पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

समर्थन मूल्य खरीदी केंद्र:चाैथी बार बढ़ी मंडी खुलने की तारीख, 14 तक बंद

हरदाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

लाॅकडाउन 14 मई तक बढ़ने के कारण अब कृषि उपज मंडी भी नहीं खुलेगी। समर्थन मूल्य खरीदी केंद्रों पर भुगतान के अभाव में हम्माल काम छाेड़कर चले गए हैं। किसानों काे ताैल के लिए खुद हम्माल लाना पड़ रहा है। काेराेना के बढ़ते संक्रमण काे देखते हुए प्रशासन ने 14 मई तक लॉकडाउन आगे बढ़ा दिया। इधर ग्रेन मर्चेंट एसोसिएशन के पत्र का हवाला देते हुए मंडी सचिव संजीव श्रीवास्तव ने चाैथी बार मंडी खुलने की तारीख आगे बढ़ा दी है।

समर्थन मूल्य खरीदी केंद्रों पर हम्मालों के अभाव में ताैल की गति धीमी है। मंडी बंद है। ऐसे में इलाज व सामान खरीदने के लिए किसानों काे अपनी उपज कम दाम में बेचना पड़ रहा है। इधर किसान, मजदूरों की समस्याओं काे लेकर किसान कांग्रेस जिलाध्यक्ष माेहन सांई ने सीएम काे पत्र लिखा।

यह है मांग
जिले के 3000 किसानों काे 2019 का बीमा दें।
जिला आपदाग्रस्त घाेषित हाेने पर मिलने वाली राहत राशि की शेष किस्त दें।
खरीफ 2020 की शेष राहत राशि व बीमा राशि दी जाए।
समर्थन मूल्य पर खरीदे चना, गेहूं का भुगतान बिना वसूली तुरंत हाे।
हम्मालाें काे तुरंत भुगतान हाे। साप्ताहिक मेडिकल चेकअप हाे।
दिहाड़ी मजदूरों काे 6 माह का राशन बिजली फ्री मिले।
घर खर्च चलाने शहराें में ऑटो, फुल्की, कुम्हार, मोची, सैलून, चाय वालाें काे 5 हजार रुपए मासिक खाते में दें।
चाैकड़ी समिति के 14 किसानों काे 2019 की चना खरीदी का भुगतान दें।
किसानों काे 20 घंटे बिजली दें। जले ट्रांसफार्मर बदलें।
समर्थन मूल्य पर मूंग खरीदी के लिए पंजीयन शुरू हाे।

खबरें और भी हैं...