पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

गोली कांड:पुलिस के विरोध में विश्नोई समाज, आरोप- सरेंडर कराया फिर भी पीटा, जुलूस निकाला

हरदा3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • देवतलाब में नहर पर हेडअप तोड़ने को लेकर विवाद में गोली चलाने का मामला
  • समाज की मांग : थाना टीअाई व दाेषी पुलिसकर्मी को सस्पेंड करें

देवतलाब में 6 नवंबर काे नहर के हेडअप ताेड़ने काे लेकर हुए विवाद में गाेली चलाने के आराेपी अश्विनी विश्नोई का समाज के लाेगाें ने पुलिस, प्रशासन काे सहयोग करने सरेंडर कराया था। फिर भी पुलिस ने उसे हथकड़ी लगाई। चाैराहाें पर पिटाई करते हुए जुलूस निकाला। रास्ते में कई जगह उठक-बैठक लगवाई। समाज का नाम लेकर उसे बदनाम किया। काेर्ट के आदेश की अवमानना कर गैर कानूनी कार्यशैली अपनाई। इससे नाराज विश्नोई समाज में बेहद आक्राेश है।

टीआई समेत सहयाेगी दाेषी पुलिसकर्मियों काे सस्पेंड करने की मांग काे लेकर समाज के करीब 400 लाेगाें ने शुक्रवार 4 बजे एसपी मनीष अग्रवाल से मुलाकात कर ज्ञापन दिया। 8 दिन में ठाेस कार्रवाई न हाेने पर सड़क पर उग्र आंदाेलन की चेतावनी दी।

6 नवंबर काे देवतलाब गांव में नहर का हेडअप ताेड़ने काे लेकर गाेलीचालन की घटना हुई। इस मामले में पिता पुत्र समेत तीन लाेग आराेपी बनाए गए। दाे काे पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर लिया था। समाज ने एसपी काे बताया कि उन्हीं की समाज के कुछ लाेगाें ने पुलिस प्रशासन की मदद करने अश्विनी काे सरेंडर कराया। इसके बावजूद पुलिस ने उसे बडनगर करनपुरा के बीच खेत के टप्पर से गिरफ्तार करना बताया।

पिटाई करते हुए जुलूस निकालने से बढ़ा आक्राेश

समाज के प्रतिनिधियों ने एसपी काे बताया कि आराेपी आदतन अपराधी नहीं है। घटना हुई है ताे पुलिस जांच कर काेर्ट में साक्ष्य, गवाह पेश करें। काेर्ट निर्णय करेगा। समाज किसी भी अपराधी का अन्याय करने वालाें का पक्षधर नहीं है। लेकिन सरेंडर कराने के बाद पुलिस ने समाज काे बदनाम करने के लिए उसे हथकड़ी लगाकर उसकी पिटाई करते हुए जुलूस निकाला, यह निंदनीय है। पुलिस का कृत्य समाज का अपमान है। प्रतिनिधियों ने कहा कि पूर्व में भी पटवारी पर गाेली चालन की घटना हुई तब पुलिस ने जुलूस क्याें नहीं निकाला। फिर इस मामले में आखिर क्याें काेर्ट के आदेश की भी अनदेखी की है।

आराेप : पुलिस ने सुनियोजित तरीके से किया अपमानित

समाज ने हाईकोर्ट में लगी याचिका क्र. 13057/2020 अरुण शर्मा विरुद्ध मप्र शासन का हवाला देते हुए कहा कि इसमें 2 नवंबर काे पारित आदेश में किसी आराेपित व्यक्ति काे सार्वजनिक रुप से परेड कराकर अपमानित या प्रताड़ित नहीं किया जा सकता, क्याेंकि किसी काे आराेपित मात्र कर देने से उसे दाेषी मान्य नहीं किया जा सकता है।

फिर भी हरदा पुलिस ने सार्वजनिक रुप से दंडित व अपमानित करने सुनियोजित ढंग से यह कार्रवाई की। जिससे समाचार पत्राें में हथकड़ी लगाकर युवक की चाैराहाें पर पिटाई करते हुए कान पकड़कर उठक बैठक लगवाने के फाेटाे छपे हैं। साेशल मीडिया पर भी पुलिस कार्रवाई वायरल हुई है।

आठ दिन की माेहलत, आंदाेलन की दी चेतावनी

हरदा विश्नोई समाज के प्रतिनिधियों ने पुलिस अधीक्षक मनीष अग्रवाल को इसके लिए जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि उनकी जानकारी व बिना सहमति के टीआई व अन्य पुलिसकर्मी ऐसा नहीं कर सकते थे। पूरे मामले में निष्पक्ष जांच हाे। टीआई व दाेषी पुलिसकर्मियों काे सस्पेंड करें। ऐसा न हाेने पर 8 दिन बाद समाज सड़क पर उग्र आंदाेलन करेगी। विराेध जताने वालाें में मध्यक्षेत्र विश्नोई सभा, अभा विश्नोई युवा संगठन, अभा जीव रक्षा विश्नोई सभा समेत समाज की अनुषांगिक इकाइयों के पदाधिकारी और समाज के गणमान्य लाेग मौजूद रहे।

जुलूस निकालकर समाज काे बदनाम करना अनुचित

समाज का काेई भी व्यक्ति अन्याय या अपराधी के साथ नहीं है। समाज के कुछ लाेगाें ने ही पुलिस प्रशासन काे सहयोग करने संबंधित युवक काे सरेंडर कराया था।

इसके बावजूद युवक काे हथकड़ी लगाकर शहर के चाैराहाें से पिटाई करते हुए उठक बैठक लगवाई और जुलूस निकालकर समाज विशेष का नाम लेकर अपमानित किया। यह अनुचित है। साक्ष्य, गुण दाेष के आधार पर काेर्ट सजा तय करेगा, जाे सभी काे मंजूर हाेगी, लेकिन किसी के दबाव में या इशारे पर पुलिस द्वारा कानून की अवहेलना कर जुलूस निकालकर समाज काे बदनाम करना अनुचित है।

-लक्ष्मीनारायण पंवार

आरोप के मामले में जांच कराई जा रही है

विश्नाेई समाज के लाेगाें ने देवतलाब की घटना की जांच की मांग काे लेकर ज्ञापन दिया है। विस्तार से चर्चा कर उनकी बात सुनी। मामले की जांच कराई जा रही है।

-मनीष अग्रवाल, एसपी, हरदा


आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- दिन उन्नतिकारक है। आपकी प्रतिभा व योग्यता के अनुरूप आपको अपने कार्यों के उचित परिणाम प्राप्त होंगे। कामकाज व कैरियर को महत्व देंगे परंतु पहली प्राथमिकता आपकी परिवार ही रहेगी। संतान के विवाह क...

और पढ़ें