पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गांव में गंदगी की स्थिति अभी भी बरकरार:लाखाें खर्च किए फिर भी नहीं हाे पाया कचरे का निपटान

मसनगांव25 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मसनगांव। लाखाें की लागत से बना कचरा निपटान घर व नाडेप। - Dainik Bhaskar
मसनगांव। लाखाें की लागत से बना कचरा निपटान घर व नाडेप।
  • पंचायत ने बनाया था कचरा निपटान घर व नाडेप, अनदेखी से हुए जर्जर

स्वच्छता अभियान के अंतर्गत गांव में कचरा निपटान-घर का निर्माण ताे किया गया, लेकिन उसका लाभ नहीं मिल पाया। ग्राम पंचायत ने साल 2016-17 में करीब 3 लाख 27 हजार रुपए की लागत से कचरा निपटान घर का निर्माण किया था। खुद पंचायत की अनदेखी से कचरा घर जर्जर स्थिति में पहुंच गया है।

करीब 4 साल पहले पंचायत द्वारा कचरा घर के साथ पंचायत में 20 नाडेप टांके बनाए थे। इनमें कचरा इकट्ठा कर ठोस व तरल अपशिष्ट को अलग कर कचरा निपटान घर में नाडेप में इकट्ठा किया जाता, लेकिन अनदेखी से गांव में कचरा पसरा पड़ा हुआ है।

ग्राम पंचायताें काे ठोस एवं तरल कचरा प्रबंधन के लिए आदर्श बनाने का शासन का प्रयास है। ग्रामीणों को एक जगह कूड़ा एकत्र करने के लिए जागरूक किया गया। ग्रामीणों को स्वच्छता की शपथ भी दिलवाई गई। ग्रामीणाें ने कहा कि हर घर से निकलने वाले कचरे का निपटान बेहतर ढंग से होना चाहिए।

गांव को कचरा प्रबंधन के मामले में सभी काे प्रयास करना चाहिए। कचरा प्रबंधन को बेहतर बनाने के लिए ग्राम पंचायत को हर माह राशि दी जानी चाहिए।
कचरा घर दुरुस्त कराया जाएगा
टांके व कचरा-घर को दुरुस्त कराया जाएगा। गांव में स्वच्छता के लिए जल्द ही ठोस और तरल अपशिष्ट कचरा इकट्ठा कर कचरा निपटान घर में बने नाडेप में इकट्ठा किया जाएगा।-याेगेश पाटिल, सरपंच, ग्राम पंचायत साेडलपुर

खबरें और भी हैं...