पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

धोखाधड़ी का मामला:किराए की दुकान बेचने वाले आष्टा के पिता-पुत्र के खिलाफ केस दर्ज

हरदा4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • हरदा के व्यापारी से 23.55 लाख का चना खरीदा, 11 लाख रुपए का भुगतान किया

वार्ड क्रमांक 6 में रहने वाले गल्ला व्यापारी ने पिछले साल आष्टा के अनाज व्यापारी पिता- पुत्र दाे ट्रक चना 23.55 लाख रुपए में बेचा। 11 लाख रुपए का भुगतान भी दे दिया। बाकी भुगतान करने का बार-बार तगादा किया ताे उन्होंने आष्टा की मंडी समिति की दुकान अपनी बताकर 20 लाख रुपए में साैदा कर दिया। इसके बाद हरदा के गल्ला व्यापारी अशाेक पिता रामप्रसाद राठाैर ने आष्टा मंडी से दुकान का मालिकाना हक मांगा ताे मामले का खुलासा हुआ। पुलिस ने शुक्रवार काे आष्टा के अनाज व्यापारी सुनील पिता सुंदरलाल जैन व उसके पुत्र धर्मेंद्र जैन के खिलाफ 420 का प्रकरण सिटी कोतवाली में दर्ज कराया है।

सिटी कोतवाली प्रभारी एसआई उमेदसिंह राजपूत ने बताया कि हरदा के गल्ला व्यापारी अशाेक राठाैर ने 14 मार्च 2019 काे 296.40 क्विंटल व18 मार्च 2019 काे 269.50 क्विंटल चना अहिंसा ट्रेडिंग कंपनी आष्टा के प्रोपराइटर सुनील सुंदरलाल जैन काे बेचा। इसकी कीमत 23.54 लाख रुपए है। 15 दिनाें में चने की राशि का भुगतान करना था, लेकिन व्यापारी ने उन्हें भुगतान नहीं किया। बार-बार तगादा करने पर एक माह बाद 3 लाख रुपए दिए। इसके एक साल बाद 8 लाख रुपए का भुगतान किया।

राठाैर ने जब बकाया राशि का भुगतान करने के लिए दबाव बनाया ताे आष्टा के व्यापारी सुनील जैन व उसके पुत्र धर्मेंद्र जैन ने 20 लाख रुपए कीमत की एक दुकान देने के लिए साैदा किया। लेकिन बाद में पता चला कि दुकान मंडी समिति ने व्यापारी काे किराए से दे रखी है, उसका मालिकाना हक नहीं है। इसके बाद उन्होंने पुलिस काे शिकायत की। पुलिस ने जांच के बाद आष्टा के सुनील जैन व उसके पुत्र धर्मेंद्र जैन के खिलाफ धोखाधड़ी का प्रकरण दर्ज कर लिया है। अभी दोनों व्यापारी पिता-पुत्र को पुलिस पकड़ नहीं पाई है। उन्हें तलाशा जा रहा है जल्द गिरफ्तारी होगी।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज घर से संबंधित कार्यों को संपन्न करने में व्यस्तता बनी रहेगी। किसी विशेष व्यक्ति का सानिध्य प्राप्त हुआ। जिससे आपकी विचारधारा में महत्वपूर्ण परिवर्तन होगा। भाइयों के साथ चला आ रहा संपत्ति य...

और पढ़ें