पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

मातम:4 दाेस्ताें की उठी अर्थी, 2 दाेस्ताें काे सुबह व 2 काे दोपहर में दी मुखाग्नि

खिरकिया/टिमरनी10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • चारूवा गुप्तेश्वर नदी तट पर चार घंटे के अंतराल में दाे-दाे शवाें का हुआ अंतिम संस्कार

एक दिन पहले शनिवार काे अमावस्या पर लछाेरा तट पर नहाते समय चार दोस्त डूब गए थे। इनमें से दाे के शव शुक्रवार काे मिल गए थे। वहीं शनिवार तड़के 4.30 बजे तीसरे दोस्त का शव तैरकर किनारे लग गया। पुलिस ने उसे बरामद किया। चाैथे का शव घटना स्थल से 15 मीटर दूर करीब 25 फीट गहराई में मिला।

पीएम के बाद दाे दाेस्ताें का अंतिम संस्कार सुबह 10 बजे और दाे दाेस्ताें का अंतिम संस्कार 4 घंटे बाद दोपहर 2 बजे चारूवा के गुप्तेश्वर मंदिर के नदी तट पर किया गया। एक ही दिन में दाे चचेरे भाई सहित चार अर्थियां निकलने से बावड़िया गांव में मातम छाया रहा। घराें में चूल्हे नहीं जले। एक दिन में चार दाेस्ताें की अर्थी उठने से गांव के लाेगाें की अांखें नम थी।

गांव के घराें में नहीं जले चूल्हे : चारों युवकों की अंतिम यात्रा शनिवार को गांव से निकली। चार घंटे के अंतराल से दो-दो युवकों की अन्त्येष्टि ग्राम चारूवा स्थित गुप्तेश्वर मंदिर के समीप माचक नदी किनारे तट पर की गई। गांव में 100 साल में ऐसा पहली बार हुआ, जब एक साथ चार युवकों की दर्दनाक मौत हुई। युवकों की अंतिम यात्रा गांव से निकलने के दौरान हर आंख नम हो गई। लगभग 2 हजार की आबादी वाले गांव में युवकों की मौत से गमगीन घरों में चूल्हे भी नहीं जले।

मालूम हो कि गांव के सुरेन्द्र पिता निर्भय सिंह कलम (18), राहुल पिता सोहन सिंह खरबड़िया (28), महेन्द्र पिता भागवत कलम (18) और रोहित पिता नर्मदा प्रसाद बाल्या (28) की टिमरनी तहसील के लछाेरा गांव के समीप नर्मदा नदी में डूबने से मौत हो गई थी।

शनिवार सुबह 9 बजे गांव से सुरेन्द्र और राहुल की शव यात्रा निकली। सुबह 10 बजे माचक नदी तट पर दोनों का अंतिम संस्कार किया। इसके बाद दोपहर 2 बजे महेन्द्र और रोहित की अंत्येष्टि हुई। दोनों के अंतिम संस्कार में बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए। परिवार के कुछ लाेगाें की तबियत भी बिगड़ने लगी, जिन्हें स्वास्थ्य विभाग की टीम ने उपचार दिया। गांव के बाहर तक युवकों की अर्थी पहुंची। इसके बाद ट्रैक्टर-ट्रॉली से माचक नदी किनारे पार्थिव शरीर ले जाए गए। गांव में युवकों के समाज के ही लगभग 200 घर हैं।

राेहित का शव किनारे पर आया, 3.30 घंटे बाद महेंद्र का मिला शव

लापता तीसरे दोस्त राेहित का शव हादसे के 16.30 घंटे बाद और महेंद्र का शव 20 घंटे बाद मिला। एसडीआरएफ की टीम रात में लछाेरा में नर्मदा किनारे डेरा जमाए रही। इसी दाैरान लापता राेहित का शव घटना स्थल से 200 फीट दूर शनिवार तड़के 4.30 बजे तैरता मिला। इसके साढ़े तीन घंटे बाद सुबह 7 बजे एसडीआरएफ की टीम ने तलाश शुरू की इसके एक घंटे बाद शव मिला। नायब तहसीलदार संदीप गाैर ने बताया कि पीएम के लिए दाेनाें शव टिमरनी के शासकीय अस्पताल पहुंचाए गए।

टिमरनी एसडीएम ने 4-4 लाख रुपए की मदद मंजूर की

शुक्रवार काे अमावस्या पर नर्मदा में स्नान के दाैरान लछाेरा के पास डूबने से बावड़िया के 4 युवकाें की माैत पर परिजनाें काे टिमरनी एसडीएम महेश कुमार बम्नहा ने नियमानुसार 4-4 लाख रुपए की मदद मंजूर की है। एसडीएम ने बताया कि शुक्रवार काे बावड़िया निवासी महेंद्र पिता भागवत सिंह (18), राहुल पिता सोहन सिंह (28), सुरेंद्र पिता निर्भय सिंह (18) और रोहित पिता नर्मदाप्रसाद (28) अमावस्या पर नहाने गए थे। इस दाैरान पानी में डूबने से चाराें की माैत हाे गई। अारबीसी 6 (4) के तहत हर केस में 4-4 लाख रुपए की मदद मंजूर की है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- चल रहा कोई पुराना विवाद आज आपसी सूझबूझ से हल हो जाएगा। जिससे रिश्ते दोबारा मधुर हो जाएंगे। अपनी पिछली गलतियों से सीख लेकर वर्तमान को सुधारने हेतु मनन करें और अपनी योजनाओं को क्रियान्वित करें।...

और पढ़ें