विरोध:वापस लिया जाए किसान विराेधी कृषि अध्यादेश, डीजल की कीमत कम कर मिले सब्सिडी

कांकरियाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • राष्ट्रीय किसान महासंघ इकाई ने पीएम के नाम ज्ञापन देकर उठाई मांगें

राष्ट्रीय किसान महासंघ इकाई बमनगांव व हिवाला के किसानों के प्रतिनिधि मंडल ने प्रधानमंत्री के नाम खिरकिया एसडीएम कार्यालय में ज्ञापन दिया। इकाई पदाधिकारियाें ने कहा कृषि अध्यादेश अलोकतांत्रिक तरीके से बिना किसान संगठनों की सलाह के लाना गलत है। इससे किसानों के भविष्य व देश की खाद्य सुरक्षा पर गंभीर खतरा है।

एक तरफ केंद्र सरकार 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने का दावा करती है, वहीं डीजल की कीमतों में वृद्धि कर उपज का लागत मूल्य बढ़ा दिया है। इसलिए किसान विरोधी कृषि अध्यादेश को वापस लिया जाए। डीजल की बढ़ी कीमतों को वापस लेकर डीजल पर सब्सिडी दी जाए। 

स्वामीनाथन आयोग के फार्मूले के अनुसार फसलों का एमएसपी दिया जाए। इसके सहित अन्य मांगें रखीं। 15 जुलाई तक मांगें नहीं माने जाने पर आंदोलन तेज किया जाएगा। ज्ञापन देते समय पंकज गुर्जर, गिरधर तिवारी, शीतल गुर्जर, मनीष तिवारी, सौरभ तिवारी, रोशन बघेल अादि माैजूद थे।

खबरें और भी हैं...