पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बैतूल में झमाझम बारिश के बाद डैम के गेट खुले:सतपुड़ा बांध के सातों गेट 1-1 फीट तक खुले, पारसडोह और चेंदोरा डैम से भी गेट खोलकर मेंटेन किया गया जलस्तर

बैतूल14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सतपुड़ा बांध के गेट खोल दिए गए हैं। - Dainik Bhaskar
सतपुड़ा बांध के गेट खोल दिए गए हैं।

बैतूल में लगातार रुक-रुक कर हो रही बारिश के बाद नदियों का जलस्तर बढ़ गया है। पानी की लगातार आवक से बुधवार को सारनी स्थित सतपुड़ा बांध के सातों गेट 1-1 फीट तक खोलना पड़े। गेट खुलने से तवा नदी का जल स्तर बढ़ गया है। इस सीजन पहली बार डैम के 7 गेट से पानी बहाया जा रहा है। वहीं, पारसडोह और चेंदोरा डैम के गेट भी रात में खोले गए थे। सुबह 5 बजे गेट बंद कर दिए।

सतपुडा थर्मल पावर स्टेशन स्थित बांध प्रबंधन के मुताबिक सतपुड़ा बांध में इस समय फुल वाटर लेवल 1433 एफआरएल लेवल पर है। इलाके में अब तक 914 एमएम बारिश दर्ज की गई है। जबकि बीते 24 घंटे में यहां 14 एमएम बारिश हुई है। तवा नदी में बढ़ते जल स्तर को देखते हुए बांध प्रबंधन ने देर रात बांध के सात गेट पांच 5 फीट खोल दिए थे। यह गेट सुबह 5:30 बजे तक पांच 5 फीट खुले रखे गए थे। जिसे सुबह 8 बजे घटाकर 1 फीट पर कर दिया गया। अब तक बांध से 8549 एमसीएफटी पानी छोड़ा गया है।

चंदोरा में भी बढ़ा जलस्तर

मुलताई के पट्टन इलाके में हुई 42 मिमी बारिश के बाद ताप्ती नदी पर स्थित चंदोरा बांध के चार गेट मंगलवार शाम 6 बजे खोले गए थे। जिन्हें रात 2 बजे बंद कर दिया गया। इधर, इसी नदी पर बने पारसडोह बांध के भी 2 गेट 33 सेमी देर रात खोले गए। पानी की बढ़ती आवक के बाद इन्हें बढ़ाकर 3 गेट कर दिया गया। जिन्हें भी 90 सेमी खोला गया था। बांध प्रभारी के मुताबिक बांध में बढ़ते जलस्तर के बाद पहले दो फिर तीन गेट खोले गए थे। जिन्हें बाद में घटाकर 60 और 40 सेमी किया गया। सुबह 5 बजे सभी गेट पुनः बंद कर दिए गए। इससे 377 क्यूबिक मीटर प्रति सेकेंड पानी छोड़ा गया है। जो बाद में घटाकर 86 क्यूबिक कर दिया गया था।

बांध पर मचा हड़कंप

मुलताई के पास ताप्ती नदी पर बने चंदोरा बांध पर देर शाम उस समय हड़कंड मच गया, जब गांव ताइखेड़ा में किसी ने अफवाह उड़ा दी कि बांध के गेट नहीं खुल रहे हैं। जिसके बाद यहां दर्जनों ग्रामीण इकट्ठा हो गए और वे बांध के गेट खोलने की मांग करने लगे। बांध के कैचमेंट में हो रही लगातार बारिश से बांध का वाटर लेवल 685.71 पर पहुंच गया था। जिससे भी ग्रामीण घबरा गए। हालांकि बांध का फुल लेवल 685.95 एफआरएल है। वहा मौजूद अधिकारियों ने ग्रामीणों को समझाइश दी और फिर देर शाम साढ़े 6 बजे इसके चार गेट खोले गए, जो रात 2 बजे तक खुले रहे।

खबरें और भी हैं...