बैतूल स्टेशन पर देर रात मची अफरा-तफरी:प्लेटफार्म नंबर एक पर लगी लिफ्ट में फंसा परिवार, 15 मिनट बाद लिफ्ट का गेट खोलकर निकाला बाहर

बैतूल19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
लिफ्ट खुलने के बाद दोबारा बंद नहीं हो पाई - Dainik Bhaskar
लिफ्ट खुलने के बाद दोबारा बंद नहीं हो पाई

बुधवार रात बैतूल रेलवे स्टेशन पर कुछ यात्री लिफ्ट में फंस गए। जिन्हें 15 मिनट की मशक्कत के बाद बाहर निकाला जा सका। आरपीएफ का कहना है कि गलत बटन दबाने के कारण यह हादसा हुआ है। रेलवे स्टेशन बैतूल के प्लेटफार्म फॉर्म नंबर 1 पर लगी लिफ्ट में एक व्यक्ति अपने परिवार सहित फंस गया। रात करीब 11 बजे हुई इस घटना में व्यक्ति ने लिफ्ट में फंसने के बाद चिल्लाना शुरू किया। चिल्लाने की आवाज सुन कुछ लोग लिफ्ट के पास इकट्ठे हुए और 15 मिनट की मशक्कत के बाद परिवार को लिफ्ट से बाहर निकाल लिया।

स्टेशन मास्टर अनिल पवार के मुताबिक जो व्यक्ति लिफ्ट में फंसे थे। उन्हें लिफ्ट का इस्तेमाल नहीं आता था, इस वजह से वे गेट नहीं खोल पाए और लिफ्ट के अंदर ही फंसे रह गए। उनका चिल्लाना सुन हमारी टीम वहां पहुंची और 5 मिनट में ही लिफ्ट खोलकर उन्हें बाहर निकाल लिया। आरपीएफ इंचार्ज बैतूल ने भी इसे गलत बटनों को दबाने के कारण हुआ हादसा बताया है।

यात्री कौन थे इसकी जानकारी स्टेशन प्रशासन के पास भी नहीं है। आसपास मौजूद लोगों के अनुसार उन्हें लिफ्ट से प्लेटफार्म 2 पर जाना था।स्टेशन पर 6 महीने पहले ही लिफ्ट लगाई गई है। और लिफ्ट फिलहाल कंपनी की वारंटी में है। रात में हादसे के बाद लिफ्ट का गेट तो खोल लिया गया। लेकिन वह दोबारा बंद नहीं हो पाई। लिफ्ट इंचार्ज नासिर खान के मुताबिक लिफ्ट वारंटी में है और इसका मेंटेनेंस करवाएगा जाएगा।

खबरें और भी हैं...