पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हिंदी दिवस:पहले अंग्रेजाें के गुलाम रहे अब उनकी भाषा के गुलाम हैं: गोविंद पंवार

हरदाएक दिन पहले
  • कॉपी लिंक
हरदा। हिंदी दिवस पर हिंदी शिक्षक का सम्मान। - Dainik Bhaskar
हरदा। हिंदी दिवस पर हिंदी शिक्षक का सम्मान।
  • हिंदी दिवस पर महिलाओं ने हिंदी शिक्षक के घर जाकर किया सम्मान

पहले हम अंग्रेजी हुकूमत के गुलाम रहे। लंबे संघर्ष के बाद जब क्रांतिकारियाें से डरकर अंग्रेजाें ने देश छाेड़ा और हम आजाद हुए ताे अब उनकी अंग्रेजी भाषा हम पर अप्रत्यक्ष रूप से हुकूमत कर रही है। यह बात सिराली संकुल प्राचार्य एवं हिंदी शिक्षक गाेविंद पंवार ने कही। वे महिला कांग्रेस से जुड़ी महिलाओं द्वारा उनके घर पहुंचकर दिए सम्मान के माैके पर हिंदी की वर्तमान स्थिति और गाैरवशाली अतीत पर अपने विचार व्यक्त कर रहे थे।

उन्हाेंने कहा हिंदी हमारी मातृभाषा है। यह हर भारतीय के मान सम्मान और गाैरव से जुड़ी है। लेकिन इसकी स्थिति दिनाें दिन दयनीय हाेती जा रही है। इसे सहेजने और आगे बढ़ाने की जरूरत है। उन्हाेंने कहा आजकल के बच्चे हिंदी व अंग्रेजी के शब्दाें काे मिश्रित रूप से बाेलने लगे हैं, जिससे बच्चाें के लिए सही हिंदी बाेलना सीखना और कठिन हाे जाएगा।

उन्हाेंने कहा इस दिशा में सभी काे साेचने और अपने अपने स्तर पर काम करने की जरूरत है। इस दौरान सुप्रिया पटेल, प्रमिला ठाकुर, सुष्मिता राजपूत, शकुंतला अग्रवाल, सीमा रात्रे, शकुन खाेदरे ने पंवार काे सामूहिक रूप से पुष्पगुच्छ व स्मृति चिन्ह देकर शाॅल, श्रीफल से उनका सम्मान किया।

खबरें और भी हैं...