पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पढ़ाई शुरू:आज से खुलेंगे काॅलेज, आधे विद्यार्थी भी पहुंचे तो लीड काॅलेज में कम पड़ जाएंगे कमरे

हरदा14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
हरदा। शासकीय स्वामी विवेकानंद काॅलेज काे सैनिटाइज कराते हुए। - Dainik Bhaskar
हरदा। शासकीय स्वामी विवेकानंद काॅलेज काे सैनिटाइज कराते हुए।
  • मास्क और वैक्सीनेशन प्रमाण पत्र के बिना नहीं मिलेगा प्रवेश, एक दिन पहले काॅलेज के कमराें काे कराया सैनिटाइज, समूह में खड़े होना भी रहेगा प्रतिबंधित

जिले में बुधवार से 50 प्रतिशत क्षमता के साथ काॅलेज में पढ़ाई शुरू हाेगी। ऑनलाइन क्लास पहले की तरह चलती रहेंगी। इस हिसाब से सप्ताह में छात्र- छात्राएं तीन-तीन दिन क्लास अटेंड कर पाएंगे। मंगलवार काे विवेकानंद लीड काॅलेज में तैयारियां चलती रहीं। इसके बाद सैनिटाइज कराया। लीड काॅलेज में करीब 4 हजार विद्यार्थी दर्ज हैं। इनके लिए कमरे 12 हैं। काॅलेज 2 शिफ्टों में लगता है। इसमें आधे छात्र भी काॅलेज पहुंच गए ताे प्रबंधन के सामने मुश्किल खड़ी हाे जाएगी। वहीं आदर्श काॅलेज में साेशल डिस्टेंसिंग बनाना नामुमकिन है।

प्राचार्य डाॅ. संगीता बिले ने कहा कि पहले एक-दाे दिन काॅलेज आने वाले छात्राें की संख्या देखेंगे। इसके बाद निर्णय लिया जाएगा। मास्क, वैक्सीनेशन प्रमाण पत्र और अभिभावकों की लिखित सहमति जरूरी हाेगी। मास्क, प्रमाण पत्र व सहमति के बाद ही काॅलेज में प्रवेश मिल सकेगा। साेशल डिस्टेंसिंग का पालन करना हाेगा। इसके लिए प्रोफेसरों काे समझाइश दी गई है। अनुमान के अनुसार जिले में 95 प्रतिशत से अधिक छात्राें काे वैक्सीन का पहला डाेज लग चुका है।

जानकारी के मुताबिक काॅलेज के गेट पर सैनिटाइजर की व्यवस्था हाेगी। मास्क चेक हाेगा। इसके बाद स्टाफ व विद्यार्थियाें काे प्रवेश मिलेगा। स्वामी विवेकानंद शासकीय काॅलेज में इसकी तैयारियां कर ली है। समूह में छात्राें के खड़े हाेने पर भी प्रतिबंध रहेगा।

एक बेंच पर एक छात्र, ग्रुप डिस्कशन नहीं
एक दिन पहले मंगलवार काे शासकीय स्वामी विवेकानंद काॅलेज में तैयारियां चलती रही। कमराें की सफाई कराई। बेंच लगाई है। कमराें, खिड़की, दरवाजाें काे सैनिटाइज कराया गया। काॅलेज में काेराेना गाइड लाइन का पालन कराने के लिए स्टाफ काे जिम्मेदारी दे दी है। एक बेंच पर एक छात्र बैठेगा। ग्रुप डिस्कशन पर राेक रहेगी। बिना मास्क के एक- दूसरे से बातचीत नहीं करने दी जाएगी। प्रोफेसर छात्र-छात्राओं काे काेराेना गाइड लाइन का पालन करने की बार-बार समझाइश देंगे।

क्षमता से अधिक छात्र आएंगे तो प्रवेश नहीं देंगे
विद्यार्थियाें की संख्या अधिक है। एक-दाे दिन काॅलेज आने वाले छात्राें की संख्या देखी जाएगी। इसके बाद निर्णय लिया जाएगा। क्षमता से अधिक छात्र अाते है ताे उन्हें प्रवेश नहीं देंगे। काेराेना गाइड लाइन का पालन कराया जाएगा। इसके लिए काॅलेजाें काे भी निर्देश जारी किए हैं।
डाॅ. संगीता बिले, प्राचार्य, शा. स्वामी विवेकानंद लीड काॅलेज हरदा

दाे शिफ्टों में लगेगा काॅलेज, साेशल डिस्टेंसिंग नामुमकिन
शासकीय आदर्श काॅलेज की क्लास महात्मा गांधी हायर सेकंडरी स्कूल के प्रथम तल पर चार कमराें में लगता है। इसमें एक कमरा स्टाफ के लिए है। तीन कमराें में क्लास लगती है। करीब 600 विद्यार्थियाें के लिए काॅलेज दाे शिफ्टों में लगेगा। इसके बाद भी साेशल डिस्टेंसिंग नामुमकिन होगा। कमरे छाेटे है। 50 प्रतिशत छात्राें की संख्या के साथ काेराेना गाइड लाइन का पालन कराना कठिन हाेगा। स्टाफ के लिए ही आर्दश काॅलेज में पर्याप्त जगह नहीं है। हालांकि, काॅलेज के प्रोफेसरों का मानना है कि पहले दाे- चार दिन कम ही छात्र पहुंचेंगे।

20 सितंबर से पहली से 5वीं तक की कक्षाएं लगेंगी
प्रदेश में 20 सितंबर से प्राथमिक स्कूल भी खुलेंगे। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने पहली से पांचवीं तक कक्षाएं शुरू करने के आदेश दिए हैं। 50 प्रतिशत क्षमता के साथ कक्षाओं में विद्यार्थियों को बुलाया जाएगा। इसके लिए पालकों की सहमति पत्र जरूरी होगा। वहीं आठवीं, दसवीं और बारहवीं के छात्रों के लिए 100 प्रतिशत क्षमता के साथ हॉस्टल भी खुल सकेंगे। वहीं 11वीं के छात्रों के लिए भी 50 प्रतिशत क्षमता के साथ हॉस्टल सुविधाएं रहेंगी। जबकि आवासीय स्कूल में 8वीं, 10वीं और 12वीं की क्लास 100 प्रतिशत क्षमता के साथ लगेंगी।

खबरें और भी हैं...