना संकट:तीन साल से संभागीय कलस्टर फाइलों में; गोठाना के ट्रेंचिंग ग्राउंड पर कचरा डंप करने जगह नहीं, कीचड़, मक्खी बढ़ा रही परेशानी

बैतूल2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • होशंगाबाद, हरदा और बैतूल में कचरा डालने के लिए जमीन नहीं, जहां डाल रहे वहा लगा गया पहाड़

संभागीय मुख्यालय पर बनने वाले कचरा निपटान कलस्टर के लिए जमीन नहीं मिलने के कारण तीन साल बाद भी यह प्रोजेक्ट फाइलों में ही दौड़ लगा रहा है। इससे उलट हकीकत में बैतूल, हरदा और होशंगाबाद में शहर से निकलने वाले कचरे के निपटान के लिए जगह नहीं है, वर्तमान में तीनाें शहराें में जहां भी कचरा डाला जा रहा है वहां ढेर और गंदगी के कारण आसपास में रहने वाले परेशान हैं। कलस्टर बनाने 2017-18 में प्रक्रिया शुरू हुई। जिसके बाद यह कहा गया कि केंद्र सरकार से क्लस्टर बनाए जाने के लिए राशि भी स्वीकृत हुई है। इसके लिए बाबई फार्म हाउस की 20 एकड़ जमीन चिन्हित भी की। लेकिन प्रक्रिया 3 साल में भी पूरी नहीं हाे सकी। अब उक्त भूमि पर शासन ने दूसरी याेजना का प्रोजेक्ट तैयार करने की अनुमति दे दी है। जिसके बाद से जिला प्रशासन और नपा ट्रेचिंग ग्रांउड के लिए दूसरी भूमि तलाश रहे हैं। भास्कर ने गुरुवार को गोठाना ट्रेंचिंग ग्राउंड के हालात जानने का प्रयास किया तो यहां आसपास के लोग परेशान और चिंतित मिले। सभी काे इंतजार है कि यह कचरा ग्राउंड कब शिफ्ट होगा। मनोज जावलकर ने बताया कि पिछले कुछ समय से कौवे और कुत्ते बहुत ज्यादा संख्या में आ रहे हैं। नपा के कर्मचारी सेप्टिक टैंक का मलबा भी यहीं डालते हैं, इस कारण बदबू और ज्यादा आती है।

बैतूल के कढ़ाई में कचरा ग्राउंड के लिए 10 एकड़ जमीन आवंटन हुई थी
बारिश के दाैर में आबादी क्षेत्र गोठाना के ट्रेंचिंग ग्राउंड पर कचरे और कीचड़ के कारण मक्खियों की भरमार है। कुत्ते और कौवे यहां डाले जाने वाले मरे हुए मवेशियों का मांस खाने बड़ी संख्या में जमा हो रहे हैं। इधर ग्राउंड पर प्लास्टिक कचरे का निपटान नहीं हाे रहा है, यहां मशीनें बंद पड़ी हैं। इस कारण पूरे ग्राउंड पर कचरा फैला पड़ा है। आसपास के रहवासी कचरा और उठती बदबू से परेशान हैं। वहीं बैतूल के कढ़ाई में कचरा ग्राउंड के लिए 10 एकड़ जमीन आवंटन हाे जाने के बावजूद नगरपालिका यहां पर शहर का कचरा डंप करने की व्यवस्था नहीं बना रही है।

बेलिंग, मलिंग और फटका मशीनें ताले में बंद, नपा नहीं कर रही मॉनिटरिंग
नगरपालिका ने प्लास्टिक कचरा नष्ट करने के लिए चार साल पहले तीन मशीनें खरीदी थीं। पहले कोठी बाजार में ही कचरा नष्ट करने का सेंटर था, लेकिन यहां नष्टीकरण काम सही ढंग से नहीं होने के कारण इसे एक साल पहले ट्रेंचिंग ग्राउंड गोठाना में शिफ्ट किया। अब गोठाना में भी मशीनें बंद हैं। नष्टीकरण सेंटर पर भी ताले लगे रहते हैं। मशीनें धूल खा रही हैं। ग्राउंड पर ड्यूटी दे रहे अंकुश राठौर ने बताया कि मशीनें काफी लंबे समय से बंद हैं।

