पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पानी में बहाए रुपए:तवा बांध से छाेड़ा पानी, निर्माण के दौरान ही कई जगह टूटी नहर, फिर बर्बाद हाेगा पानी

हरदाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • एक माह की बची समय अवधि, लेकिन मुख्य नहर का काम अब भी अधूरा
  • 158.44 कराेड़ से हाे रही टिमरनी मुख्य नहर व हरदा उप संभाग के उपनहराें की लाइनिंग

रबी सीजन के लिए तवा बांध से नहर में गुरुवार काे पानी छाेड़ा गया। 24 अक्टूबर काे यह पानी जिले में आ जाएगा। अभी केवल एलबीसी व एचबीसी मेन नहराें की ही लाइनिंग का काम पूरा हुआ है। उपनहराें का काम धीमी गति से चल रहा है।

लाइनिंग में घटिया निर्माण के चलते कई बार नहर फूटने से गुणवत्ता उजागर हाे चुकी है। ऐसे में पानी की बर्बादी हाेगी। अंतिम छाेर तक पानी पहुंचाने व इसकी एक-एक बूंद काे बचाने के उद्देश्य को पूरा कराने के लिए जिले में 158.44 कराेड़ रुपए लाइनिंग पर खर्च किए जा रहे हैं, वह पूरा हाेता नहीं दिख रहा है।

लाइनिंग का काम नवंबर 2020 तक पूरा हाेना था, लेकिन काेराेना के लॉकडाउन के कारण कारण काम बंद रहा। फिलहाल ठेकेदार काे एक साल का अतिरिक्त समय देने की चर्चा है। टिमरनी मुख्य नहर की लाइनिंग की लागत 85.44 कराेड़ रुपए है। हरदा उप संभाग की मुख्य नहर व उपनहराें की लाइनिंग की लागत करीब 73 कराेड़ रुपए है।

लालमाटी में 29 मई काे मूंग के सीजन में नहर ओवरफ्लाे हाेने से फूट गई थी। इससे आसपास के कई किसानों के खेताें में पानी भरने से मूंग की फसल खराब हाे गई। किसानों के अनुसार करीब 4 लाख रुपए का नुकसान हुआ। विभाग ने सर्वे के बाद यहां करीब 1.75 लाख रुपए का नुकसान पाया। नुकसान की राशि किसानों के खाते में ट्रांसफर हाेना शेष है।

158.44 कराेड़ से हाे रही टिमरनी मुख्य नहर व हरदा उप संभाग के उपनहराें की लाइनिंग

इनकी रहेगी ड्यूटी

सिंचाई नियंत्रण कक्ष के प्रभारी एसडीओ सोनतलाई उपनहर अनुविभाग हरदा वायएस यादव सुबह 6 से 2 बजे तक 9826898760 रहेंगे। टीके दीवान 9399770966, फिटर जगनलाल साहू 9754511861 रहेंगे। दोपहर 2 से रात 10 बजे तक चंद्रशेखर सिसोदिया 7898003419, चौकीदार चंद्रगोपाल ढोके 7389689255 रहेंगे। रात 10 से सुबह 6 बजे तक चौकीदार शफी खान रहेंगे।

सिंचाई नियंत्रण कक्ष बना

कंट्राेल रुम का टेलीफोन नंबर 07577-222065 है। यहां तवा बांयी मुख्य नहर चेन क्रमांक 3008 पर मिलने वाले पानी का रिकाॅर्ड मेंटेन करेंगे। किसानों की शिकायत दर्ज करेंगे। उसी दिन निराकृत कर संबंधित काे सूचना देंगे।

नहराें में कल पानी आ जाएगा

मेन केनाल की लाइनिंग का काम पूरा हाे चुका है। उपनहराें का कुछ अभी बाकी है। नहराें में कल पानी आ जाएगा। इस बार एक पलेवा 3 पानी मिलेगा।

