खरीदी में समस्या:भुगतान में देरी के कारण काम छाेड़कर जा रहे हम्माल, केंद्र पर तौल के लिए किसानों को करना पड़ रहा इंतजार

हरदा6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हरदा। खरीदी केंद्रों पर गति है धीमी। - Dainik Bhaskar
हरदा। खरीदी केंद्रों पर गति है धीमी।
  • मजदूरी नहीं मिलने के कारण हम्मालों के सामने परिवार के पेट भरने का संकट

जिले में समर्थन मूल्य की खरीदी अनदेखी की भेंट चढ़ गई है। कई केंद्रों पर हम्माल मजदूरी न मिलने के चलते काम छाेड़ कर चले गए हैं। क्योंकि भुगतान नहीं हाेने के कारण हम्मालों के सामने परिवार पालने का संकट खड़ा है इसलिए वे दूसरी जगह जाकर काम कर हैं। इस समस्या के चलते किसानों काे स्वयं ताैल के लिए इंतजाम करना पड़ रहा है। खरीदी व ताैल की गति धीमी हाेने से किसानों काे केंद्रों पर 2-3 दिन- रात में रुकना पड़ रहा है। इधर, समय पर उपज का भुगतान न मिलने से किसान 0 प्रतिशत ब्याज के लाभ से वंचित हाे जाएंगे। इसे देखते हुए ऋण जमा करने के लिए आखिरी तारीख 30 जून करने की सीएम से मांग उठी है। भाकिसं ने बड़े कांटों से जल्दी ताैल कराने की मांग की है। जिले में कई खरीदी केंद्रों पर इन दिनाें हम्माल ही नहीं हैं।

हम्मालों काे भागने का कारण समय पर भुगतान न हाेना बताया जा रहा है। हम्मालों के अभाव में ताैल की गति धीमी है। किसानों काे केंद्रों पर उपज की निगरानी के लिए रात बिताना पड़ रहा है। इसकाे लेकर किसान संगठनों के प्रतिनिधियों ने गुरुवार काे सीएम, कलेक्टर, एअारसीएस, डीडीए व डीएसओ काे पत्र लिखे हैं।

शून्य प्रतिशत ब्याज पर दिए कर्ज की वसूली 30 जून करने और धर्म कांटों से ताैल कराने किसान संगठनों ने सीएम से की मांग

किसानाें की जुबानी उनकी परेशानी

कडाेला सोसाइटी पर दाे दिन से गेहूं का ताैल कराने के लिए ट्राॅली लेकर आया हूं। समिति के कर्मचारियों का कहना है हम्माल नहीं है। ऐसे में हम कहां से हम्माल लाएं। अब रात में उपज की रखवाली के लिए केंद्र पर रतजगा करना मजबूरी है।-राम सिंह, किसान
कई केंद्रों पर हम्मालों का टाेटा है। छाेटे कांटों से ताैल हाे रहा है। ऐसे में समय ज्यादा लग रहा है। हम्माल भी कम हैं। सप्ताह में केवल 5 दिन खरीदी हाे रही है। भुगतान का भी 15 दिन ठिकाना नहीं है, जबकि 3 दिन का नियम है। किसानों की काेई सुनने वाला नहीं है।-हरनारायण, किसान

किसने क्या कहा

कर्ज चुकाने की आखिरी तारीख 30 जून हाे : सांई
खरीदी व भुगतान की लेटलतीफी काे देखते हुए किसान कांग्रेस ने जिला सहकारी बैंक की ऋण वसूली स्थगित करने की सीएम से मांग की है। किसान कांग्रेस जिलाध्यक्ष माेहन सांई ने कहा कि बैंकों ने पहले 0% ब्याज पर दिए कर्ज जमा करने की तारीख 30 जून की जाए। क्योंकि समर्थन मूल्य पर खरीदी समय पर शुरू नहीं हुई। भुगतान में 15 दिन लग रहे हैं। किसानों के बिल नहीं बन पा रहे हैं। एेसे में उन्हें ब्याज देना पड़ेगा।

खरीदी केंद्रों पर धर्म कांटों से हाे ताैल : भाकिसं
जिले में समर्थन मूल्य पर चल रही गेहूं, चना की खरीदी के केंद्रों पर धर्म कांटों से ताैल कराने की भाकिसं ने मांग की है। संघ ने कहा कि खरीदी की गति धीमी है, कई केंद्र बंद हैं। कुछ केंद्रों पर हम्मालों काे भुगतान नहीं हाेने से काम बंद हैं। किसानों काे हम्माल लाना पड़ रहा है। ताैल छाेटे इलेक्ट्रानिक्स कांटों से हाे रहा है। जिससे समय व श्रम ज्यादा लग रहा है। ऐसे में बड़े कांटों से ताैल कराया जाए। हम्मालों काे जल्दी भुगतान हाे।

खबरें और भी हैं...