निरीक्षण:गांव की छात्राओं काे देख खुश हुईं अपर संचालक, सफलता के दिए टिप्स

हरदा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • नियमित क्लास आने और अखबार, एनसीईआरटी की बुक पढ़ने की दी समझाइश

महिला सशक्त वाहिनी की कक्षाओं की शुरुआत हाेते ही आसपास के गांवाें से भी बड़ी संख्या में छात्राएं पहुंचने लगी हैं। बुधवार काे महिला बाल विकास विभाग की अपर संचालक राजपाल काैर ने कक्षाओं का आकस्मिक निरीक्षण किया। गांव की छात्राओं की उपस्थिति देखकर उन्हाेंने खुशी जताई। साथ ही सफलता के लिए टिप्स दिए।

बुधवार काे अचानक कक्षा में छात्राओं के बीच पहुंचीं अपर संचालक ने छात्राओं से परिचय लिया। बातचीत की। इस दाैरान पता चला कि कक्षाओं में दूरस्थ गांव पलासनेर, भुन्नास, बूंदडा व अन्य गांवाें से भी छात्राएं आई हैं। यह जानकर उन्हाेंने खुशी जताई। उन्हाेंने कहा नियमित उपस्थिति ही सफलता की पहली सीढ़ी है।

किसी भी दिन क्लास से गायब न रहें। निरंतरता टूटने से हमें शृंखलाबद्ध मिलने वाली जानकारी में ब्रेक आ जाता है। मालूम हाे कि गरीब बालिकाओं काे पुलिस व अन्य सरकारी सेवा में जाने से पहले निशुल्क तैयारी के लिए लिखित परीक्षा व ट्रेनिंग कराई जा रही है। काेराेना के कारण बीते साल कक्षाओं का संचालन नहीं हुअा। 11 अक्टूबर से दाेबारा शुरुआत हुई है।

अनुभव साझा किए

अपने अनुभव साझा करते हुए काैर ने छात्राओं से कहा कि वे तैयारी व संदर्भ के लिए एनसीईआरटी की किताबाें का अध्ययन करें। जिससे लिखित परीक्षा में अधिक से अधिक नंबर हासिल किए जा सकें। उन्हाेंने सभी से कहा हमारी जानकारी के स्राेत के लिए अखबार का नियमित अध्ययन करने का समय तय करें। जिससे हम समसामयिक मामलाें में अपडेट रह सकें। काैर ने अखबार से मुख्य खबराें काे नाेट करने व रिविजन की सलाह दी।

खबरें और भी हैं...