डीटीओ कार्यालय 12 किमी दूर उड़दन में शिफ्ट, फिर कचरा ग्राउंड क्यों नहीं
ट्रेंचिंग ग्राउंड के सामने रहने वाले प्रदीप जावलकर ने बताया कि मक्खी इतनी ज्यादा हो गई हैं कि जीना दूभर हो गया है। सभी कचरा ग्राउंड की ओर से ही आती हैं। शहर से परिवहन विभाग के कार्यालय को 12 किलोमीटर दूर उड़दन में शिफ्ट कर दिया गया है। ऐसे में कचरा ग्राउंड के लिए कढ़ाई में जमीन मिल गई है तो इसे शिफ्ट करवाना जरूरी है।

कचरे का ट्रीटमेंट और प्रोसेसिंग करनी इसलिए देर लग रही है
^गोठाना में कचरा पाइंट है, जहां शहर का पूरा कचरा डंप होता है। कढ़ाई में में कचरा पाइंट नहीं बनाया जाना है। वहां पर साइंटिफिक तरीके से कचरे का ट्रीटमेंट और प्रोसेसिंग करनी है। इससे खाद बनाने जैसे इंतजाम करके खाद बेचने की व्यवस्था बनाई जानी है। इसके लिए पूर्व में लगभग एक करोड़ के काम करवाने के टेंडर हो चुके हैं। काम तेजी से होगा।
- अक्षत बुंदेला, सीएमओ, नगरपालिका

नर्मदापुरम संभाग के दो जिलों के भी यही हाल

हाेशंगाबाद : हरदा में कचरा हटाने काे लेकर लाेग कर चुके हैं विरोध प्रदर्शन

हाेशंगाबाद| शहर के ईदगाह काॅलाेनी स्थित ट्रेचिंग ग्राउंड 2016-17 में ही पूरी तरह से भर चुका है। ग्राउंड में इसके बाद भी कचरा फेंका जा रहा है। अब यह कचरा सड़काें पर फैलने लगा है। इस कारण आसपास के रहवासी परेशान हैं। ये लाेग लंबे समय से कचरे का ढेर हटाने की मांग कर रहे हैं, लेकिन अब तक यह हट नहीं पाया है। बारिश में कचरा सड़ने के कारण इलाके में बदबू फैल रही है। मार्च में स्थानीय लाेगाें के विरोध के बाद नपा और प्रशासन ने दावा किया था की जल्द ही ईदगाह से कचरे का ढेर हटा दिया जाएगा। लेकिन जमीन नहीं मिलने के कारण मामला फिर से अटक गया।

हरदा : सड़क किनारे डाल रहे कचरा, नहीं मिली जमीन, बदबू से लाेग हो रहे परेशान

हरदा| कचरा निपटान नहीं हाेने की वजह से नगर पालिका काे आए दिन लाेगाें के विरोध का सामना करना पड़ रहा है। जिले में कचरा निपटान के लिए शासकीय जमीन भी नहीं मिल रही है। शहर से निकलने वाला कचरा नपा मुक्तिधाम के सामने डंप कर रही है। इससे उठने वाली बदबू सेआसपास के लाेग परेशान हैं। इसको लेकर एक दिन पहले लोगों ने नपा के वाहनों की हवा निकाल दी थी। नपा सीएमओजीएस यादव ने कहा कि होशंगाबाद में क्लस्टर बनना है। इसमें कचरे का निपटान हाेना है। याेजना शासन स्तर पर है। होशंगाबाद में क्लस्टर बनने के बाद कचरे के निपटान की बड़ी समस्या हल हाे पाएगी।

निश्चित ही क्लस्टर बनेगा और जल्द ही परेशानी समाप्त हाेगी
^क्लस्टर बनाए जाने के लिए जमीन चिन्हित किए जाने का काम जिला प्रशासन की ओर से किया जा रहा है। जनहित का मामला है, इसलिए इसे सर्वाधिक प्राथमिकता से पूरा किया जाना है। निश्चित ही क्लस्टर बनेगा और जल्द ही परेशानी समाप्त हाेगी। कलेक्टर स्वयं इसके लिए प्रयासरत हैं।
- रजनीश श्रीवास्तव, कमिश्नर नर्मदापुरम संभाग

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- घर के बड़े बुजुर्गों की देखभाल व उनका मान-सम्मान करना, आपके भाग्य में वृद्धि करेगा। राजनीतिक संपर्क आपके लिए शुभ अवसर प्रदान करेंगे। आज का दिन विशेष तौर पर महिलाओं के लिए बहुत ही शुभ है। उनकी ...

और पढ़ें