पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

लॉकडाउन:राेक के चलते पहली बार नदी में नहीं हुआ भुजरिया का विसर्जन, सूने रहे अजनाल तट

हरदा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • प्रतीकात्मक रूप से जल के छींटे देकर मंदिराें में रखी गई भुजरिया, डंडे भी नहीं लड़ाए

राेक के बाद काेराेना के चलते भुजरिया पर्व पर मंगलवार काे अजनाल नदी तट पर लाेगाें की भीड़ कम रही। प्रतीकात्मक रूप से जल के छींटे देकर भुजरिया काे मंदिराें में रखा। इस दाैरान लाेगाें ने डंडे भी नहीं लड़ाए। एहतियात के ताैर पर नदी तट पर पुलिस व नपा के कर्मचारी तैनात रहे। हर साल भुजरिया के माैके पर दाेपहर बाद से ही नदी तट पर महिला-पुरुषाें के दल सिर पर भुजरिया की टाेकरी रखकर अजनाल नदी तट पहुंचने लगते थे। भजन-कीर्तन करते और डंडे लड़ाते हुए लाेगाें काे देखने के लिए खासी संख्या में लाेग जुटते थे। नदी में प्रवाहित कर लाेग भुजरिया लूटते थे। इसके बाद शुरू हाेता था मेल-मिलाप का सिलसिला। लाेग एक-दूसरे के घर पहुंचकर भुजरिया देकर बड़ाें का आशीर्वाद लेते। भुआणा का भुजरिया पर्व उत्साह के साथ मनाया जाता है। काेराना के दाैर ने पर्व की परंपराएं भी बदल दीं।

महिलाएं घर से भुजरिया लेकर निकलीं। जल के छींटे देकर भुजरिया मंदिराें में रखीं। इधर, कुछ लाेग नदी तट पर भुजरिया विसर्जित करने पहुंचे। उन्हें पुलिस व नपा अमले ने राेका। भुजरिया काे मंदिर में रखवा दिया गया। इसके अलावा कुछ जगह महिलाओं ने हैंडपंप पर भुजरिया का सांकेतिक रूप से विसर्जन किया। इसके बाद भुजरिया भगवान काे अर्पित कर दी। इधर, एसडीएम एचएस चाैधरी ने कहा कि शांति समिति की बैठक में भुजरिया अजनाल नदी तट पर विसर्जित नहीं किए जाने का निर्णय लिया था। इसके बाद कलेक्टर अनुराग वर्मा ने नदी में भुजरिया विसर्जन पर राेक लगा दी। इसी के चलते नदी तट पर प्रशासन, नपा व पुलिस का अमला तैनात किया गया। कुछेक लाेग पहुंचे ताे उन्हें समझाइश देकर वापस लाैटा दिया।

डंडे लड़ाते पुरुष व भजन गातीं महिलाएं भुजरिया लेकर पहुंचती थीं नदी, इस बार नहीं हुए कार्यक्रम

भुजरिया भुआणा क्षेत्र का लाेकप्रिय पर्व है। दाेपहर बाद से महिला-पुरुष के दल भुजरिया लेकर घराें से निकलते। पुरुष चाैराहाें पर डंडे लड़ाते थे। महिलाएं भजन गाते हुए चलती थीं। सिर पर भुजरिया की टाेकरी रखकर महिलाएं अजनाल नदी तट पहुंचती थीं। इसके बाद पूजन कर भुजरिया अजनाल में विसर्जित की जाती थी। इस दाैरान हजाराें की संख्या में लाेग अजनाल नदी तट पर जमा हाेते थे। लेकिन इस बार तट सूने रहे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- अगर आप कुछ समय से स्थान परिवर्तन की योजना बना रहे हैं या किसी प्रॉपर्टी से संबंधित कार्य करने से पहले उस पर दोबारा विचार विमर्श कर लें। आपको अवश्य ही सफलता प्राप्त होगी। संतान की तरफ से भी को...

और पढ़ें