पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

25 किसानों को एसएमएस:मूंग बेचने पहले दिन एक भी किसान नहीं पहुंचा केंद्र,

बैतूलएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिले में 1965 किसानों ने कराया रजिस्ट्रेशन, 4394 हेक्टेयर है मूंग का रकबा

जिले में शुक्रवार को मूंग खरीदी की शुरू ताे हाे गई लेकिन एक भी किसान फसल लेकर केंद्र पर नहीं पहुंचा। खरीदी के लिए 25 किसानों को एसएमएस किए थे, लेकिन एक भी किसान उपज लेकर नहीं पहुंचा। अब सोमवार से खरीदी शुरू हो सकेगी। इसके पहले 20 जून तक रजिस्ट्रेशन की अंतिम तिथि है।

अब तक 1965 किसानों ने मूंग के लिए पंजीयन करवाया है। जिले में पहली बार हो रही मूंग की खरीदी हो रही है। किसानों ने 4 हजार 394 हेक्टेयर रकबे में बोवनी की है। किसानों को उपज के सही दाम देने के लिए मूंग खरीदी के लिए जिले में रजिस्ट्रेशन चल रहा है। शासन द्वारा रजिस्ट्रेशन की अंतिम तिथि 20 जून कर दी है। कृषि विभाग द्वारा 18 जून से मूंग खरीदी की जाना थी। पहले दिन 25 किसानों को एसएमएस भी किए थे, लेकिन समिति में मूंग बेचने के लिए एक भी किसान नहीं पहुंचा। कृषि विभाग के एसडीओ रामवीर सिंह राजपूत ने बताया किसानों से उपज लाने को लेकर चर्चा भी की, उनके द्वारा सोमवार को उपज लाने के लिए कहा है। इसलिए सोमवार से खरीदी शुरू हो सकेगी।

11 केंद्रों पर हो रहा किसानों का रजिस्ट्रेशन
जिले में 11 केंद्रों पर रजिस्ट्रेशन हो रहा है। सेवा सहकारी समिति रानीपुर, प्राथमिक सहकारी समिति चोपना, विपणन सहकारी समिति बैतूल, प्राथमिक सहकारी समिति बैतूल, जामठी, सांवलमेंढा, भीमपुर, चांदू, नरखेड़, सेवा सहकारी समिति परमंडल तथा आदिम जाति सेवा सहकारी समिति शाहपुर को पंजीयन केंद्र बनाया गया है। मूंग की खरीदी बैतूल वेयर हाउस परसोड़ा में सहकारी समिति जामठी द्वारा की जाएगी। मूंग का पंजीयन 8 जून से शुरू हो गया था।

खबरें और भी हैं...