नई सुविधा:शहर के विभिन्न छह प्रमुख स्थानाें पर लगे सीसीटीवी, अभी अन्य जगहाें पर भी जरूरत

खिरकियाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
खिरकिया। नगर के मुख्य चाैराहे पर कैमरा लगाता हुए इंजीनियर। - Dainik Bhaskar
खिरकिया। नगर के मुख्य चाैराहे पर कैमरा लगाता हुए इंजीनियर।
  • छीपाबड़ पुलिस ने तय किए स्थान, नगर परिषद ने लगवाए कैमरे, घटनाएं हाेने पर पुलिस काे मिलेगी मदद

शहर में सीसीटीवी कैमरे लगाए हैं। इसके लिए कुल छह स्थान तय किए हैं। कैमरे लगाने की मांग सालाें से लंबित थी, जाे अब पूरी हुई है। अपराधों की रोकथाम और आपराधिक गतिविधियों पर नकेल कसने के लिए नगर में वर्षों से इस सुविधा की दरकार थी। छीपाबड़ पुलिस एवं नगर परिषद के सामंजस्य से नगर में सार्वजनिक स्थानों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए हैं।

साथ ही इन कैमरे का संचालन भी शुरू कर दिया है। प्रारंभिक ताैर पर छह स्थानों पर यह कैमरे लगाए हैं। आगामी समय में अन्य स्थानों पर भी कैमरे लगाने की योजना है। वर्तमान में सीसीटीवी कैमरेे गांधी चाैक खिरकिया, मुख्य चाैराहा रेलवे गेट, बस स्टैंड खिरकिया, पुरानी गल्ला मंडी चाैक, आंबेडकर चाैक छीपाबड़ एवं महाराणा प्रताप चाैक छीपाबड़ में लगाए हैं।

नगर के यह प्रमुख और सार्वजनिक स्थान हैं, जहां पर भीड़ अधिक रहती है। इसके लिए यहां से कई मार्ग जुड़े हैं। नगर में होने वाली गतिविधियों पर नजर रखी जा सकती है। वर्तमान में दुर्गाेत्सव को लेकर काफी चहल-पहल है। ऐसे में कैमरे लगने से सुरक्षा व्यवस्था में इजाफा हो सकेगा।

वारदात हाेने पर पुलिस काे मिलेगी मदद

कैमरे लगाने को लेकर छीपाबड़ थाना टीआई सुनील यादव ने प्रयास किए। इसके लिए स्थानों का चयन किया। नगर परिषद से सामंजस्य बनाते हुए यह कैमरे नगर में लगाए गए। सीएमओ राजेंद्र श्रीवास्तव ने प्रक्रिया पूर्ण कराते हुए एजेंसी के माध्यम से कैमरे लगवाए। इन कैमरों पर निगरानी के लिए कंट्रोल रूम थाना छीपाबड़ एवं नगर परिषद कार्यालय में बनाया।

सीसीटीवी कैमरे में कैद होने वाली गतिविधियां देखी जा सकेंगी। थाने में सीसीटीवी कैमरे का कंट्रोल रूम होने से पुलिस भी एहतियात के तौर पर थाने में बैठकर नगर की स्थिति को देख सकेगी। कोई भी अप्रिय स्थिति होने पर तत्काल पुलिस उसपर एक्शन ले सकेगी। ऐसे में नगर में दिन दहाड़े वारदातों को अंजाम देने वाले कैमरे की नजर से बच नहीं सकेंगे। बाजार में चोरी, लूटमार सहित अन्य प्रकार की आपराधिक घटनाओं के मंसूबे बनाकर घूमने वाले अपराधियों के लिए अब बचना मुश्किल होगा।

अपराध हाेने पर मदद मिलेगी

नगर में प्रारंभिक ताैर पर 6 स्थानों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए हैं। इनका संचालन शुरू कर दिया है। इससे नगर में गतिविधियों पर निगरानी रखी जा सकेगी। अपराध हाेने पर मदद मिलेगी।
-सुनील यादव, टीआई, थाना छीपाबड़

व्यापारी बोले, सीसीटीवी जरूरी

शहर के प्रमुख व्यापारी कहते हैं पिछले वर्षों में शहर और क्षेत्र में कई वारदात हो चुकी हैं। अपराधियों पर नजर के लिए शहर में सीसीटीवी होने जरूरी हैं। अधिकतर व्यापारियों ने खुद ही सीसीटीवी कैमरे लगवाएं हैं। शहर में अन्य जगह भी कैमरे लगाने की जरूरत है।

विमल रांका, यश काबरा, अनिल दरबार,जयंत अग्रवाल,धीरज गुर्जर, आदित्य तिवारी ने कहा मुख्य मार्ग और चाैराहाें काे छाेड़कर शहर के अंदरूनी, सुनसान क्षेत्राें में कैमरे लगाने की जरूरत है। क्याेंकि आपराधिक गतिविधियाें में लिप्त लाेग सुनसान क्षेत्राें में बैठकर ही अपराध करने की याेजना बनाते हैं। इसलिए पुलिस अाैर नगर परिषद काे पूरे शहर काे कैमराें की जद में लाना चाहिए।

शहर में अन्य स्थानाें पर भी कैमराें की जरूरत

कैमरे वायरलेस हैं, जिससे संचालन आसान है। इन्हें आसानी से लगाया जा सकता है। भीड़ और सूने स्थानों का फायदा उठाने वालाें के मन में भी भय रहेगा। काफी हद तक पुलिस को आपराधिक मामलों में इन कैमराें से मदद मिलेगी। हालांकि नगर में उक्त स्थानों के अलावा और सार्वजनिक स्थान हैं, जहां कैमरे लगाए जाने की आवश्यकता है। इसमें मुख्य मार्ग, खिरकिया-किल्लोद मार्ग, मंडी गेट, स्टेट बैंक के समीप, गांधी चाैक छीपाबड़ सहित अनेक अति व्यस्ततम क्षेत्रों में सीसीटीवी कैमरे लगाने की आवश्यकता है।

खबरें और भी हैं...