बैतूल में वृद्धा की हत्या!:कातिल ने कुल्हाड़ी से वृद्धा के चेहरे और पैरों पर किया वार, जेवर भी गायब

बैतूल2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस ने शव से कुछ दूरी पर झाड़ियों से कुल्हाड़ी बरामद की। - Dainik Bhaskar
पुलिस ने शव से कुछ दूरी पर झाड़ियों से कुल्हाड़ी बरामद की।

बैतूल के सारणी थाना इलाके के घोड़ाडोंगरी में एक वृद्धा की रक्तरंजित लाश उसी के घर के पास मिली है। वृद्धा के शरीर पर पहने हुए जेवरात के गायब होने से इसे लूट से जोड़कर देखा जा रहा है। मौके से एक कुल्हाड़ी भी बरामद की गई है।

घोड़ाडोंगरी के बाजार मोहल्ला में रहने वाली 65 साल की ओझेबाई पति कमल वरकड़े घर पर अकेली रहती थी। वृद्धावस्था पेंशन पर गुजारा करने वाली इस वृद्धा के बाकी परिजन गांव के ही दूसरे इलाके में बने बड़े मकान में रहते हैं। बताया जा रहा है कि रविवार रात उसने दीवाली भी मनाई थी। जिसके लिए बड़े घर से उसके रिश्तेदार के बच्चे उसके घर भी आए थे। वे त्योहार मनाकर रात में ही वापस लौट गए थे।

महिला का शव घर के पास ही कुछ दूरी पर खुले में मिला।
महिला का शव घर के पास ही कुछ दूरी पर खुले में मिला।

कुल्हाड़ी से किया हमला
पुलिस ने मौके से एक कुल्हाड़ी बरामद की है, जिससे आशंका है कि इसी कुल्हाड़ी से वृद्धा के चेहरे, पैरों पर वार कर कातिल में उसकी हत्या की होगी। मृतक की परिजन मालती के मुताबिक वृद्धा के पैरों में पहनी हुई चांदी की कड़ी और गले में पहना हुआ भारी छल्ला भी गायब है। टीआई आदित्य सेन ने बताया कि फिलहाल घटना के संबंध में कोई जानकारी नहीं मिल सकी है। मौके से कुल्हाड़ी बरामद की है।

एक दिन पहले खिलाई खिचड़ी
आदिवासी समाज पूरे एक महीने तक अलग-अलग इलाको में दिवाली मनाता है। वृद्धा ने भी बीती रात रिश्तेदारों के बच्चों को घर पर बुलवाकर कई पकवान बनवाए थे। बताया जा रहा है कि उसने रात को ही बैलों का पूजन कर उन्हें खिचड़ी खिला दी थी। जबकि यह रस्म आज गोठान पूजन के दिन की जाती है।

खबरें और भी हैं...