भास्कर लोकल इश्यू:शहर के किसी भी बाजार क्षेत्र में पार्किंग की सुविधा उपलब्ध नहीं, कागजाें से बाहर नहीं आ रही याेजनाएं

हरदा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हरदा। शहर की नई सब्जी मंडी में सड़क किनारे खड़े किए दाे पहिया वाहन। - Dainik Bhaskar
हरदा। शहर की नई सब्जी मंडी में सड़क किनारे खड़े किए दाे पहिया वाहन।
  • जनप्रतिनिधियाें व अफसरों काे समस्या पता हाेने के बाद नहीं हाे रहा निराकरण

शहर के बाजारों में खरीदारी के लिए आने वाले लोग मूलभूत सुविधाओं से वंचित हैं। बाजार में अतिक्रमण एक ना सुलझने वाली समस्या बनी हुई है। स्थिति यह है कि शहर के किसी भी बाजार में वाहन रखने के लिए पार्किंग व्यवस्था नहीं है। इसके अलावा कई अन्य सुविधा उपलब्ध नहीं है।

हर दिन ग्राहकाें को परेशानी हो रही है। सबसे अहम बात यह है कि जनप्रतिनिधियाें और अधिकारियाें काे लाेगाें की समस्याओं की जानकारी है, उसके बावजूद वह बाजार में सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए कोई ठाेस कदम नहीं उठा रहे हैं। समय-समय पर बैठकाें में कागजाें पर याेजना बनाकर अपने कर्तव्याें से इतिश्री कर लेते हैं, जिससे लाेगाें काे पार्किंग की सुविधा नहीं मिल रही।

नगर पालिका को शहर के बाजारों में पार्किंग के साथ ही शाैचालय, सड़क, पानी आदि की व्यवस्था उपलब्ध करानी चाहिए। खरीदारी करने के लिए आने वाले लोगों को परेशान न होना पड़े। किसी भी बाजार में पार्किंग की सुविधा नहीं होने से सबसे अधिक परेशानी महिला ग्राहकों को होती है।
- नरेंद्र बांके, हरदा

घंटाघर बाजार और मुख्य मार्गाें के किनारे बने बाजाराें से अतिक्रमण हटाकर सड़कों को चौड़ाकर उनका नया निर्माण कराया जाए। इससे ग्राहकों के साथ व्यापारियों को भी फायदा होगा। वाहन रखने के लिए पार्किंग बनाई जाए, जिससे लोगों को अपने वाहन रोड पर खड़े नहीं करना पड़ेंगे।
-रामचंद्र चाैधरी, हरदा

बाजार की सड़क के निर्माण और अतिक्रमण हटाने की मांग करते-करते वर्षों बीत चुके हैं। समस्याओं के कारण बाजार में लोग खरीदारी करने में परेशानी उठा रहे हैं। पार्किंग की व्यवस्था नहीं होने से वाहन दुकानों के सामने खड़े करना पड़ते हैं। लोगों की सुविधा के लिए पार्किंग निर्माण किया जाना चाहिए।
- यतीश नागाेरे, हरदा

​​​​​​​दुकानाें का किया निर्माण

​​​​​​​नगर पालिका ने अपनी आमदनी बढ़ने के उद्देश्य से शहर के अधिकांश क्षेत्राें में सैकड़ाें दुकानाें का निर्माण कर दिया है। शहर के प्रमुख और पुराने बाजारों में ग्राहकों के लिए कोई सुविधा उपलब्ध नहीं कराई जा रही। घंटाघर बाजार, पटवा मार्केट, बड़ा मंदिर क्षेत्र, पुराना सब्जी बाजार, आदि में हर दिन हजाराें लोग खरीदारी के लिए आते हैं, लेकिन इन बाजार में में सुविधाओं का अभाव है।

खबरें और भी हैं...