पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

MP में वैक्सीनेशन के लिए कहीं भीड़, कहीं ना:शहरों में वैक्सीन लगवाने आए लोग तोड़ रहे गाइडलाइन; गांवों में करनी पड़ रही मनुहार

मध्यप्रदेश4 महीने पहले

मध्यप्रदेश में वैक्सीनेशन को लेकर शहरों में इतना उत्साह है कि लोग गाइडलाइन की भी धज्जियां उड़ा रहे हैँ। भीड़ लगाकर घंटों लाइन में लगे हैं। वहीं ग्रामीण इलाकों में हालात बिल्कुल विपरीत हैं। यहां लोगों से मनुहार करनी पड़ रही है। शनिवार को प्रदेश के चार जगहों पर दैनिक भास्कर ने हाल जाना। यहां होशंगाबाद के इटारसी, गुना जिले के कुंभराज में वैक्सीनेशन सेंटर पर लोगों भी ऐसी भीड़ उमड़ी कि संभालना मुश्किल हो गया। यहां तक कि लोग सोशल डिस्टेंसिंग को भी भूल गए।

इटारसी में टारगेट से दोगुने लोग पहुंचे, ऑन स्पॉट रजिस्ट्रेशन में बिगड़ी व्यवस्था
होशंगाबाद जिले के इटारसी में टीकाकरण केंद्र पर शनिवार को 18 प्लस आयु वर्ग का टीका लगवाने युवाओं का हुजूम लगा। सेंटर पर टारगेट से दोगुनी संख्या में लोग टीका लगवाने पहुंचे। इससे टीकाकरण केंद्र पर सुबह से मेला सा नजारा दिखा। SDM मदन रघुवंशी पहुंचे और 400 टोकन बंटवाएं। जिन्हें टोकन मिले, उनका ऑन स्पॉट रजिस्ट्रेशन कर टीका लगाया गया। साथ ही, भीड़ को देखते हुए SDM ने टीकाकरण के एक दिन पहले रजिस्ट्रेशन कराने के निर्देश दिए।

होशंगाबाद शहर में ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन व स्लॉट बुक करने की प्रक्रिया लागू है। बाकी सभी 8 केंद्र इटारसी, सिवनी मालवा, सुखतवा, डोलरिया, बाबई, सोहागपुर, पिपरिया और बनखेड़ी में केंद्र पर ही ऑन स्पॉट रजिस्ट्रेशन कर टीके लगाए जा रहे। इटारसी के केंद्र पर शनिवार सुबह 6 बजे से ही टीका लगवाने लोग पहुंचने लगे। अगले एक घंटे में 400 और सुबह 8 बजे तक करीब 700 से 800 लोगों की स्कूल गेट के सामने भीड़ जुट गई। प्रशासन ने 400 टोकन बांट उन लोगों को स्कूल परिसर में प्रवेश कराया। जिसके बाद 31 मई सोमवार के लिए 400 लोगों का रजिस्ट्रेशन कराया गया। भीड़ होने से इटारसी शहर व आसपास के गांवों से पहुंचे लोग वापस घर चले गए।

गुना में कुछ ने मास्क नहीं लगाया, सोशल डिस्टेंसिंग भी गायब

गुना शहर के दो केंद्रों सहित जिलेभर में 6 अन्य केंद्रों पर 18+ का वैक्सीनेशन किया जा रहा है। शनिवार को कुम्भराज स्थित टीकाकरण केंद्र पर कोरोना प्रोटोकॉल की धज्जियां उड़ाई गई। कई युवाओं ने तो मास्क तक नहीं लगा रखा था। वहीं, सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन नहीं किया जा रहा था।

शुक्रवार से जिले के 6 केंद्रों पर ऑनसाइट पंजीयन से वैक्सीनेशन शुरू हुआ है। म्याना, बमोरी, कुम्भराज, आरोन, राघोगढ़ और चांचौड़ा में टीकाकरण किया जा रहा है। यहां 31 मई तक हर केंद्र पर वैक्सीन के लिए तय दिनों में 200 टीका लगाने का लक्ष्य रखा गया है। वहीं, जिला मुख्यालय स्थित दो केंद्रों पर अभी भी ऑनलाइन माध्यम से ही 18+ के वैक्सिनेशन के लिए रजिस्ट्रेशन कराए जा रहे हैं।

लोग एक दूसरे से धक्का-मुक्की करते दिखे। इन्हें संभालने और कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करवाने के लिए न तो वहां पुलिस मौजूद थी और न ही स्वास्थ्य विभाग की टीम। सुबह 10 बजे जब केंद्र खुला तब जाकर बमुश्किल टीकाकरण शुरू हो पाया।

गुना जिले में अब तक 18+ के 22682 नागरिक पहला डोज लगवा चुके हैं। वहीं, 1,06,799 नागरिक 45 से ऊपर के हैं, जिन्होंने वैक्सीन लगवा ली है। पहला डोज अब तक 1,29,516 नागरिकों को लगा है और 25,905 नागरिक वैक्सीन का दूसरा डोज भी लगवा चुके हैं। आज की स्थिति में स्वास्थ्य विभाग के पास 5 हजार वैक्सीन उपलब्ध हैं।

बालाघाट में नक्सलियों से नहीं टीके से डर

इसके इतर आदिवासी बाहुल्य बालाघाट जिले के नक्सल प्रभावित क्षेत्र दक्षिण बैहर में 50 से अधिक विशेष पिछड़ी जनजाति बैगा गांव में वैक्सीनेशन के लिए ग्रामीण तैयार नहीं है। यहां अधिकांश आबादी नक्सलवाद के खतरे के बीच ही रहती है लेकिन इन्हें नक्सलियों से कहीं ज्यादा डर कोरोना के वैक्सीन से लगता है।

आदिवासी बाहुल्य दुल्हापुर मुरूम बटरंगा गांव की आबादी में ज्यादातर बैगा परिवार हैं, जो वनों पर निर्भर हैं। परिवार का गुजर-बसर और इनका जीवन जंगल के ही भरोसे चलता है लेकिन इस गांव तक भी कोरोना का संक्रमण पहुंचा है। साथ ही पहुंचा है सरकार का वैक्सीनेशन प्रोग्राम, लेकिन इन आदिवासियों ने अब तक कभी इंजेक्शन नहीं लगवाया। सरकारी स्वास्थ्य सुविधाएं तो यहां नहीं पहुंची, लेकिन कोरोना के टीके को लेकर अफवाह जरूर यहां तक पहुंच गई।

सीएमएचओ डॉक्टर मनोज पांडे ने बताया, विभाग के भरोसे यह काम नहीं होगा। लोगों को ही समझना पड़ेगा कि संक्रमण में कितने लोगों की जान गई है। उससे बचने का सिर्फ एक ही तरीका है टीकाकरण। जिसके लिए लोगों को भी टीका लगवाने के बाद अपने आसपास के लोगों को जागरूक बनाना पड़ेगा।

सागर जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में 12 टीकाकरण केंद्रों और शहर में नौ केंद्रों पर वैक्सीनेशन किया जा रहा है। दूसरा डोज लगवाने के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में अलग केंद्र बनाए गए हैं। सागर में मकरोनिया और पीटीसी ग्राउंड में ड्राइव रन के तहत वैक्सीनेशन किया जा रहा है। टीका लगवाने अलग अलग समय पर लोग पहुंच रहे हैं।

खबरें और भी हैं...