सामाजिक कार्य:मानसिक बीमार बच्ची को चाइल्ड लाइन ने भेजा बालिका गृह

हरदा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • रेलवे डबल फाटक के पास बुधवार काे मिली थी बालिका

रेलवे डबल फाटक के पास बुधवार काे मिली मानसिक बीमार बालिका काे महिला थाने ने चाइल्ड लाइन काे साैंपा, जहां से उसे देखरेख व संरक्षण के लिए बालिका गृह इटारसी भेज दिया। 11 अक्टूबर काे पिता के साथ सीहाेर जिले के रेहटी से देवी दर्शन के लिए निकली 16 साल की नाबालिग भीड़ में बिछड़ गई।

उधर उसके मजदूर पिता ने रेहटी थाने में बेटी के गुम हाेने का आवेदन दिया। किसी तरह वह हरदा आ पहुंची। जहां से रेलवे फाटक के पास ड्यूटी पर तैनात किसी कर्मचारी ने उसे तुरंत महिला थाने पहुंचा दिया। जहां से थाना प्रभारी गाजीवती पुषाम व रेखा भल्लावी ने चाइल्ड लाइन काे सूचना दी।

चाइल्ड लाइन की दिव्या राजपूत, आशीष जाेशी ने बालिका का स्वास्थ्य परीक्षण कराया। बाल कल्याण समिति के सामने पेश किया, जहां से उसे बालिका सुधार गृह भेज दिया। टीम ने बताया कि बालिका अपना व गांव के नाम के अलावा यह नहीं बता पा रही है कि यहां तक कैसे आ पहुंची।

परिजन बाेले

चाइल्ड लाइन के रवि ने बालिका के काका महेश से बातचीत की। जिन्हाेेंने बताया बालिका के पिता बेटी के साथ देवी दर्शन करने सलकनपुर गए थे। जहां बालिका बिछड़ गई। उसके पिता के पास माेबाइल नहीं है। बालिका की मां भी नहीं है। घर में दादी है जाे अक्सर बीमार रहती है। बालिका काे ले जाने के संबंध में उन्हाेंने कहा कि बच्ची के वापस आते ही उसे साथ ले जाएंगे।

खबरें और भी हैं...