पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कांग्रसियों ने कृषि मंत्री, सीएम के खिलाफ लगाए नारे:बीज संकट को लेकर कांग्रेस ने दिया धरना

हरदा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हरदा। धरना देकर विराेध जताते हुए कांग्रेसी। - Dainik Bhaskar
हरदा। धरना देकर विराेध जताते हुए कांग्रेसी।

जिले में सोयाबीन समेत अन्य बीज का भारी संकट है। किसानाें काे अनुदान पर दिए जाने वाले बीज का वितरण भी सरकार ने दाे साल से बंद कर रखा है। छाेटे किसान बाजार से महंगा बीज खरीद नहीं पा रहे हैं। बीज संकट के विराेध में जिला व किसान कांग्रेस ने कृषि कार्यालय के सामने डेढ़ घंटे धरना दिया। भाजपा नेताओं और जिला प्रशासन के खिलाफ नारे लगाए।

तहसीलदार धर्मेंद्र चौकसे काे सीएम के नाम का ज्ञापन दिया। जल्द बीज न देने पर उग्र आंदाेलन की चेतावनी दी। दाेपहर 2 बजे कांग्रेसी कृषि ऑफिस के सामने जुटे। यहां धरना देकर सरकार काे नाकाम बताते हुए काेसा। किसान कांग्रेस जिलाध्यक्ष माेहन सांई ने कहा कि किसानाें काे 75 प्रतिशत अनुदान पर बीज मिलता था, दाे साल से इसे भाजपा सरकार ने बंद कर दिया।

छाेटा किसान महंगा बीज खरीद नहीं सकता है। हेमंत टाले ने कहा कि बाजार में सर्टिफाइड नहीं हाेने से बीज उगने की गारंटी नहीं है। जिले में 513 गांव हैं। ऐसे में ज्यादातर खेत काले रह जाएंगे। जिलाध्यक्ष ओम पटेल ने कहा कि बीते साल अतिवृष्टि सोयाबीन खराब हाे गई। किसी के पास बीज नहीं बचा।

विभाग ने 1.57 लाख हेक्टेयर रकबा सोयाबीन के लिए प्रस्तावित किया, बीज नहीं है ताे बाेवनी कैसे हाेगी। रविशंकर शर्मा ने कहा कि जब कांग्रेस ने हंगामा शुरू किया ताे अधिकारी किसानाें काे फसल चक्र में बदलाव के लिए प्रेरित करने का तर्क दे रहे हैं। जपं सदस्य प्रमिला ठाकुर ने संबोधित किया।

पूर्व विधायक आरके दाेगने ने कहा कि खेती काे लाभ का धंधा बनाने का ढिंढाेरा पीटा जा रहा है, सच्चाई यह है कि मप्र में ही बीज का टाेटा है। अरुण तिवारी, सुहागमल पवार, गाेविंद व्यास, उत्तम तेनगुरिया, इकबाल अहमद, सुरेंद्र सराफ, भागीरथ पटेल, आरएस सिराेही, आरएन स्याग, उमाशंकर विश्नाेई, श्यामलाल बावल अादि माैजूद रहे।

खबरें और भी हैं...