पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कमजोर रफ्तार:पांच माह में 7 प्रतिशत युवा आबादी और 44% बुजुर्गों को ही लग सका पहला डाेज

बैतूलएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बैतूल। केंद्र पर वैक्सीन लगवाती हुई युवती। - Dainik Bhaskar
बैतूल। केंद्र पर वैक्सीन लगवाती हुई युवती।
  • ग्रामीणों को जागरूक करने सामाजिक संगठन, भगत-भुमकाओं और जनप्रतिनिधियों का लिया जा रहा सहारा

जिले में 18 साल से ऊपर के 12 लाख 28 हजार 800 की आबादी का टीकाकरण होना है। 17 जून तक केवल 18% काे वैक्सीनेशन हो सका है। 18 से 44 साल के 7 लाख 91 हजार 679 लोगों को वैक्सीन लगना है, लेकिन अभी तक 61 हजार 891 युवाओं काे ही लग पाई, जो 7.81% है।

वहीं 1659 लाेगाें काे दूसरा डाेज यानी 0.20%। 45 से 59 अायु वर्ग में 2 लाख 63 हजार 545 आबादी में 77 हजार 067 काे टीके लगे यानी 29.24%, दूसरा डाेज 11 हजार 483 ने लगवाए, जाे 4.35% है। वहीं 60 प्लस वर्ग में 1 लाख 49 हजार 898 की में से 67445 काे पहला डाेज लगा, जाे 44.99% रहा। दूसरा डाेज 18205 ने लगवाए जाे12.14% रहा। यानी सबसे ज्यादा बुजुर्गाें काे वैक्सीन लगी। वैक्सीन की रफ्तार बढ़ाने के लिए 21 से 30 जून तक महाअभियान शुरू किया जा रहा है। इसमें राेज 20 हजार वैक्सीन लगाने का टारगेट है। गांवों में वैक्सीन लगवाने के लिए भगत-भुमकाओं के साथ सामाजिक संगठनों की मदद ली जा रही है।

सबसे अधिक 31% बैतूल में, भीमपुर ब्लॉक में सबसे कम 7 % वैक्सीनेशन

जिले में वैक्सीन की रफ्तार कम है। वैक्सीन और स्टाफ की कमी के चलते 18 साल के ऊपर के 12 लाख 28 हजार 800 लोगों में से 2 लाख 21 हजार 556 लोगों को पहला डाेज लगा है। वहीं 42 हजार 614 लोगों को सेकंड डोज लगे, जाे 3.46 प्रतिशत है। सबसे अधिक बैतूल ब्लॉक में 31 प्रतिशत तथा भीमपुर ब्लॉक में सबसे कम 7 प्रतिशत लोगों को ही वैक्सीन लग पाई है।

सात दिन में 1 लाख 40 हजार वैक्सीन लगाने का टारगेट

विश्व योग दिवस 21 जून से 30 जून तक टीकाकरण का महाअभियान शुरू हो रहा है। इसमें जिले के 232 केंद्रों में टीकाकरण किया जाएगा। जहां पर राेज 20 हजार लोगों को वैक्सीन लगाने का टारगेट रखा है। इन 9 दिनों में 22 और 29 जून को वैक्सीनेशन नहीं होगा। शेष सात दिनों में 1 लाख 40 हजार वैक्सीन लगाने का टारगेट है।

कौड़ी गांव के 40 ग्रामीण टीके लगवाने के लिए हुए राजी
भैंसदेही ब्लॉक का कौड़ी गांव में पहले ग्रामीणों ने अधिकारियों काे टीका लगवाने से मना करते हुए पंचनामा तक लिखकर दे दिया था। समझाइश के बाद अब 40 ग्रामीण वैक्सीन लगवाने के लिए तैयार हुए हैं। हालांकि इन्हें अभी तक टीके नहीं लगाए गए हैं। पिछले दिनों एसडीएम केसी परते सहित अधिकारियों ने गांवों में पहुंचकर ग्रामीणों को टीका लगाने की समझाइश दी थी। इसके बाद 1100 की आबादी में से 40 लोग तैयार हुए हैं।

21 जून से महाअभियान चलेगा

जिले में टीकाकरण 18 प्रतिशत हो चुका है। जिन गांवों में ग्रामीणों द्वारा अफवाह के चलते वैक्सीन नहीं लगवाई है, वहां पर भगत-भुमकाओं, सामाजिक संगठन तथा प्रशासनिक अधिकारियों की मदद से वैक्सीन लगाने के प्रेरित किया जा रहा है। सेवा भारती ने भी आधा दर्जन गांवों में ग्रामीणों को वैक्सीन लगाने में मदद की है। 21 जून से महाअभियान चलेगा। इस दौरान प्रतिदिन 20 हजार वैक्सीन लगाने का टागरेट रखा है। -डॉ. अरविंद भट्ट, जिला टीकाकरण अधिकारी बैतूल

जामू, डूलारिया, कामोद व धामन्या गांव के कुछ ग्रामीण हुए तैयार

भीमपुर ब्लॉक के 30 गांवों के ग्रामीण वैक्सीन नहीं लगवा रहे हैं। ग्रामीणों को जागरूक करने के लिए अधिकारी, सामाजिक संगठन, सेवा भारती तथा जनप्रतिनिधि ग्रामीणों के बीच पहुंच रहे हैं। एसडीएम केसी परते सहित अन्य अधिकारियों की समझाइश पर जामू, डूलारिया, कामोद व धामन्या गांव के कुछ ग्रामीण वैक्सीन लगवाने तैयार हुए हैं।

ग्राम पंचायत धामन्या तथा जामू के सचिव रमेश येवले ने बताया उच्च अधिकारियों की समझाइश पर पंचायत के कुछ ग्रामीण तैयार हुए हैं। इन्हें जल्द ही वैक्सीन लगाई जाएगी ताकि प्रेरित होकर दूसरे ग्रामीण भी वैक्सीन लगवा सकें। कामोद पंचायत के सचिव चंपालाल मर्सकोले ने बताया एसडीएम, सीईओ तथा अन्य अधिकारियों ने ग्रामीणों को वैक्सीन लगवाने की समझाइश दी है। ग्रामीण बोवनी के बाद वैक्सीन लगवाने को तैयार हुए हैं।

खबरें और भी हैं...