पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Hoshangabad
  • Harda
  • Entering The House And Killing The Laborer By Hitting Him In The Back Of The Head, Wife And 3 Children Kept Sleeping In Another Room

खून से लथपथ मिला शव:घर में घुसकर सिर के पिछले हिस्से में वार कर मजदूर की हत्या, दूसरे कमरे में साेते रहे पत्नी अाैर 3 बच्चे

हरदाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मृतक का आमीर - Dainik Bhaskar
मृतक का आमीर
  • सुबह नींद खुली ताे पत्नी कमरे में पहुंची ताे पलंग पर खून से लथपथ मिला पति का शव

सिविल लाइन थाना क्षेत्र के खेड़ीपुरा की नई अाबादी निवासी अामीर पिता फिराेज 38 की अज्ञात ने घर में घुसकर हत्या कर दी। उसके सिर के पिछले हिस्से में चाेट के निशान हैं। कमरे में रखी अलमारी का सामान बिखरा मिला। हालांकि पुलिस का कहना है कि कुछ चाेरी नहीं गया। इस दाैरान मृतक की पत्नी और तीन बच्चे घर के दूसरे कमरे में साे रहे थे। उन्हें हत्या का पता नहीं चला।

घर का मुख्य दरवाजा खुला हुआ था। इधर, शहर में लगातार दूसरे दिन हत्या से सनसनी फैल गई। सूचना मिलते ही एसपी मनीष अग्रवाल ने माैका मुआयना किया। एफएसएल टीम और डाॅग स्क्वाड भी माैके पर पहुंचा। पुलिस का डाग बाइपास तक गया। पुलिस काे शक है कि हत्या में किसी जान-पहचान वाले का हाथ है।

पुलिस ने बताया कि आमीर पहले सब्जी बेचता था लाॅकडाउन में काम बंद हाेने से वह मजदूरी करने लगा। उसकी पत्नी सिलाई का काम करती है। पुलिस ने अज्ञात पर भादंवि की धारा 302 का केस दर्ज किया। पीएम कर शव परिजनाें काे साैंप दिया। मृतक मूल रूप से खंडवा का रहने वाला था। उसे खंडवा में ही सुपुर्दे खाक किया। हत्यारा दरवाजा खाेलकर हाे गया फरार, दूसरे कमरे में साेते रहे पत्नी और तीन बच्चे: पुलिस के मुताबिक घर के पीछे वाले तीसरे कमरे में मृतक आमीर साे रहा था। दूसरे कमरे में पत्नी तबस्सुम बच्चों के साथ साे रही थी। हत्यारा दरवाजा खाेलकर तीसरे कमरे में पहुंचा। उसने आमीर की हत्या की, लेकिन पत्नी और बच्चों काे इसका पता नहीं चला। पुलिस मान रही है कि पहचान वाला ही घर में घुस सकता है। उसी ने कपड़े फैलाए। पुलिस कुछ संदिग्धों से पूछताछ कर रही है।

बहन का फोन आने पर घर पहुंचा ताे देखा तीसरे नंबर के कमरे में जीजा का शव पलंग पर चित पड़ा था

मैं खेड़ीपुरा नई आबादी में रहता हूं। मजदूरी करता हूं। मेरे जीजा आमीर और बहन तबस्सुम मेरे घर से करीब 100 फीट दूर ही रहते हैं। बहन ने सुबह करीब 5.47 बजे काॅल कर बताया कि तुम्हारे जीजा आमीर तीसरे कमरे में चित पलंग पर पड़े हुए है। बिस्तर पर खून फैला हुआ है। दरवाजा खुला है। अलमारी खुली पड़ी थी।

सामान बिखरा है। तुम्हारे जीजा हिल-डुल नहीं रहे। जल्दी आ जाओ। मैं पहुंचा ताे और बहन से पूछा ताे बह राेने लगी। देखा ताे जीजा पलंग पर बनियान पहले चित पड़े थे। उनके दाेनाें पैर पलंग से नीचे लटक रहे थे। जीजा के सिर के पीछे की तरफ चाेट के निशान मिले। छाती के पास बनियान और हाथ पर खून लगा मिला।

बिस्तर पर भी खून दिखा। मैने जीजा काे दाे-चार आवाज लगाई ताे काेई हलचल नहीं हुई। इसके बाद थाने पहुंचकर एफआईआर कराई। जीजा के 10, 7 और 4 साल के तीन छाेटे-छाेटे बच्चे हैं। अब उनका पालन पाेषण कैसे हाेगा। उनकी ताे किसी से काेई रंजिश भी नहीं थी। अपने काम से काम रखने वाले सीधे-साधे इंसान थे। पुलिस से गुजारिश है कि जीजा के हत्यारों काे पकड़कर कड़ी से कड़ी सजा दिलाए। (जैसा मृतक आमीर के साले अहमद ने भास्कर काे बताया।)

घटनास्थल का बारीकी से निरीक्षण किया है फॉरेंसिक एक्सपर्ट और डॉग स्क्वायड की भी मदद ली है हर पहलू से जांच की जा रही है परिजनों से भी मालूमात कर रहे हैं जल्द ही मामले को सुलझा लिया जाएगा। -मनीष अग्रवाल, एसपी, हरदा

खबरें और भी हैं...