पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

नवरात्रि का दूसरा दिन:35 वार्डों में 42 जगह विराजीं आदिशक्ति की प्रतिमाएं, समितियाें ने लाेगाें काे कोरोना गाइडलाइन के पालना की समझाइश दी

हरदा8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

शहर में विभिन्न 35 वार्डाें में इस बार उत्सव समितियाें ने 42 जगहाें पर पंडाल लगाकर देवीजी की मूूर्तियाें की स्थापना की है। रविवार काे नवरात्रि का दूसरा दिन था। छुट्टी का दिन हाेने के कारण शाम के समय कई लाेग बच्चाें व परिवार के साथ देवी दर्शन करने पहुंचे।

इस दाैरान समितियाें ने लाेगाें काे मास्क लगाने और दर्शन पूजन के बीच एक दूसरे से 2 गज की दूरी रखने की समझाइश दी। कई समितियाें ने दर्शन के लिए आने वाली भक्ताें की भीड़ काे देखते हुए समय-समय पर मंच से माइक के जरिए अनाउंस करने की भी व्यवस्था की है। जिससे दूरी का पालन कराया जा सकें।

इस बार नवरात्रि में शहर की ज्यादातर बड़ी व पुरानी उत्सव समितियाें ने ही सालाें पुरानी परंपरा काे आगे बढ़ाने के उद्देश्य से देवी की विभिन्न भाव मुद्रा वाली मूर्तियाें की स्थापना की है। इस बार समितियाें ने झांकी व पंडाल की विशेष ताैर पर की जाने वाली सजावट पर ज्यादा फाेकस नहीं किया है। अधिकांश समितियाें से जुड़े देवी भक्त पूरे समय हवन, पूजन, भजन-कीर्तन करते हुए विश्व से काेराेना काे खत्म करने की कामना कर रहे हैं।

ग्रामीण अंचलाें में भी देवी की मूर्तियां विराजित की हैं, लेकिन काेराेना संक्रमण की आशंका और प्रशासन की गाइडलाइन के कारण इस बार माहाैल अभी फीका-फीका लग रहा है। हर साल की तरह इस बार देवी के भजनाें के स्वर भी लाउड स्पीकराें पर बहुत कम ही जगहाें पर सुनाई दे रहे हैं। काेराेना संक्रमण के चलते इस बार कवि सम्मेलन, भजन संध्या जैसे आयाेजन भी नहीं हाेंगे।

हरदाैल बाबा मंदिर में 60 साल से विराजित हाे रही है कालीजी की प्रतिमा

सुभाष वार्ड में स्थित हरदाैल बाबा मंदिर में बीते 60 साल से कालीजी की मूूर्ति विराजित की जा रही है। कहीं सांई बाबा की मूर्ति विराजित की जाती है ताे कहीं शंकर भगवान की मूर्ति स्थापित की जाती है। राजमा चाैक पर भी 6 दशक से लगातार मूर्ति स्थापना की जा रही है। इस बार कोरोना संक्रमण के चलते भजन, कीर्तन और कई आयोजन निरस्त कर दिए है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- पिछले कुछ समय से आप अपनी आंतरिक ऊर्जा को पहचानने के लिए जो प्रयास कर रहे हैं, उसकी वजह से आपके व्यक्तित्व व स्वभाव में सकारात्मक परिवर्तन आएंगे। दूसरों के दुख-दर्द व तकलीफ में उनकी सहायता के ...

और पढ़ें