पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बदला माैसम:गेहूं की ग्रोथ रुकेगी, चना में इल्ली का खतरा

बैतूल5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कोहरे के कारण दिन का तापमान 3 डिग्री गिरा, रात का तापमान एक डिग्री बढ़ा

मंगलवार अलसुबह कोहरे की आगोश में रही। सुबह घना कोहरा छाया रहा। करीब 11.30 बजे के बाद कोहरा छंटने के बाद सूरज नजर आया। सुबह आमला टू लेन पर सुबह 10 बजे विजिबिलिटी 10 से 50 मीटर के बीच रही, पूरा जिला सुबह 11 बजे तक धुंध से ढंका रहा। इस कारण सामने आ रहे वाहन नजर नहीं आ रहे थे। दोपहर तक वाहन चालकों काे लाइट जलाकर चलना पड़ा। मंगलवार रात का तापमान एक डिग्री बढ़कर 15.2 पर पहुंच गया। सोमवार को अधिकतम तापमान 28.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया, वहीं न्यूनतम तापमान 16 डिग्री रहा। मंगलवार काे न्यूनतम तापमान 15.2 डिग्री तथा अधिकतम 25.2 डिग्री रहा। रात के तापमान में एक डिग्री की बढ़ाेतरी हुई, जबकि दिन का तापमान में 3 डिग्री की गिरावट दर्ज की गई।

आमला टू-लेन पर सुबह 10 बजे विजिबिलिटी 50 मीटर

गेहूं का दाना छोटा होगा
{जिले में इस साल गेहूं की फसल की बोवनी2 लाख 53 हजार हेक्टेयर पर बाेवनी हुई है।
{इस फसल की ग्रोथ कोहरे के कारण प्रभावित हो सकती है।
{गेहूं की अच्छी पैदावार के लिए कड़ाके की ठंड जरूरी है, लेकिन इस साल ठंड पड़ी नहीं।
{ऊपर से कोहरे की मार अलग पड़ रही है। ऐसे में बाली जल्दी आएगी और दाना छोटा हो जाएगा।

चना फसल में लगेगी इल्ली
{जिले में 50 हजार हेक्टेयर पर चना की बोवनी हुई है।
{तापमान के बढ़ने और कोहरे के कारण चने में इल्ली लग सकती है।
{इल्ली का प्रकोप बड़ा तो पूरी फसल चौपट हो जाएगी।
{चने के दानों का साइज भी बिगड़ जाएगा, फूले चने की जगह पिचके हुए चने की फसल का खतरा रहेगा।

सब्जी फसल होगी खराब {जिले में 20 हजार हेक्टेयर पर सब्जी की फसल लगाई जाती है। {जमीन में दबे आलू, अदरक जैसी फसलों को तो नुकसान नहीं होगा। {पत्तागोभी, फूलगोभी, टमाटर और मिर्च जैसी फसलें काली पड़ने के साथ खराब हाे सकती हैं। इनकी पैदावार कमजोर हाेगी। { बैतूल की पत्तागोभी कोलकाता समेत दूसरे राज्यों में जाती है। ऐसे में निर्यात प्रभावित हाे सकता है।

रात के तापमान बढ़ने से फसलों पर संकट, सब्जियां भी पड़ सकती हैं काली

कृषि वैज्ञानिक डॉ. विजय वर्मा के अनुसार जनवरी में पहली बार इस तरह का तापमान और काेहरा है। पिछले कुछ समय से तापमान अचानक बढ़ा है। कड़ाके की ठंड की जगह जनवरी में तापमान बढ़ रहा है। इसस गेहूं की फसल बढ़ने की रफ्तार प्रभावित हो सकती है, वहीं चना में इल्ली लगने का खतरा भी मंडरा रहा है। सब्जियों की फसल प्रभावित होने का भी डर बना हुआ है। जानकारों की मानें तो जमीन के भीतर होने वाली फसलें जैसे आलू, अदरक को तो कोई नुकसान नहीं होगा, लेकिन पत्तागोभी, फूलगोभी, टमाटर और मिर्च जैसी फसलें काली पड़कर खराब हो सकती हैं। सब्जियों की पैदावार भी प्रभावित हाे सकती है।

इल्ली रोकने टी आकार की खूंटियां गाड़ें

कृषि विभाग के एसडीओ रामवीर सिंह राजपूत ने बताया कि चना की फसल को इल्ली से बचाने के लिए किसान टी- आकृति की खूंटियां खेतों में लगा सकते हैं। इससे पक्षी इन पर आकर बैठेंगे और इल्ली के प्रकोप पर प्रारंभिक स्तर पर ही नियंत्रण पाया जा सकता है।

^ठंड का सीधा संबंध गेहूं की पैदावार से होता है। यही कारण है कि उत्तर भारत की ओर आप जाएंगे तो सभी राज्यों में गेहूं की जबरदस्त पैदावार मिलेगी। दक्षिण भारत की ओर जाने पर गेहूं कम होता जाएगा। इस साल ठंड कम हो गई है, तापमान बढ़ रहा है। यदि लंबे समय ऐसा रहा तो गेहूं की फसल पर आसर आ सकता है। - रामवीर सिंह राजपूत, एसडीओ, कृषि विभाग

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कई प्रकार की गतिविधियां में व्यस्तता रहेगी। साथ ही सामाजिक दायरा भी बढ़ेगा। आप किसी विशेष प्रयोजन को हासिल करने में समर्थ रहेंगे। तथा लोग आपकी योग्यता के कायल हो जाएंगे। कोई रुकी हुई पेमेंट...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser