पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

राहत:264 गांव के 53600 किसानों के खातों में जमा हुई सहायता राशि की दूसरी किस्त

बैतूलएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • खराब फसल के एवज में शासन ने किसानों के खातों में दो किस्त में डाली है सहायता राशि

अतिवृष्टि से किसानों की सोयाबीन की फसल खराब हो गई थी। किसानों द्वारा लगातार खराब फसल के एवज में सहायता राशि देने की मांग की जा रही थी। इसके बाद राजस्व विभाग ने अतिवृष्टि से खराब हुई फसल का सर्वे किया था। सर्वे में सोयाबीन की फसल को 25 से 33 प्रतिशत तक का नुकसान होना पाया था। इसके बाद राजस्व विभाग ने किसानों को सहायता राशि देने के लिए डिमांड भेजी थी। शासन की ओर से सहायता राशि दो किस्तों में प्राप्त हुई थी। किसानों के खातों में सहायता राशि की प्रथम किस्त दिसंबर महीने से जमा होना शुरू हो गया था। अब दूसरी किस्त भी किसानों के खातों में जमा हो गई है। मुलताई और प्रभातपट्टन ब्लॉक के अतिवृष्टि से सभी 264 गांवों के किसानों में लगी सोयाबीन की फसल को नुकसान हुआ था। नुकसान का आंकलन करने के लिए एसडीएम हरसिमरनप्रीत कौर, तहसीलदार सुधीर जैन, नायब तहसीलदार सृष्टि शाह सहित अन्य अधिकारी खेतों में पहुंचे थे। सर्वे और फसल कटाई प्रयोग कराया गया था। जिसमें लगभग 84 हजार हेक्टेयर में सोयाबीन की फसल खराब होने की बात सामने आई थी। सहायता राशि प्राप्त होने के बाद से तहसीलदार सुधीर जैन ने 53 हजार 600 किसानों के खातों में प्रथम किस्त भेजने की कार्रवाई शुरू कर दी थी। प्रथम किस्त खाते में जमा होने के बाद दूसरी किस्त भी अब जमा हो गई है।

कुल सहायता राशि 32 करोड़ 36 लाख रुपए जमा हुई
मुलताई ब्लॉक के 143 गांव और प्रभातपट्टन ब्लॉक के 121 गांवों के 53 हजार 600 किसानों के खातों में दो किस्तों में सहायता राशि जमा हुई। प्रथम किस्त में 16 करोड़ 18 लाख और दूसरी किस्त में भी 16 करोड़ 18 लाख रुपए जमा हुए हैं। इस प्रकार 264 गांवों के किसानों के खातों में दोनों किस्त की 32 करोड़ 36 लाख रुपए जमा हो है। मुलताई ब्लॉक में 47 हजार हेक्टेयर और प्रभातपट्टन ब्लॉक में 37 हजार हेक्टेयर में सोयाबीन की फसल लगी थी।

किसानों ने खराब फसल के बदले मांगी थी बीमा राशि
कामथ, चौथिया, चिखलीखुर्द सहित अन्य गांवों के किसानों ने अतिवृष्टि से खराब हुई सोयाबीन की फसल के बदले बीमा राशि भी देने की मांग की। किसान रामदास साहू ने बताया अतिवृष्टि से पिछले साल सोयाबीन की फसल खराब हो गई थी। जिसका प्रशासन ने सर्वे कर सहायता राशि दी है। किसानों ने फसल का बीमा भी कराया था। प्रशासन ने जब किसानों की फसल को नुकसान होना पाया तो बीमा कंपनी काे भी इस आधार पर किसानों को फसल बीमा की राशि देना चाहिए।

जिन किसानों के खाताें में गड़बड़ी है दरुस्त करा रहे हैं
तहसीलदार सुधीर जैन ने बताया एसडीएम हरसिमरनप्रीत कौर के मार्गदर्शन में किसानों के खातों में सोयाबीन की खराब हुई फसल की सहायता राशि की प्रथम और दूसरी किस्त जमा कर दी है। जिन किसानों के खातों में गड़बड़ी है उन्हें दुरूस्त कर राशि जमा की जा रही है। दूसरी किस्त की 16 करोड़ 18 लाख रुपए किसानों के खातों में भेज दी है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- दिन सामान्य ही व्यतीत होगा। कोई भी काम करने से पहले उसके बारे में गहराई से जानकारी अवश्य लें। मुश्किल समय में किसी प्रभावशाली व्यक्ति की सलाह तथा सहयोग भी मिलेगा। समाज सेवी संस्थाओं के प्रति ...

    और पढ़ें