पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कलेक्टर को ज्ञापन:रैली निकालकर कलेक्ट्रेट पहुंचे पेंशनरों ने सरकार से मांगा हक

बैतूल19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

एक जुलाई 2019 से लंबित महंगाई राहत स्वीकृत करने, पेंशनरों को मृत्यु उपरांत उपादान सहित अन्य मांगों को लेकर बुधवार को जिला पेंशनर एसोसिएशन ने मुख्यमंत्री के नाम कलेक्टर को ज्ञापन दिया।

कर्मचारी भवन में एकत्रित होने के बाद पेंशनरों ने जिलाध्यक्ष रामचरण साहू के नेतृत्व में रैली निकाली। पेंशनरों द्वारा 1 जुलाई 2019 से लंबित महंगाई राहत स्वीकृत करने, शासकीय कर्मचारियों की तरह पेंशनर्स को भी मृत्यु उपरान्त उपादान (एक्सग्रेसिया) रुपये 50 हजार प्रदान किया जाए। सातवें वेतनमान 1 जनवरी 2016 से 31. मार्च 2018 तक 27 माह का एवं छठवें वेतनमान का 32 माह के एरियर्स का भुगतान किया जाए।

मप्र, छत्तीसगढ़ पुनर्गठन अधिनियम 2000 की धारा 49 को अविलंब विलोपित करने, नई पेंशन योजना बन्द कर पुरानी पेंशन योजना पुनः लागू करने की मांग की है। पेंशनरों ने बताया मार्च 2020 से अभी तक कोरोना महामारी के दौरान हजारों पेंशनर्स साथियों की कोरोना से मृत्यु हुई है। हजारों पेंशनर्स अभी भी महामारी से संघर्ष कर रहे हैं। उपचार के दौरान प्रत्येक पेंशनर्स का 5-10 लाख बीमारी में व्यय हुआ है।

पेंशनर्स इस समय अत्यधिक संकट में है। ऐसी विकट स्थिति में मप्र शासन का प्रदेश के राज्य पेंशनरों के आर्थिक स्वत्वों, देय महंगाई राहत एवं एरियर्स भुगतान के आदेश किए जाने की महती आवश्यकता है।

खबरें और भी हैं...