-राकेश दीक्षित, कार्यपालन यंत्री, सिंचाई विभाग हरदा

निर्माण कर आगे बढ़ी ठेका कंपनी, पीछे उखड़ी लाइनिंग

लाइनिंग में गुणवत्ता का अनदेखी जमकर की जा रही है। नतीजा यह हुआ कि ठेकेदार काम करके जैसे ही आगे बढ़ता गया वैसे ही पीछे लाइनिंग भी उखड़ती गई। बीते सीजन में जहां लाइनिंग हुई उन जगहों पर भी पहले ही पानी में सीमेंट पतली परत पानी आने पर उखड़ गई। बीते साल नांदवा, रुंदलाय उप नहराें की लाइनिंग खराब हाे गई। जिससे गुणवत्ता की पाेल खुल गई।

किसान संगठनों व किसानों ने तथा जल उपभोक्ता संस्थाओं ने सीएम व पीएस सिंचाई विभाग से शिकायतें की। इसके बाद ठेकेदार का एलबीसी का करीब 17.42 कराेड़ रुपए पेमेंट राेका गया।

शिकायत : अनुबंध के अनुसार नहीं किया जा रहा निर्माण

किसान नेता दीपचंद नवाद ने मुख्य नहर एचबीसी व एलबीसी की लाइनिंग काे लेकर कुणाल स्ट्रक्चर प्रा.लि. गुजरात की शिकायत की। इसमें बताया कि 29 जुलाई 2016 को ठेका दिया। 28 जनवरी 2019 तक काम पूरा करना था।

उन्होंने नहर की टूटी लाइनिंग सुधारने, कई जगह पुरानी लाइनिंग ताेड़कर नई बनाने व उसकी ऊंचाई बढ़ाने तथा तकनीकी मापदंड अनुसार सीढ़ियां एवं घाट का निर्माण न करने,नहर के किनाराें टॉप लेवल तक मिट्टी का कार्य व नहर बैंकों के आउटर ढलान मेंटेन की मांग काे लेकर शिकायत की थी। यह काम अनुबंध में शामिल थे। काम पूरा न हाेने तक भुगतान राेकने की मांग की थी।​​​​​​​

कहां क्या है स्थिति

टिमरनी : रूंदलाय में नीचे व अजनई में टेल में चल रहा काम

टिमरनी अनुभाग यानि एलबीसी में अजनई, रुंदलाय व हरदा उपनहर आती हैं। अजनई की लंबाई करीब 25.200 किमी, रुंदलाय की 18 व हरदा उपनहर की लंबाई लगभग 21 किमी है। बीते सीजन तक करीब 38 किमी में लाइनिंग हुई थी।

उंद्राकच्छ से नयापुरा तक 55.50 किमी नहर की लाइनिंग होना थी। इसमें से 54 प्रतिशत यानी करीब 38 किमी क्षेत्र की लाइनिंग हो पाई थी। इस सीजन में अजनई उपनहर 3900 से 5500 यानि 1.5 किमी में काम हुआ है। 3-4 दिन में इसे 6300 तक पूर करने का टारगेट है।

हरदा : माचक, खिरकिया, रेवापुर व साेनतलाई का काम 57% हुआ

हरदा डिविजन में 38.25 किमी नहर की लाइनिंग हाेना है। इस पर करीब 73 कराेड़ रुपए खर्च हाेंगे। बीते सीजन में 31 किमी लंबाई में लाइनिंग हाे चुकी थी। नहर बंद हाेने के बाद एचबीसी मुख्य नहर की लाइनिंग पूरी हाे गई। माचक, खिरकिया, रेवापुर व साेनतलाई उपनहर का काम अभी लगभग 57 प्रतिशत हुआ है। जिले में एलबीसी व एचबीसी से जुड़ी उपनहराें की कुल लंबाई करीब 144.26 किमी है। इनकी 75.15 प्रतिशत लाइनिंग हाे गई है। 25 प्रतिशत अभी बाकी है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां पूर्णतः अनुकूल है। सम्मानजनक स्थितियां बनेंगी। आप अपनी किसी कमजोरी पर विजय भी हासिल करने में सक्षम रहेंगे। विद्यार्थियों को कैरियर संबंधी किसी समस्या का समाधान मिलने से ...

और पढ़ें