पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

संदिग्ध मामला:युवक ने निकाले 1.22 लाख रुपए, रात में प्रतिमा देखने गया, सुबह नहर में मिला शव

हरदा2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
माैके पर कार्रवाई करती हुई पुलिस। इनसेट: मृतक जितेंद्र। - Dainik Bhaskar
माैके पर कार्रवाई करती हुई पुलिस। इनसेट: मृतक जितेंद्र।
  • गले में चोट के निशान मिले, मामा का आराेप- रुपयों के लेन देन के चलते की गई हत्या
  • मेन मार्केट में घंटाघर के पास है दुकान, मामा के घर रहता था मृतक जितेंद्र गुर्जर

घंटाघर मेन मार्केट में अपने मामा की मनिहारी की दुकान संभालने वाले 35 साल के जितेंद्र उर्फ जित्तू गुर्जर का मंगलवार काे बड़ी नहर मेंं डगांवानीमा पहुंच रोड से 2 किमी भीतर संदिग्ध हालत में शव मिला। जितेंद्र ने साेमवार काे ही पाेस्ट ऑफिस के खाते से 1 लाख 22 हजार रुपए निकाले थे। रात काे दुकान बंद करके वह घर आ गया। फिर ग्वालनगर में गणेश जी की झांकी देखने का कहकर जितेंद्र निकला था।

रात 9.30 बजे आखिरी बार उसकी मामा सत्यनारायण गुर्जर से बात हुई, ताे 10-15 मिनट में आने काे कहा। रातभर नहीं अाया। सुबह उसे तलाशा तो आखिरी लोकेशन के पास नहर में शव मिला। जिस पर चाेट के निशान हैं। मृतक के मामा ने हत्या की आशंका जताई है। प्रथम दृष्टया पुलिस भी हत्या मानकर जांच कर रही है। पीएम सुबह हाेगा।

सत्यनारायण गुर्जर की घंटाघर के पास मनिहारी की दुकान है। वे शीतला माता मंदिर के पास वार्ड 7 में परिवार के साथ रहते हैं। लंबे समय से भांजा जितेंद्र गुर्जर भी उन्हीं के घर रहा था, वह दुकान संभालता था। इसी साल 21 जून काे उसकी शादी हुई थी।

परिजनों के अनुसार साेमवार काे जितेंद्र ने दुकान खाेली। दिन में पाेस्ट ऑफिस जाकर अपने खाते से 1 लाख 22 हजार रुपए निकाले। दुकान बंद करके रात 9 बजे घर पहुंचा। परिजनों के अनुसार जितेंद्र ने घर में कहा कि वह गणेश जी की झांकी देखने ग्वालनगर जा रहा था। थाेड़ी देर में वापस लाैट आएगा।

साढ़े 9 बजे तक नहीं लाैटा तो मामा ने उसके मोबाइल पर संपर्क किया। तो जितेंद्र ने कहा कि वह कुछ लाेगाें के साथ डगांवानीमा पहुंच मार्ग नहर के पास है, 10-15 मिनट में आ जाएगा। लेकिन वह देर रात तक नहीं अाया। सत्यनारायण ने बताया कि जितेंद्र ने जिस जगह बैठे हाेने की बात कही थी, वहीं से गांव जाने का रास्ता भी है।

देर रात तक घर वापस नहीं आने पर उन्हाेंने यह साेचा कि शायद वह गांव चला गया हाेगा। सुबह आ जाएगा। लेकिन वह सुबह भी नहीं आया। तब उसकी तलाश शुरू की। गांव में पता किया ताे वहां भी नहीं पहुंचने की जानकारी मिली। जिससे परिचित घबराने लगे।

गांव के रोड से 1 किमी भीतर मिला शव, राेज रात काे लोग यहां पीते हैं शराब

रुपए नहीं मिले हत्या की आशंका इसलिए भी
मामा ने बताया कि जितेंद्र ने साेमवार काे 1 लाख 22 हजार रुपए निकाले थे, वे नहीं मिले। इतने रुपयों उसने क्याें निकाले यह भी नहीं बताया। उन्हाेंने किसी से रुपयों के लेन देन की संभावना जताते हुए हत्या की आशंका जताई। गले व शरीर पर चाेट के निशान व परिस्थिति के अनुसार पुलिस भी हत्या की आशंका मानकर जांच कर रही है।

किसी ने नहर में शव पड़े होने की पुलिस को दी थी सूचना
दाेपहर में करीब 3 बजे किसी ने पुलिस काे नहर में एक शव पड़ा हाेने की सूचना दी। डायल 100 और सिटी पुलिस माैके पर पहुंची। शव को बाहर निकाला। मृतक के मामा सत्यनारायण ने बताया कि गले में चाेट के निशान थे। एक हाथ की मुट्ठी में घास पकड़ी हुई थी। घटना की सूचना मिलते ही मेन मार्केट से भी कई दुकानदार माैके पर पहुंचे। पुलिस ने पंचनामा व माैका नक्शा तैयार किया। बुधवार सुबह पीएम हाेगा।

रास्ते पर शाम को जमती है शराब की महफिलें
शहर से 2 किमी दूर इस स्थान से डगांवानीमा व आसपास के गांवाें काे जाेड़ने के लिए डामर की राेड है। लेकिन यहां शाम ढलते ही शराब पीने और पत्ते खेलने वालाें का जमघट लग जाता है। इस कारण शाम के बाद लाेगाें विशेषकर महिलाओं व परिवार के साथ निकलने वालाें की हिम्मत नहीं हाेती है। लूट, मारपीट की आशंका के डर से लाेग दूसरे रास्ताें से निकलते हैं। यहां पर शराब की खाेली बाेतलें, खान पान की सामग्री के खाली रैपर, पाउच आदि इसकी पुष्टि करते हैं।

काॅल डिटेल्स निकलवाई है, जांच कर रहे हैं
माैके का बारीकी से निरीक्षण किया है। मामला संदिग्ध है। मृतक ने मामा ने हत्या की आशंका जताई है मृतक की कॉल डिटेल्स निकलवाई जाएगी, पुलिस हर पहलू से जांच कर रही है।
-मनीष अग्रवाल, एसपी, हरदा

खबरें और भी हैं...